Skip to content Skip to navigation

बोकारो स्टील प्लांट के मजदूरों का नहीं हो सका है वेज रिवीजन, अन्य सुविधाएं भी सेल ने कीं बंद

News wing

Bokaro 07 December :
बोकारो स्टील प्लांट(सेल) में काम करने वाले 11 हजार कर्मियों को जनवरी 2017 से वेज रिवीजन का लाभ मिलना था. इस मामले को लेकर अब तक एनजेसीएस(नेशनल ज्वाइंट कमिटी फोर स्टील) के सदस्य भी कभी गंभीर नहीं हुई. जिस कारण मजदूरों में आक्रोश देखा जा रहा है. मजदूरों के हितैषी बनने वाले मजदूर यूनियन के नेता ने भी कभी इसकी पहल नहीं करते नजर आए.

वेज रिवीजन के साथ अन्य सुविधा में हो रही है कटौती

इस्पातकर्मियों का वेज रिवीजन तो लटक कर रह ही गया है. इसके साथ ही उन्हें जो अन्य सुविधायें मिलती थीं उसमें भी सेल की ओर से कटौती की जा रही है. पहले मजदूरों को लिव इंसेटिव मिलता था, वह बंद कर दिया गया. घर बनाने के लिये मजदूरों को हाउस लोन भी मिलता था, सेल ने उसे भी बंद कर दिया है. मजदूरों की समस्याओं को प्रबंधन तक पहुंचने और उसे दिलाने का काम एनजेसीएस के सदस्य सेंट्रल यूनियन नेताओं की है, पर इस पर उनका कोई ध्यान नहीं है.

यह भी पढ़ें: बोकारो स्टील प्लांट में ड्यूटी के दौरान एक कर्मी की मौत, हंगामे के बाद प्रबंधन ने किया नौकरी देने का वादा

प्लांट में हर काम हो रहा है ठेका प्रथा से

मजदूर यूनियन इस्पात मजदूर मोर्चा के संगठन सचिव आरके गोराई ने बताया कि प्लांट में हर काम ठेका मजदूरों से स्टील प्लांट प्रबंधन की ओर से कराया जा रहा है. इसलिए स्थायी मजदूरों की सुविधा में कटौती हो रही है. हर तरह का काम अनट्रेंड ठेका मजदूर कर रहे हैं. प्रबंधन का काम चल ही रहा है इसलिये मजदूरों पर किसी का ध्यान नहीं है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Lead
City List: 
Share

Add new comment

loading...