Skip to content Skip to navigation

अंधविश्वास, अास्था या विज्ञान : एक एेसा पोखर, जिसमें स्नान करने से दूर होता है हर रोग

NEWS WING Sahebganj, 28 August : साहिबगंज जिला मुख्यालय से लगभग 70 किमी दुर स्थीत बरहेट प्रखंड के आदिवासी बाहुल कुंडली गांव मे एक ऐसा पोखर है. जहां स्नान मात्र से ही उसे किसी भी रोग से मुक्ति मिल जाती है. ऐसा कुंडली गांव के लोगो व पोखर के पुरोहित का मानना है. आपको बता दे कि कुंडली गांव बरहेट प्रखंड से 10 किमी दूर पहाड़ के उपर स्थित है.

गांव में है अाधर दर्जन पोखर

इस गांव में आधा दर्जन पोखर है. सभी पोखर मे मछली पालने का काम किया जाता है. लेकिन कुंडली पोखर मे मछली पालन नही होता है. क्योंकि पोखर के पानी मे बीमारी से लड़ने वाली रसायन कि मात्रा मौजुद है. पोखर के पुरोहित व पोखर मे स्नान करने से ठीक हुए रोगी दावा करते हैं.

बिहार, अोड़िसा के पश्चिम बंगाल के लोग अाते हैं

इस पोखर में स्नान करने सालो भर दूर-दराज के लोग अाते रहते हैं. यहां तक कि पश्चिम बंगाल बिहार, अोड़िसा समेत अन्य राज्यों से भी लोग पोखर मे स्नान करने आते हैं व अपनी बीमारी से मुक्ति पाते हैं. पोखर मे स्नान करने से जोंडिस (पीलिया), ब्रेन मलेरिया, टायफाईड, लकवा व केंसर जैसे रोग से मुक्ति मिल जाने का लोग दावा करते हैं. पोखर मे रोगी जब स्नान करने उतरते हैं, तो पोखर के पुरोहित मंत्र उचारण करते हैं. जिससे रोगी के शरीर मे कंपन पैदा होने लगती है.

50-60 साल से है मान्यता

स्थानीय लोगों ने बताया कि करीब 50 से 60 वर्ष से इस पोखर मे स्नान करने लोग अा रहे हैं. लोग इस पोखर के पानी की जांच करने की मांग भी जिला प्रशासन व सरकार से करते हैं. 

लोगों अास्था से जुड़ा है पोखर ः डा. एमएम सिंह

जब न्यूज विंग ने साहिबगंज सदर अस्पताल के चिकित्सक डा एमएम सिंह ने इस पोखर को लेकर बात की तो उन्होंने इसे अंधविश्वास बताया. उन्होंने कहा कि यह पोखर लोगो कि आस्था जुड़ा हुआ है. इसलिए इस पर ज्यादा कुछ नहीं कहा जा सकता. 

 

Lead
Share

NATIONAL

News Wing

Etanagar, 22 September: मीडिया बिरादरी के लोगों ने त्रिपुरा के पत्रकार शांतनु भौ...

UTTAR PRADESH

News Wing Shahjahanpur, 22 September: समाजसेवी ने बलात्कार के दोषी बाबा राम रहीम की राजदार हनीप्रीत...
Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us