khas khabar

इधर लोगों को भीषण गर्मी से बचने के उपाय बता रहे मुख्यमंत्री, उधर ट्रैफिक पुलिस को खरीद कर पीना पड़  रहा पानी

Submitted by NEWSWING on Fri, 05/11/2018 - 16:46

Ranchi : रांची में पारा चढ़ने के साथ शहर की यातायात व्यवस्था में तैनात पुलिस जवानों की परेशानी भी बढ़ गई है. चिलचिलाती धूप और गर्मी में चौक-चौराहों पर ड्यूटी करना इन जवानों के लिए असहनीय होता जा रहा है. हालांकि राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास स्वंय लोगों को भीषण गर्मी एवं लू से बचने के उपाय बता रहे हैं, जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण फिरायलाल चौक पर लगा सरकारी विज्ञापन है.

सैंकड़ों किसानों का भाग्य बदलने वाले तनय चक्रवर्ती के काम को अक्षय कुमार ने सराहा, झारखंड के किसानों को देंगे दो दिन

Submitted by NEWSWING on Thu, 05/10/2018 - 17:59

Ranchi : झारखंड में अपनी स्वंयसेवी संस्था नीड के जरिए सैकड़ों किसानों को लखपति बना चुके तनय चक्रवर्ती इन दिनों फिर चर्चा में हैं. वजह है बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार को झारखंड के किसानों के विकास कार्यों से जोड़ने एवं किसानों के मुद्दे पर अक्षय कुमार द्वारा फिल्म बनाने को लेकर.

आदिवासी इलाकों में पत्थलगड़ी आंदोलन की जड़ें

Submitted by NEWSWING on Sat, 05/05/2018 - 12:20
पत्थलगड़ी ने डरा दिया है. राजसत्ता, संघ परिवार (भाजपा-आरएसएस), मीडिया, ठेकेदार और बाहरी दिकुओं को. आदिवासी कह रहे हैं कि अनुमति लेकर हमारे गांवों में घुसना है. ठीक उसी तरह जिस तरह से गांवों से तब्दील किये गये शहरों में बने काॅपरेटिव काॅलोनी, अपार्टमेंट और सरकारी दफ्तरों में हमलोग पहरेदारों से अनुमति लेकर प्रवेश करते हैं. उन्होंने अपने-अपने गांवों के सामने पत्थरों से बनाये गये शिलापटों में अपना संदेश स्पष्ट लिख दिया है भारतीय संविधान का संदर्भ देकर. उनके पास संविधान की मोटी पुस्तक भी है. क्या इसे असंवैधानिक कहा जा सकता है ? राजसत्ता, संघ परिवार और मीडिया तो ऐसे ही कह रहे हैं. देश के कोने-कोने से लोग यह ढ़ूढ़ने के लिए आ रहे है कि क्यों आदिवासियों ने दिकुओं के लिए गांवों में प्रवेश निषेध लगा रखा है. यह देखना दिलचस्प है कि जिन दिकुओं का आदिवासी गांवों में प्रवेश वर्जित है वे अब जंगल का अस्तित्व खत्म करने वाले कुल्हाड़ी में लगे लकड़ी के बेंत की तरह पढ़े-खिले आदिवासियों का सहारा लेकर इन गांवों में प्रवेश कर रहे हैं और आदिवासियों से सवाल पूछ रहे हैं. आदिवासियों से पूछे गये सवालों में सबसे अहम सवाल यह है कि पत्थलगड़ी की जड़ें कहां हैं ? 

उंगली दिखाते नहीं, हाथ जोड़ते नजर आयेंगे सुदेश महतो

Submitted by NEWSWING on Fri, 05/04/2018 - 17:22

Ranchi : आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो यह समझ गये हैं कि अंगुली उठाना हिन्‍दी मुहावरा का मतलतब क्‍या होता है. इसलिए अब सिल्‍ली उपचुनाव में सुदेश हाथ जोड़ते नजर आयेंगे. जी हां आजसू ने सिल्‍ली उपचुनाव के लिए सुदेश महतो के प्रचार-प्रसार के लिए जो पोस्‍टर तैयार करा रहा है, उसमें वह जनता को हाथ जोड़ते हुए नजर आ रहे हैं.

10 लाख का सालाना पैकेज छोड़ रिशु प्रिया ने पास की UPSC की परीक्षा, मिला 446वां रैंक

Submitted by NEWSWING on Thu, 05/03/2018 - 18:28

Ranchi : सपनों को परवाज यूं ही नहीं मिलते, इसके लिए जीतोड़ मेहनत के साथ त्याग, लगन और ऊंचे मनोबल की जरूरत होती है. रांची की एक होनहार बेटी रिशु  प्रिया को यूपीएससी के दूसरे प्रयास में ही सफलता मिली है. उन्हें 446वां  रैंक मिला है.