अवैध वसूली मामले में इंफोर्समेंट ऑफिसर पर हुई कार्रवाई, तीनों से सभी शक्तियां ली जायेंगी वापस

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 01/20/2018 - 21:05

Ranchi : होटल राजस्थान कलेवालय प्रकरण में रांची नगर निगम के नगर आयुक्त शांतनु अग्रहरि ने तीनों इंफोर्समेंट ऑफिसर से इंफोर्समेंट सेल की सभी शक्तियों को वापस लेने का आदेश दिया है. उन्होंने इंफोर्समेंट सेल से कहा कि इस स्टेटस के तहत मुकेश कुमार, दीपक कुमार और धीरज कुमार को दिए गए दो स्टार और वर्दी भी वापस लें. यह निर्णय राजस्थान कलेवालय से अवैध वसूली के मामले में तीनों ऑफिसर की ओर से दिए गए स्पष्टीकरण के बाद लिया गया है. नगर आयुक्त ने कहा कि ये तीनों नगर निगम में जिस पद पर पहले थे उसी पर फिर से पदस्थापित होंगे. इसके बाद तीनों दोषी कर्मी अगले 3 महीने के लिए प्रोबेशन में रहेंगे तथा वार्ड सुपरवाइजर के स्तर पर कार्य करेंगे. गौरतलब है कि इस मामले में होटल के सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच की गयी थी, जिसके बाद इंफोर्समेंट ऑफिसर से इस संबंध में स्पष्टीकरण की मांग की गई थी.

इसे भी पढ़ें : इंफोर्समेंट टीम की मनमानी और जबरदस्ती से तंग हैं रांची के दुकानदार

इंफोर्समेंट ऑफिसर का स्पष्टीकरण

इंफोर्समेंट ऑफिसर ने स्पष्टीकरण में कहा कि उस समय उनके पास रसीद उपलब्ध नहीं थीजिसके कारण बाद में रसीद काट कर दी गई थी. वहीं निगम का कहना है कि इस संबंध में राजस्थान कलेवालय के मालिक से जांच के दौरान लिखित आवेदन की मांग की गई थीपरंतु शनिवार की संध्या तक उनके द्वारा किसी भी प्रकार की कोई लिखित शिकायत या आवेदन प्राप्त नहीं हो सका. जिसके बाद यह निर्णय लिया गया.

क्या था मामला

नगर निगम के इंफोर्समेंट अफसरों का दल 16 जनवरी को दिन के 10.30 बजे होटल राजस्स्थान कलेवालय में पॉलिथीन जांच के लिए पहुंचा था. जांच में होटल में दस बंडल कैरीबैग पाया गये थे. आरोप है कि नगर निगम की टीम ने पॉलिथीन के नाम पर दुकानदार से छह हजार रुपये वसूल लिये. लेकिन दुकानदार को उसकी रसीद नहीं दी. जब दुकानदार ने इसकी शिकायत चेंबर के अधिकारियों से कीतो दिन के ढाई बजे नगर निगम के इंफोर्समेंट अफसर वापस दुकान में आये. इस दौरान उन्होंने होटल संचालक को छह हजार रुपये की रसीद सौंप दी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.