Skip to content Skip to navigation

झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेताओं में हिम्मत है तो बूढ़ा पहाड़ पर एक रात गुजारें : भाजपा

NEWS WING

Ranchi, 07 December :  अपनी जान जोखिम में डालकर  पुलिस और प्रशासन झारखंड से नक्सल को खत्म करने में जुटा हुआ है. उसी क्रम में पुलिस के जवान और अधिकारी बुढा पहाड़ और दूसरे दुर्गम जगहों पर तैनात हैं. जिससे झारखंड की जनता सुरक्षित महसूस करती है. ऐसे में विपक्ष गलत बयान देकर पुलिस प्रशासन का मनोबल गिराने का काम कर रहा है. आखिर ऐसी कौन सी मजबूरी है झामुमो जिससे नक्सलियों के प्रति उनका प्रेम इतना बढ़ गया है. इन बातों को भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता दीनदयाल बर्णवाल ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर मीडिया के सामने रखी. वो हेमंत सोरेन के उस बयान पर पलटवार कर रहे थे जिसमें उन्होंने कहा था कि पुलिस और प्रशासन को जब भी मन करता है बुढ़ा पहाड़ पर पिकनिक मनाने चले जाते हैं.

यह भी पढ़ें : कौन लेता है जेएमएम के बड़े फैसले, आखिर किसके कब्जे में हैं कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन?

विपक्ष मानसिक दिवालियापन का शिकार

श्री बर्णवाल ने कहा कि जहां  एक तरफ रघुवर सरकार नक्सलियों का सफाया कर राज्य को सुदृढ़ बनाने में लगा हुई है. हर खेत को पानी और हर हाथ को काम के लिए सरकार 24 घंटा लगी हुई है. ऐसे में विपक्ष के कटाक्ष बयान मानसिक दिवालियापन को दर्शाता है. बर्णवाल ने हेमंत सोरेन के उस बयान जिसमें उन्होंने योजना बनाओ को मूर्ख बनाओ अभियान करार दिया था पर कहाः जिस पार्टी के नेताओं  ने जन्म से ही झारखंड को मूर्ख बनाने का काम किया, झारखंड को बदनाम करने का काम किया, उन्हें हर काम मूर्ख जैसा ही लगना स्वाभाविक है . कहाः जनता रघुवर दास के बजट पूर्व कार्यक्रमों को हाथों-हाथ ले रही है. जनता बेहद खुश नजर आ रही है. जनता की योजनाओं को सरकार धरातल पर लाने का काम कर रही है, जिससे  विपक्ष घबरा  गया है.

यह भी पढ़ें : बकोरिया कांड: मृतक के परिजन को 20 लाख देकर केस मैनेज करने की कोशिश

झारखंड में विकास बोलेगा और विपक्ष भागेगा

भाजपा चर्चा से भाग रही है विपक्ष के इस बयान पर श्री बर्णवाल ने कहा कि तीन वर्षों से सदन से लगातार विपक्ष भागता रहा है. सरकार वार्ता करने के लिए हर वक्त तैयार रहती है. सदन में चर्चा करने के लिए तैयारी के साथ सदन में आती है. लेकिन, विपक्ष तीन वर्षों से लगातार सदन छोड़ कर भाग रहा है. विपक्ष को हिम्मत है तो सदन में चर्चा करे. सदन को उपयोग करे. लेकिन उनके इतिहास को देखते  हुए ऐसा लगता है कि फिर सदन से वाकआउट करने वाली है. इसीलिए अभी से ही विरोध की भूमिका बना  रही है. 

Top Story
City List: 
Share

Add new comment

loading...