Skip to content Skip to navigation

Add new comment

गुरुग्राम छात्र हत्‍या मामला: संजय ने कहा डरावना वक्त, पिता के तौर पर लाचार महसूस करता हूं'

News Wing

Mumbai, 12September: तीन बच्चों के पिता संजय का कहना है कि मौजूदा समय माता-पिता के लिए डरावना है जो किसी न किसी वजह से अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर हमेशा चिंतित रहते हैं. 

बाहर का माहौल सही नहीं 

नशे की लत से जूझने वाले, जेल की सजा काटने वाले और निजी जिंदगी में काफी उतार-चढ़ाव का सामना करने वाले अभिनेता संजय दत्त का कहना है उन्होंने अपने अनुभवों से काफी सबक सीखे हैं और उनकी बेगुनाही बरकरार है. इयान इंटरनेशनल स्कूल में 7 साल के प्रदुम्न के साथ हुए हादसे को लेकर उन्होंने कहा, "एक पिता के रूप में वह हमेशा अपने बच्चों को समझाते हैं कि वे अपना काम करके घर लौट आएं, क्योंकि बाहर का माहौल सही नहीं है." पिछले साल जेल से रिहा होने के बाद वह फिल्म 'भूमि' से अपनी वापसी कर रहे हैं. 

नशे की लत में फंस अपने निजी जीवन को संकट में डाल लिया था संजय दत्त ने

फिल्म 'रॉकी' (1981) से बॉलीवुड में शानदार आगाज करने वाले संजय दत्त ने नशे की लत में पड़कर अपने निजी जीवन को संकट में डाल लिया था और हालात तब और बिगड़ गए जब अवैध रूप से हथियार रखने के आरोप में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और वह दोषी करार दिए गए थे. 

यह भी देखें: गुरुग्राम छात्र हत्‍या मामला: पुलिस ने कहा सबूत मिटाने की कोशिश की गई

जीवन से मैंने बहुत कुछ सीखा: संजय दत्त

संजय से पूछा गया कि जीवन का हर अनुभव कुछ सिखाता है, उन्होंने अपने जीवन के उन खराब दिनों से क्या सीखा है? इस पर संजय ने कहा, "बहुत कुछ..मैंने बहुत कुछ सीखा. मैं उस वक्त बेगुनाह था, मैं अभी भी बेगुनाह हूं, लेकिन जीवन से कुछ सबक सीखा है." 

अवैध रूप से हथियार रखने के आरोप में गिरफ्तार हुए थे संजु बाबा

संजय, 1993 में मुंबई में हुए सिलसिलेवार धमाकों के मामले में अवैध रूप से हथियार रखने के आरोप में गिरफ्तार हुए, जिसमें 250 से ज्यादा लोग मारे गए थे और सैकड़ों घायल हुए थे. 

Lead
Share
Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us