Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

आखिरी सिख महाराजा की कहानी है 'द ब्लैक प्रिंस' : सतिंदर सरताज

नई दिल्ली, 24 जुलाई : पंजाब के आखिरी महाराजा दलीप सिंह की जिंदगी के उतार-चढ़ावों को बयां करती फिल्म 'द ब्लैक प्रिंस' से अभिनय क्षेत्र में कदम रखने वाले गायक सतिंदर सरताज अपनी इस शुरुआत को लेकर बेहद उत्साहित हैं. सरताज अभिनय क्षेत्र में कदम रखते ही हॉलीवुड फिल्म, अंतर्राष्ट्रीय निर्देशक और शबाना आजमी जैसी दिग्गज अदाकारा का साथ मिलने को ईश्वर की कृपा मानते हैं.

सतिंदर ने कहा कि वह गायन और अभिनय का बखूबी आनंद उठाते हैं, लेकिन अभिनय की तुलना में गायिकी उनके लिए ज्यादा आसान है.

'द ब्लैक प्रिंस' एक ऐतिहासिक ड्रामा है, जिसमें गायकी से अभिनय की दुनिया में प्रवेश करने वाले सतिंदर सरताज ने दलीप सिंह की भूमिका निभाई है और जानीमानी अभिनेत्री शबाना आजमी दलीप सिंह की मां जींद के किरदार में हैं.

इस फिल्म को बनाने के उद्देश्य के बारे में पूछे जाने पर सरताज ने आईएएनएस को बताया, "पहली बात है कि बहुत कम लोग ही महाराजा दलीप सिंह के बारे में जानते हैं. यह फिल्म लोगों का दलीप सिंह से करीब से जानने का मौका देगी. यह फिल्म सिख साम्राज्य के आखिरी महाराजा की कहानी है, जिन्हें पांच साल की उम्र में अपनी मां से जुदा कर इंग्लैंड ले जाया जाता है. वहां की संस्कृति में डूबने के बाद कैसे वह अपने कौम और वतन में वापसी करते हैं, यह फिल्म में देखने को मिलेगा."

शबाना के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा, यह पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "शबाना जी को गंभीर अभिनेत्री व शख्सियत समझा जाता है, लेकिन लोगों ने उनकी नर्मदिली नहीं देखी है. मैंने शूटिंग के सेट पर शबाना जी से बहुत कुछ सीखा. मैं जब किसी दृश्य को करने में असहज महसूस करता था, तो वह मेरी मदद करती थीं. मैंने महसूस किया कि इतनी बड़ी शख्सियत होने के बावजूद उनका व्यवहार बहुत ही सरल है. हमने सेट पर शूटिंग का बहुत आनंद उठाया."

'द ब्लैक प्रिंस' 21 जुलाई को अंग्रेजी, हिंदी और पंजाबी में रिलीज हुई है. इसका निर्देशन भारतीय मूल के ब्रिटिश फिल्मकार कवि राज ने किया है.

दलीप सिंह के किरदार के लिए आपका चयन कैसे हुआ? इस सवाल पर उन्होंने कहा, "मेरा व्यक्तित्व दलीप सिंह से मेल खाता है, इसीलिए मुझे इस किरदार के लिए चुना गया. मुझसे निर्माता-निर्देशक ने कहा कि आपकी शक्ल-सूरत, कद-काठी, रंग और आंखें, सबकुछ दलीप सिंह की तरह हैं, इसलिए हम आपको इस किरदार की पेशकश कर रहे हैं. यह सुनकर मैंने तुरंत हामी भर दी. मैंने हालांकि इसके लिए कड़ी मेहनत भी की. मैंने किरदार में ढलने के लिए अभिनय सीखा और अंग्रेजी की कोचिंग भी ली. आखिरकार सबकुछ काफी खूबसूरती से हुआ."

गायिकी से अभिनय की तरफ कैसे आना हुआ जनाब? जवाब में उन्होंने कहा, "यह एक इत्तेफाक था कि मेरा व्यक्तित्व दलीप सिंह से मिलता था और इसीलिए मुझे यह अहम किरदार निभाने का ऑफर मिला. कह सकते हैं कि अभिनय के क्षेत्र में मेरा आना भी एक इत्तेफाक है. इस फिल्म का हिस्सा बना, इसके लिए मैं ईश्वर का शुक्रगुजार हूं."

उन्होंने आगे कहा, "इस फिल्म का निर्माण लॉस एंजेलिस की फिल्म कंपनी ब्रिल्स एंटरटेंमेंट पाटनर्स ने किया है, जो किसी भी कलाकार के लिए बहुत बड़ा मौका है. मैं बहुत खुश हूं कि मैंने अपनी पहली फिल्म में ही बड़ी शख्सियतों के साथ काम किया."

पंजाबी गायक सरताज दुनियाभर में अपने शो कर चुके हैं। अपनी पहली फिल्म 'द ब्लैक प्रिंस' में सरताज ने अभिनय के साथ ही गीत भी गाए हैं.

सरताज से जब पूछा गया कि गायिकी और अभिनय में अधिक चुनौतपूर्ण क्या लगा, तो उन्होंने कहा, "जाहिर तौर पर मुझे गाना ज्यादा आसान लगता है, क्यूंकि यह काम मैं तब से कर रहा हूं, जब मैं कक्षा तीन में था। मुझे गायन के क्षेत्र में बहुत साल बीत चुके हैं, जबकि अभिनय मैंने अभी शुरू ही किया है. अपनी पहली फिल्म में मैंने अभिनय का भी बहुत आनंद उठाया."

Share
loading...