जब 1968 में लद्दाख, सिक्किम, भूटान और नेपाल में छह बार उड़न तश्तरी आकाश में मंडरायी

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 03/22/2018 - 15:46

Nw desk :  अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने पृथ्वी जैसे सात नये ग्रह ढूंढने का दावा किया हैइन ग्रह में से तीन पर जीवन की संभावनाओं से इनकार नहीं किया जा सकता है. नासा ने ट्वी़ट कर इस बारे में जानकारी दी है. इससे पहले कई बार यूएफओ (Unidentified flying object) मिलने के दावे किये जा चुके हैं. कुछ समय पहले सार्वजनिक की गयी अमेरिका की खुफिया एजेंसी सीआईए की रिपोर्ट में दावा किया गया था कि अप्रैल 1968  में लद्दाख, सिक्किम, भूटान और नेपाल में उन दिनों छह बार यूएफओ (उड़न तश्तरी) दिखाई दे चुका हैं. रिपोर्ट्स के अनुसार साउथ लद्दाख, नॉर्थ-ईस्ट नेपालनॉर्थ सिक्किम और वेस्टर्न भूटान के ऊपर छह बार चमकदार ऑब्जेक्ट्स देखे गये थे, जिसमें लाइट जलती और बुझती थी. इसका बेस 6 फीट और हाइट 4 फीट था. सीआइए के अनुसार लद्दाख में चार मार्च व 25 मार्च 1968 को तथा सिक्किम में एक फरवरी को उड़न तश्तरी दिखाई दी थी. 

इसे भी पढ़ें: क्या सूर्य से निकलने वाली उर्जा धरती का विनाश करेगी? नासा कर रहा है शोध 

जैसलमेर के आसमान में दिखाई दी थी उड़न तश्तरी

कुछ समय पूर्व राजस्थान के बॉर्डर पर देर रात  उड़न तश्तरी जैसी कोई चीज़ दिखने का दावा किया गया था. यह तश्तरी राजस्थान के जैसलमेर में स्थित पाकिस्तान इंटरनेशनल बॉर्डर इलाके के आस-पास दिखाई दी थी. स्थानीय लोगों की मानें तो वह चीज़ करीब दो घंटे तक हवा में उड़ती रहीजिसमें से लगातार तेज रोशनी आ रही थी. 2014 में लखनऊ में  भी यूएफओ भी देखे जाने की अजीब घटना सामने आयी थी. खगोलशास्त्री पहली नजर में इसे यूएफओ मान रहे थे. हालांकि सरकारी तौर पर ऐसी कोई रिपोर्ट सामने नहीं आयी थीलेकिन इन दिनों पृथ्वी के अलावा दूसरे ग्रहों पर भी जीवन की संभावनाओं पर चर्चाएं हो रही हैं. ऐसे में यूएफओ का देखा जाना लखनऊ में चर्चा का विषय बना हुआ था. पिछले वर्ष भोपाल में 23 मार्च को एक छोटी बच्ची को आसमान में कोई चमकीली वस्तु दिखाई दी थी. जिसके बाद यह अनुमान लगाये गये थे कि वह चमकीली उड़ने वाली वस्तु यूएफओ ही है.

hjghjghjghjhjhj

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

loading...
Loading...