Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

बेबस‌ ‌प‌िता को र‌िक्शे में लादकर ले जाना पड़ा बेटी का शव

News Wing

Uttar Pradesh, 1September: उत्तर प्रदेश में गुरुवार को एक बार फिर राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर सरकार की पोल खुल गई. यहां हमीरपुर जिले में एक बाप इतना बेबस हो गया कि उसे अपनी बेटी का  शव रिक्शे में लादकर ले जाना पड़ा. वहीं प्रशासन आंखों पर पट्टी बांधकर उदासीन बना रहा. 

र‌िक्शे में लादकर ले जाना पड़ा बेटी का शव

हमीरपुर के मौदहा में पोस्टमार्टम के ‌ल‌िए बेबस‌ ‌प‌िता बेटी की लाश को ‌र‌िक्शे पर ढोता नजर आया तो देखनों वालों की आंखों से आंसू निकल पड़े. अस्पताल ने शव को पोस्टमार्टम हाउस ले जाने के ल‌िए एंबुलेंस मुहैया नहीं करायी.इस पर लड़की के प‌िता ने मजबूरी में रिक्शे में बेटी का शव लादा और अस्पताल से चल दिया. कोतवाली मौदहा के दुरदहा गांव के शिवसरन यादव अपनी बेटी सोना का शव रिक्शे से पोस्टमार्टम हाउस से ले गया.

 

किसी ने नहीं की मदद

शिवशरन ने बताया कि उन्हें यह नहीं पता था कि अस्पताल से वाहन मिलता है. ‌क‌िसी ने भी इस बारे में उसे कोई जानकारी नहीं दी. ‌क‌‌िसी भी स्वास्थ्य अ‌ध‌िकारी और कर्मचारी ने उसकी कोई भी मदद नही की. उसने सिर्फ यही कहा कि बेटी का शव ले चलना है. ऐसे में उनके सामने कोई रास्ता नहीं था.इसलिए उन्होंने रिक्शा बुलाया था.

 

Share
loading...