विंटर ओलंपिक : जापानी स्पीड स्केटर केइ सेइतो डोपिंग में फंसे, कहा- खुद को पाक साफ साबित करूंगा

Submitted by NEWSWING on Tue, 02/13/2018 - 15:11

Pyongchang : जापान के शार्ट ट्रैक स्पीड स्केटर केइ सेइतो प्रतिबंधित दवाओं के सेवन के दोषी पाए गए हैं जो प्योंगचांग ओलंपिक में डोपिंग का पहला मामला है. 21 बरस के सेइतो प्रतिस्पर्धा से बाहर डोप टेस्ट में नाकाम रहे. डोपिंग निरोधक एजेंसी ने एक बयान में यह जानकारी दी. उन्हें प्रतिबंधित डायूरेटिक एसेटालोजामाइड के सेवन का दोषी पाया गया.

2013 तथा 2014 विश्व जूनियर चैम्पियनशिप में तीसरे स्थान पर रहे थे सेइतो

सीएएस ने एक बयान में कहा कि सेइतो खुद खेलगांव से चले गए हैं और पूरी जांच होने तक ओलंपिक से बाहर रहेंगे. वह जापान की 3000 मीटर रिले टीम का हिस्सा थे और 2013 तथा 2014 विश्व जूनियर चैम्पियनशिप में तीसरे स्थान पर रहे थे. प्योंगचांग शीतकालीन ओलंपिक में डोप टेस्ट में नाकाम रहे जापान के शार्ट ट्रैक स्पीड स्केटर केइ सेइतो ने खुद को बेकसूर साबित करने का प्रण लिया.

इसे भी पढ़ें: झारखंड चारा घोटाला : पहले टेंडर निकालने में विभाग ने की नियमों की अनदेखी, मीडिया में खबर आने के बाद दिया एफआईआर का आदेश, कंपनी से मांगा स्पष्टीकरण 

29 जनवरी को खेलों से पहले हुए डोप टेस्ट में मिली थी क्लीन चिट

जापान का यह 21 वर्षीय खिलाड़ी शीतकालीन खेलों में डोप टेस्ट में नाकाम रहा अपने देश का पहला खिलाड़ी है. उसे तुरंत खेलगांव से बाहर कर दिया गया. इससे 2020 तोक्यो ओलंपिक के मेजबान जापान की काफी किरकिरी हुई है. सेइतो ने कहा कि मैं खुद को बेकसूर साबित करके रहूंगा क्योंकि मुझे याद नहीं पड़ता कि मैंने कोई ऐसी दवा ली है. 29 जनवरी को खेलों से पहले हुए डोप टेस्ट में उसे क्लीन चिट मिली थी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

loading...
Loading...

NEWSWING VIDEO PLAYLIST (YOUTUBE VIDEO CHANNEL)