Skip to content Skip to navigation

रांची: 22वीं अखिल भारतीय मूक- बधिर प्रतियोगिता में नहीं है कोई इंतजाम, खिलाड़ियों को खाने से लेकर सोने तक की है समस्या

NEWS WING

RANCHI,1 DECEMBER : राजधानी में 1 से 6 दिसंबर तक आयोजित 22वीं अखिल भारतीय मूक बधिर प्रतियोगिता में कई राज्यों के खिलाड़ी पंहुचे हैं. लेकिन स्टेशन से होटवार स्थित मेगा स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स कैसे आना है इस बात की जानकारी खिलाड़ियों को नहीं थी, जिससे उन्हें काफी परेशानी हुई. इसके अलावा स्टेशन पर खिलाड़ियों को रिसीव करने के लिए आयोजन समिति की ओर से कोई मौजूद नहीं था. जिससे खिलाड़ियों को काफी परेशानी हुई और काफी मशक्कत के बाद खिलाड़ी खेलगांव पहुंचे.        

फर्श पर सोने को मजबूर खिलाड़ी

वहीं खेल गांव पहुंचे खिलाड़ियों को फाफी परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है.वहीं न्यूज विंग संवाददाता मनीष झा ने कोच के अलावा खिलाड़ियों से पूछा कि यहां क्या परेशानियां हो रही हैं तो  उन्होंने बताया कि यहां पीने के साथ ही नहाने तक के पानी की काफी समस्या है. साथ ही बताया कि  खाने के नाम पर सिर्फ सूखा चावल और पानी जैसी दाल दी जा रही थीऔर वो भी कुछ ही देर  खत्म हो गयी. जबकि खिलाड़ियों की लाइन बहुत लंबी है. वहीं कोच का कहना था कि मूक – बधीर बच्चे इतनी ठंड में फर्श पर सोने को मजबूर हैं और यहां की व्यवस्था नहीं की गयी है.   

जब इस बारे में आयोजक जाहिद से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हमने अक्टूबर महीने में खेल विभाग से लेकर मंत्री तक को आवेदन दिया कि कम से कम 20 प्रतिशत ही भुगतान किया जाये. लेकिन इस आयोजन के लिए कुछ नहीं मिल पाया. जिससे खिलाड़ियों को काफी परेशानी हो रही है.  

खाने-पीने से लेकर नहाने तक की है समस्या - कोच

खिलाड़ियों की समस्या पर हरियाणा के कोच विजय शर्मा ने कहा कि सुबह के चार बजे स्टेशन पहुंचने के बाद से ही हमें यहां समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मेगा होटवार स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स पहुंचने के बाद यहां ना तो बाथरूम में पानी था और ना ही पीने के लिए. साथ ही उन्होंने कहा कि खाने की भी यहां पर काफी समस्या है और खिलाड़ियों के लिए कोई व्यवस्था नहीं है.  

पानी की है भारी समस्या - खिलाड़ी

मणिपुर के खिलाड़ी जाबिर हुसैन ने बताया कि पानी की ऐसी समस्या कभी नहीं देखी है. जाबिर ने लिख कर बताया कि नहाने के 2 घंटे तक पानी का इंचजार मैंने किया, लेकिन पानी उपलब्ध नहीं हुआ.

वहीं आयोजक जाहिद अनवर के सहयोगी ने बताया कि पैसों की कमी से व्यवस्था करने में परेशानी आ रही है. जिससे मूक- बधिर बच्चों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. साथ ही जाहिद ने बताया कि खेल विभाग से लेकर मंत्री और मुख्यमंत्री तक आवेदन दिया गया. लेकिन किसी भी तरह का पैसा निर्गत नहीं किया गया. साथ ही कहा कि 10 लाख का 20 प्रतिशत भी इस आयोजन के लिए नहीं मिला. खेल निदेशक रणेंद्र कुमार ने इस बारे में कहा की फिलहाल वे छुट्टी पर हैं इसलिए इसकी जानकारी अभी नहीं दे सकता.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Top Story
City List: 
Share

Add new comment

loading...