Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

राहुल को पसंद है लालू का साथ, बिहार कांग्रेस में फेरबदल के आसार

News Wing

Patna, 8 September: बिहार कांग्रेस में फूट की खबरों के बीच दो दिनों तक कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने विधायकों के साथ बैठक कर बिहार के वर्तमान राजनीतिक हालात पर चर्चा की. इसके बाद राहुल ने इशारों-इशारों में संकेत दे दिया है कि उन्हें लालू का साथ पसंद है. अब बिहार कांग्रेस में कई फेरबदल होंगे. बिहार कांग्रेस के नए अध्यक्ष के नाम की घोषणा जल्द की जाएगी. राहुल गांधी ने विधायकों के साथ बैठक के दौरान कई बार कहा कि अशोक चौधरी उनके विश्वासपात्र रहे हैं लेकिन उन्हें इस बात का दुख है कि पार्टी के विधायकों को तोड़ने में उनकी भूमिका रही है.



सीपी जोशी को भी विवाद का फायदा मिलना मुश्किल

बैठक से दूर रहे अशोक चौधरी ने सीपी जोशी को पूरे विवाद के लिए ज़िम्मेदार ठहराया. पूर्व में भी जब एक बार पार्टी अध्यक्ष अनिल शर्मा और तत्कालीन प्रभारी जगदीश टाइटलर के बीच विवाद हुआ था, तब दोनों को हटाया गया था. इसलिए यह कहा नहीं जा सकता कि सीपी जोशी को इस विवाद का फायदा मिल सकेगा. राहुल का लालू विरोध इस आधार पर ख़त्म होता दिख रहा हैं क्योंकि उन्होंने कई विधायकों से उनके साथ जाने का नफ़ा नुक़सान पर खुलकर बात की. पहले पार्टी नेता और राहुल लालू के विषय पर बार करने से बचते थे. जिस लालू के मुद्दे पर राहुल ने अपनी ही सरकार का अध्यादेश फाड़ा था, वही राहुल भाजपा के ख़िलाफ़ संघर्ष में लालू यादव का साथ नहीं छोड़ना चाहते. राहुल गांधी हो या लालू यादव सबको मालूम है कि अगर उन्होंने एक बार साफ़ कर दिया कि अब सफ़र साथ-साथ करना हैं तब पार्टी के विधायकों को जदयू जाने से रोकना मुश्किल होगा.

नीतीश को विधायकों का, लालू को गठबंधन का लाभ

राहुल और बिहार कांग्रेस के राजद के साथ तालमेल के समर्थक विधायकों को इस सच्चाई का अंदाज़ा है कि राज्य में चुनाव में वर्तमान यादव-मुस्लिम वोट बैंक से नीतीश के नेतृत्व वाली गठबंधन का मुक़ाबला आसान नहीं होगा. भ्रष्टाचार के मुद्दे पर स्टैंड लेकर जिस राहुल गांधी ने अपनी अलग छवि बनाई थी उन पर और राजनीतिक हमले होंगे. पार्टी के नेता मानते हैं आख़िर कांग्रेस पार्टी के उठापटक में नीतीश को विधायकों का लाभ और लालू को गठबंधन का लाभ होगा.

 

Top Story
Share
loading...