Skip to content Skip to navigation

अमेरिका में आया 50 साल का सबसे भयानक तूफान

News Wing

Washington, 10September: अमेरिका में 209 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की तेज हवाओं के साथ फ्लोरिडा राज्य की ओर बढ़ रहा इरमा चार श्रेणी के तूफान में तब्दील हो गया है और हजारों भारतीय-अमेरिकियों समेत लाखों लोग तूफान के लिए तैयार हो रहे हैं.

वर्ष 2010 की जनगणना के अनुसार, फ्लोरिडा में भारतीय मूल के अमेरिकी लोगों की आबादी करीब 120,000 है जिनमें से हजारों लोग मियामी, फोर्ट लोरा डील और टम्पा में रहते हैं जो तूफान के लिहाज से खतरनाक हैं.

60 भारतीय नागरिकों को निकाला जा रहा है

इस बीच, कैरिबियाई द्वीप सेंट मार्टिन से करीब 60 भारतीय नागरिकों को निकाला जा रहा है. इरमा ने इस द्वीप पर काफी तबाही मचाई है. ज्यादातर भारतीय नागरिकों के पास अमेरिका का अस्थायी छोटी अवधि का ट्रांजिट वीजा है. जिन लोगों के पास ट्रांजिट वीजा नहीं है उनके लिए यहां भारतीय दूतावास विदेश मंत्रालय और होमलैंड सुरक्षा विभाग के साथ मिलकर उन्हें वीजा उपलब्ध कराने पर काम कर रहा है ताकि उन्हें विमान से अमेरिका भेजा जा सकें और वहां से वह स्वदेश लौट सकें.

मियामी और टम्पा में पसरा सन्नाटा  

मिडिया के मुताबिक, अमेरिका की राष्ट्रीय मौसम सेवा ने बताया कि इस खतरनाक तूफान के स्थानीय समयानुसार सुबह करीब सात बजे अमेरिकी भूभाग पहुंचने की आशंका है. इससे फ्लोरिडा में आज बारिश हुई. इरमा के नजदीक पहुंचने के साथ ही 127 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने लगी है.घरों को छोड़ने के आदेश के बाद लोगों के सुरक्षित स्थानों पर जाने से मियामी और टम्पा में सन्नाटा पसरा रहा.

भारतीय दूतावास ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर 

भारतीय दूतावास ने चौबीसों घंटे के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है और वरिष्ठ राजनयिकों को अटलांटा में फंसे भारतीय-अमेरिकी लोगों के लिए राहत अभियानों की देखरेख के लिए वहां भेजा है.

द इंडियन फ्रेंड्स ऑफ अटलांटा ने भारत के महावाणिज्य दूतावास, गुजरात समाज अटलांटा और हिंदू टेम्पल ऑफ अटलांटा के साथ तीन शिविरों को चलाने की घोषणा की है.

वे और अधिक शिविर खोलने और रहने तथा खाने-पीने की व्यवस्था करने की तैयारी कर रहे हैं. कई भारतीय कारोबारियों ने राहत प्रयासों में मदद देनी शुरू की है. अधिकारियों ने बताया कि अमेरिका में भारतीय राजदूत नवतेज सरना स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए हैं. न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्यदूत संदीप चक्रवर्ती अटलांटा में स्थापित चौबीसों घंटे काम करने वाले नियंत्रण कक्ष के जरिए स्थिति की निगरानी कर रहे हैं.

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने  राहत कार्य तेज करने के लिए कहा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मैरीलैंड के कैम्प डेविड में अपने कैबिनेट के सहयोगियों के साथ तैयारी की समीक्षा की. उन्होंने संघीय एजेंसियों से राज्यों और स्थानीय प्रशासन की मदद जारी रखने तथा तूफान से प्रभावित इलाकों में राहत कार्य तेज करने के लिए कहा है.

7,400 से ज्यादा सैनिकों और यूएस आर्मी कोर्प ऑफ इंजीनियर्स तैनात

ट्रंप ने कहा, ‘‘यह तूफान बड़े स्तर पर विनाशकारी है और मैं तूफान के रास्ते में आने वाले हर व्यक्ति से सरकारी अधिकारियों के सभी निर्देशों का पालन करने के लिए कहता हूं.’’ फ्लोरिडा के गवर्नर रिक स्कॉट ने लोगों से जल्द से जल्द खतरे वाले स्थानों को छोड़ने के लिए कहा है. उन्होंने कहा, ‘‘राज्य ने कभी ऐसा कुछ नहीं देखा. तूफान की आक्रामकता आपको मार सकती है.’’ अमेरिकी सेना ने अमेरिका के वर्जिन द्वीपों, प्यूर्तो रिको और महाद्वीपीय अमेरिका में अभी तक 7,400 से ज्यादा सैनिकों और यूएस आर्मी कोर्प ऑफ इंजीनियर्स तैनात किए हैं.

पेंटागन ने बताया कि सेना के पास अतिरिक्त संसाधन के तौर पर 140 से ज्यादा विमान, 650 ट्रक और 150 नौकाएं तैयार हैं.

एक्यूवेदर ने चेतावनी दी कि इरमा से प्रचंड हवाएं चल सकती है, बाढ़ और बारिश आ सकती है.

रयान रेनॉल्ड्स पीड़ितों की मदद के लिए आये 

हॉलीवुड स्टार रयान रेनॉल्ड्स ने तूफान इरमा के पीड़ितों की मदद के लिए अपनी फिल्म ‘‘डेडपूल 2’’ से छुट्टी ली है. रेनॉल्ड्स ने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर साझा की है जिसमें वह एक टी-शर्ट पहने हुए है जिस पर लिखा है, ‘‘उम्मीद, हालात बेहतर होना, स्थिति बहाल होना.’’ उन्होंने तस्वीर के कैप्शन में लिखा, ‘‘चलिए हार्वे और इरमा तूफान से प्रभावित लोगों की मदद करें. इस आकर्षक टी-शर्ट के साथ अमेरिकी की आपातकालीन टीम के अद्भुत जमीनी प्रयासों को समर्थन.’’                        

Share

UTTAR PRADESH

News WingGajipur, 21 October : उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में मोटरसाइकिल पर आए हमलावरों ने राष्ट्रीय स्...
News Wing Uttar Pradesh, 20 October: धनारी थानाक्षेत्र में पुलिस के साथ मुठभेड़ में एक इनामी बदमाश औ...
Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us