Skip to content Skip to navigation

रांचीः गुजारा भत्ता के लिए महिला लगा रही गुहार, नहीं मिल रही कोई मदद (देखें वीडियो)

NEWSWING

Ranchi, 07 December : राज्य सरकार एक ओर महिला सशक्तिकरण की बात करती है, वहीं एक महिला इंसाफ के लिए थाने का चक्कर लगाने में दिन बिता रही है. पीड़ित महिला सीमा देवी (बदला हुआ नाम) को इंसाफ के बदले महिला थाना काउंसलिंग कर मामले को रफा-दफा करने में लगा हुआ है. लगभग डेढ़ वर्ष से इस मामले का काउंसलिंग किया जा रहा है. जिसमें कई बार महिला के पति उपस्थित नहीं होते हैं. मामले को लेकर महिला अपने पति के उपर एफआईआर कराना चाहती है.

क्या है मामला

पीड़ित महिला ने बताया कि 2007 से ही रंजीत राय के साथ रह रही थी. शुरुआत के कुछ दिन पुंदाग में एक किराये के मकान में रंजीत के साथ रहती थी. उसके बाद एदलहातु स्थित देवी मंडप रोड में किराये के मकान में रहने लगी. 2009 में दुर्गा उरांव से जमीन एग्रीमेंट कराकर दो कमरे का मकान बनाया, जिसमें 2016 तक रही. महिला ने रंजीत से कई बार शादी करने को कहा पर वह उसे शादी का आश्वासन देकर टालता रहा. शादी की बात को लेकर दोनो के बीच कई बार विवाद भी हुआ. महिला को घर से भाहर भगा दिया जाता था. महिला ने बताया कि साथ रहने के क्रम में उसने रंजीत के दो ब्च्चों को जन्म दिया. जिसमें एक लड़का और एक लड़की है. पीड़िता बताती हैं कि उनकी बेटी को रंजीत राय ने अपने साथ रखा हुआ है.

रंजीत ने कहा नहीं जानते फुलमणि कौन है

इस मामले को लेकर जब रंजीत राय से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि किसी फुलमणि  देवी को नहीं जानते. जब जानते ही नहीं तो किस चीज का पक्ष रखे. कुछ देर बात मिलकर बात करने की बात कही गई.

कोर्ट  से न्याय की आस 

वहीं संबंधित थाना से संपर्क करने पर बताया गया कि महिला काउंसलिंग के दौरान गुजारा भत्ता की मांग करती है जो कोर्ट से ही संभव है. महिला किसी कारण से कोर्ट जाने से परहेज करती है. अगर महिला कहेगी तो मामले को कोर्ट भेजा जायेगा. जहां से गुजारा भत्ता मिल सकता.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Lead
City List: 
Share

Add new comment

loading...