Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

युवा बेस्ड फिल्म है "द रैली" (सुनें फिल्म के एक्टर और एक्ट्रेस मिर्जा, अर्शीन को...)

 

Anita Tanvi, News Wing

 

Ranchi, 5 September: हिमालय रैली पर आधारित फिल्म “द रैली” आठ सितंबर को रीलिज होने वाली है. फिल्म की कहानी युवा बेस्ड है, जिसमें मुख्य एक्ट्रेस की भूमिका अर्शीन ने जबकि मुख्य एक्टर की भूमिका मिर्जा ने निभायी है. इन दोनों की ही यह पहली फिल्म है. अपने फिल्म के प्रमोशन के लिए रांची पहुंची “द रैली” की टीम ने इस फिल्म के बारे में कई महत्वपूर्ण जानकारी दी, साथ ही अर्शीन और मिर्जा ने फिल्म के साथ-साथ खुद के बारे में भी कुछ खास बातें बतायीं. सुने फिल्म के मुख्य किरदार की बातें खुद उनकी ही जबानी.

अर्शीन आपकी यह पहली फिल्म है. आप फिल्म की दुनिया में आने के लिए किससे इंस्पायर हुईं ?

अर्शीन कहती हैं मेरी फेवरेट एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित है. वह कहती हैं मैं उनकी एक्टिंग और डांस देखते हुए ही बड़ी हुई हूं. माधुरी के अलावा काजोल भी मेरी फेवरेट हिरोइनों में शामिल है जबकि फेवरेट एक्टर शाहरूख खान हैं.

 

“द रैली” में एक्टिंग करने का अवसर कैसे मिला ?

“ द रैली” मेरी पहली मूवी है. फिल्म के डायरेक्टर दीपक सर ने मुझे एक एड में देखा. हालांकि एज ए क्वालिफिकेशन और प्रोफेशन की दृष्टि से देखें तो मैं एक चार्टेड अकाउंटेंट हूं.

फैमिली में से कोई फिल्मी दुनिया में……

अर्शीन कहती हैं कि उनकी फैमली में से कोई भी एक्टिंग के फील्ड में नहीं हैं लेकिन वह यह भी कहती हैं कि चार्टड एकाउंटेड उनकी फील्ड नहीं थी. वह कुछ बड़ा करना चाहती थी. वह कहती हैं कि मुझे खुद को एक बड़े स्क्रीन पर देखना था और इसी वजह से मैं मॉडलिंग की तरफ मुड़़ी. मैंने डांस भी सीखा और फाइनली द रैली में मुझे मुख्य भूमिका निभाने का अवसर मिला.

अपनी फिल्म के बारे में कुछ बताना चाहेंगी?

 हमारी फिल्म “द रैली” 8 सितंबर को रीलिज होगी. आप सब यह मूवी देखें क्योंकि यह एक आम फिल्म नहीं है, जिसमें सिर्फ लव स्टोरी, ड्रामा होती है यह पूरी तरह से एक युवा बेस्ड फिल्म है, जिसे आप अपनी पूरी फैमिली के साथ मिल कर एंज्वाय कर सकते हैं.

मिर्जा फिल्म में एक्टिंग करने का ख्याल कैसे आया ?

 रैली के एक्टर मिर्जा कहते हैं कि मेरा फिल्म में आना अचानक नहीं है. यह मेरा बचपन का सपना था हालांकि कैसे क्या करना है, कैसे आगे बढ़ना है, यह सब मुझे नहीं मालूम था लेकिन अंदर एक जज्बा जरूर था.

फैमिली में से कोई या फिल्मी दुनिया में कोई खास पहचान वाला …..

मेरी फैमिली में से कोई एक्टिंग की दुनिया में नहीं लेकिन फिर भी मुझे यही करना था. बचपन में यह प्रश्न पूछे जाने पर कि आपको क्या बनना है कोई बच्चा कहता है डॉक्टर, तो कोई कहता है इंजीनियर लेकिन जब मुझसे यह प्रश्न किया जाता तो मेरा सिर्फ एक ही जवाब होता था कि मुझे एक्टर बनना है. एक फिल्म में हीरो बनना है.

फिल्मों में आने की कोई प्लानिंग थी ?

एक्टिंग में कैसे आना है, क्या करना है, आगे का सफर कैसा होगा कुछ भी नहीं मालूम था लेकिन फिर भी मुझे यही करना था. यहां पहचान नहीं होने के कारण बहुत मुश्किल हुआ लेकिन आखिरकार सफलता मिली.

द रैली के किरदार के रूप में एक्टिंग करने का अनुभव कैसा रहा ?

फाइनली जब यह रोल मुझे मिला, तो एक्टिंग के दौरान हर दिन मेरे लिए एक नया दिन था और एक नया एक्सपीरियेंश मुझे मिला. टफ था लेकिन टीम का पूरा सहयोग मिला.

क्या कुछ खास बताती है फिल्म “द रैली” ?

इसके जवाब में एक्टर मिर्जा कहते हैं फिल्म बताती है कि यदि आपको किसी चीज की चाह है, तो उस पर पूरी तरह से फोकस करना बहुत जरूरी है. आजकल युवा बहुत डिसट्रेक्ट हो गये हैं. आज हमारे पास कंप्यूटर मोबाइल, इंटरनेट आ गये हैं, ऐसे में अपने आप को अपने एम पर फोकस किये रखना आसान नहीं है. ये सभी चीजें युवा को डिस्ट्रेक्ट करती हैं लेकिन “द रैली” यह बताती है कि यदि आपको कोई मुकाम पाना है. आप कुछ अलग करने की इच्छा रखते हैं, तो चाहे कुछ भी हो मंजिल मिलने तक उसपर फोकस बनाये रखना बहुत जरूरी है. 

 

यह भी पढ़ें: हिमालयन कार रैली पर आधारित दुनिया की पहली फिल्म है "द रैली"

Share
loading...