बीजेपी में मेयर और डिप्टी मेयर के नामों पर राय-शुमारी तेज, डिप्टी मेयर के लिए ठेकेदार और व्यवसायी कर रहे हैं सबसे ज्यादा दावा

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 02/14/2018 - 14:53

Akshay Kumar Jha

Ranchi: फरवरी में नगर निगम के मेयर और डिप्टी मेयर का कार्यकाल खत्म होने जा रहा है. निर्वाचन आयोग की तरफ से सूबे में आरक्षित और अनारक्षित सीटों का ऐलान भी हो चुका है. ऐसे में राज्य की सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी राजधानी रांची में अपने उम्मीदवारों को उतारने की तैयारी में लगी हुई है. मेयर और डिप्टी मेयर के लिए बीजेपी का टिकट लेने के लिए उम्मीदवार हर तरह का हथकंडा अपना रहे हैं. कोई पार्टी में अपनी ईमानदारी और भूमिका का हवाला दे रहा है, तो कोई कुछ और. महानगर मंडल, स्थानीय और आस-पास के विधायक, सांसद और महानगर अध्यक्ष सभी आपस में नामों पर लगातार चर्चा कर रहे हैं. एक तरह से कहा जा रहा है कि नामों पर राय शुमारी लगभग हो चुकी है. नामों को अब आगे भेजने की तैयारी है, जहां चुनाव प्रबंधन समिति नामों पर अपनी मुहर लगायेगी.

इसे भी पढ़ें - डीजीपी के गले में सांप : क्या वन विभाग डीजीपी डीके पांडेय पर केस कर जेल भेजेगा, मेनका गांधी लेंगी संज्ञान !

मेयर की सीट के लिए जिन नामों की है चर्चा

रांची में मेयर की सीट एसटी उम्मीदवारों के लिए आरक्षित है. इसलिए मेयर की सीट के लिए ज्यादा माथा पच्ची नहीं हो रही है. कुछ ही नाम है, जिनकी चर्चा हो रही है. जिन नामों की चर्चा हो रही है, उनमें पूर्व डीआईजी शीतल उरांव का नाम सबसे आगे चल रहा है. वैसे वर्तमान मेयर आशा लकड़ा भी टिकट के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रही हैं. इनके अलावा अनु लकड़ा और ननकु तिर्की के नाम की भी चर्चा खूब हो रही है. बीजेपी के पदाधिकारियों के बीच इन नामों की चर्चा रोज हो रही है. बताया जा रहा है कि इन्हीं नामों को अब आगे भेजने की तैयारी है. नाम पर अंतिम मुहर चुनाव प्रबंधन समिति की तरफ से लगेगी.

इसे भी पढ़ें - जिस बीजेपी ने चारा घोटाले का पर्दाफाश किया था, अब उसी की सत्ता में रहते झारखंड में भी हो गया चारा घोटाला   

डिप्टी मेयर के लिए दबंग लगा रहे हैं पूरी ताकत

रांची में डिप्टी मेयर की सीट अनारक्षित है. इसलिए डिप्टी मेयर के टिकट के लिए खूब जोड़ आजमाइश हो रही है. हर नेता टिकट के लिए अपना दावा पेश कर रहा है, लेकिन देखा जा रहा है कि उन्हीं नामों की चर्चा ज्यादा हो रही है, जो ठेकेदार, बिल्डर या फिर बड़े व्यवसायी हैं. वैसे कुछ नाम ऐसे भी हैं जो अपने संघ और एबीवीपी के रिश्तों के दम पर टिकट के लिए दावा पेश कर रहे हैं. डिप्टी मेयर की सीट के लिए जिन नामों की चर्चा हो रही है, उनमें सुबोध कुमार गुड्डू जो पेशे से बिल्डर हैं, शिव कुमार शर्मा कॉन्ट्रैक्टर हैं, संजय जायसवाल कॉन्ट्रैक्टर, रमेश सिंह बिल्डर, वर्तमान डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय इनका काम हाल के दिनों में एक स्थानीय अखबार में खूब छपा है. डॉ. राजीव शाहदेव पार्टी में युवा मोर्चा में सक्रिय सदस्य हैं. एबीवीपी में लंबे समय तक जिला एवं प्रदेश स्तरीय छात्र नेता रहे हैं. दीनदयाल बर्णवाल बड़े व्यवसायी हैं और प्रतुल शाहदेव शहर के जाने-माने शख्सियत हैं. रांची में पार्क संचालन का टेंडर लेते हैं और पार्टी के प्रखर प्रवक्ता भी हैं.

इसे भी पढ़ें - हैकिंग (Hacking), हैकर्स (Hackers), एथिकल हैकिंग (Ethical Hacking) क्या है, इसे जानिए

संघ के आदर्शों को क्या टिकट देने में माना जाएगा

वैसे तो कहा जाता है कि बीजेपी में चुनाव लड़ने के लिए उन्हीं को टिकट दिया जाता है, जिनका रिश्ता संघ से अच्छा होता है फिर एबीवीपी से खासा जुड़ाव रहा हो. ये भी माना जाता रहा है कि बीजेपी में उनको जरूर तरजीह मिलती है, जो पार्टी में अच्छा-खासा अनुभव रखते हैं. पार्टी से लंबे समय से जुड़े रहते हैं. लेकिन इस बार रांची निगम के लिए जो चुनावी समीकरण तैयार हो रहा है, उससे कुछ भी कहना बहरहाल जल्दबाजी होगी. देखना दिलचस्प होगा कि पार्टी किसे अपना टिकट देती है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Main Top Slide
City List of Jharkhand
loading...
Loading...

NEWSWING VIDEO PLAYLIST (YOUTUBE VIDEO CHANNEL)