Skip to content Skip to navigation

Add new comment

अब भ्रष्टाचार मिटाने के लिए गीत

मुम्बई, 28 दिसम्बर | सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे के प्रभावी लोकपाल विधेयक की मांग को लेकर चल रहे अनशन से इतर भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए एक नये गीत की रचना की गई है। अन्ना मुम्बई के एमएमआरडीए मैदान में अनशन कर रहे हैं। इस मैदान से कुछ ही दूरी पर एक स्टूडियो में आने वाली फिल्म का भ्रष्टाचार विरोधी गीत रिकॉर्ड किया गया है।

इस गीत को फैज अनवर ने लिखा है और राजेंद्र शिव ने इसकी धुन बनाई है। अभिनेता अमिताभ दयाल व गायक जोजो व जावेद अली ने 'धुआं' फिल्म के इस गीत को मंगलवार को रिकॉर्ड किया।

दयाल ने बताया, "जब हमें स्वतंत्रता मिली तो एक राष्ट्र के रूप में हम सभी के कुछ सपने थे लेकिन वे सपने पूरे नहीं हुए। हमने इसके स्थान पर देखा कि प्रत्येक भारतीय आज हर कदम पर भ्रष्टाचार से लड़ रहा है।"

उन्होंने कहा कि राष्ट्र को जागरूक होने की आवश्यकता है। उन्होंने अन्ना के अनशन का हवाला देते हुए कहा, "अब जो कुछ हो रहा है, हमारा गीत भी उसी को समर्पित है।"

गीत के बोल 'जैसा अब है पहले कब था, ये हिंदुस्तान यारों, रिश्वत के बाजार में बैठे, कुछ बेईमान यारों, अपने देश के हालात बदलो, जागो होश में आओ.' हैं।

मृणालिनी दयाल ने इसका निर्देशन किया है। 'धुआं' में दयाल, राज बब्बर, रति अग्निहोत्री, पद्मिनी कोल्हापुरी व विक्रम गोखले ने अभिनय किया है। (आईएएनएस)

Share
loading...