वार्ड नंबर तीन में सप्लाई वाटर महज नाम का, सीवरेज की वजह से सड़कों पर चलना मुश्किल

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 03/14/2018 - 12:14

Ranchi : वार्ड नंबर तीन के एदलहातू और सिंदवार टोला में लोग पीने के पानी के लिए तरस रहे हैं. इन्हें अपनी जरुरत का पानी दो से तीन किलोमिटर दूर से लाना पड़ता है. इनकी यह समास्या कई सालों से हैं. लोगों का कहना है कि इसी वार्ड से रांची की मेयर आशा लकड़ा भी आती हैं, लेकिन फिर भी समास्याओं का हल नहीं हो रहा है.. लोग फरियाद और अनुरोध कर अब थक चुके हैं.  कहते हैं कि इस बार के चुनाव में सभी समास्याओं के हल के बाद ही वोट डालेंगे.

इसे भी पढ़ें- ट्विटर पर प्रधानमंत्री मोदी के 2 करोड़ 44 लाख फॉलोअर्स फर्जी, ट्विटर ऑडिट के जरिये खुलासा

पानी और सड़क से है स्थानीय लोग परेशान

वार्ड नंबर तीन के एदलहातू के रहने वाले लोगों का कहना है कि यहां पानी की बड़ी समास्या है. यहां ना ही बोरिंग वाटर का कोई साधन है और ना ही निगम का पानी टैंकर आता है. सार्वजानिक शौचालय भी इस इलाकें में कहीं नहीं बना हुआ है. अजीत कुमार ने कहा कि यहां स्पलाई वाटर की पाइप तो बिछी हुई है, पर पानी 15 दिनों में एक बार ही आता है और वह भी रात के 12 बजे आता है. पार्षद को इस समस्या से अवगत कराया जा चुका है, फिर भी निदान के लिये अभी तक कुछ भी नहीं किया है. जगह-जगह कोड़ी हुई सड़कों पर मो. जान अंसारी कहते हैं कि बरसात में अगर सड़क नहीं बनी, तो लोगों का चलना मुश्किल हो जायेगा. क्योंकि उख्खड़-खाबड़ सड़कों पर चलना अभी ही मुश्किल हो रहा है. सुजीत कुमार और मो इरफान का कहना है कि सिवरेज बिछाने के बहाने अच्छी-खासी सड़कों को बर्बाद कर दिया गया है. वहीं अब कहते हैं कि इसे बनाने में एक साल लग जायेगा. सिंदवार टोला निवासी सुरेंद्र मुंडा कहते हैं कि हमलोगों को दो किलोमीटर दूर से पानी लाना पड़ता है. इस बार का चुनाव में वोट तभी डालेंगे, जब इन समास्याओं का हल होगा.

इसे भी पढ़ें- खूंटी : ग्रामीणों का आरोप- स्‍कूल में स्थित कैंप के जवान करते हैं महिलाओं से छेड़छाड़, कैंप हटाने की ग्राम सभा ने दी नोटिस (देखें वीडियो)

इसे भी पढ़ें- झारखंड सरकारी कर्मचारियों को सांतवा वेतनमान के भत्ते पर कैबिनेट की मुहर, राज्य निर्वाचन आयोग की हरी झंडी के बाद मिलेगा लाभ

पार्षद का पक्ष

वार्ड तीन की पार्षद बसंती देवी ने कहा कि सड़क की समास्या सीवरेज की वजह से हो रही है. उन्होंने कहा कि जिस कंपनी ने जिम्मा लिया है उसका कहना है कि एक साल में काम पुरा कर लिया जायेगा. नगर विकास मंत्री ने सीवरेज का काम कर रही कंपनी को छह माह का अतिरिक्त समय भी दिया था. लेकिन फिर भी दो साल के बाद भी कंपनी काम पूरा नहीं कर पायी है. कंपनी ने पूरी सड़क को जगह-जगह कोड़ कर छोड़ दिया है. वहीं पार्षद ने पानी की समस्या पर कहा कि इस मुद्दे को बोर्ड की बैठक में भी उठाया गया था. पीएचडी विभाग से लेकर विभागीय मंत्री तक इस बात की पहल कर चुकी हूं. मोरहाबादी में एकमात्र जलमीनार है जिससे चीरौंदी, मोरहाबादी, एदलहातू और नीचे बस्ती तक जलापूर्ति होती है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इसपर मेयर और नगर आयुक्त को पत्र लिखकर दे चुकी हूं लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो पायी है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

top story (position)
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप

बॉडी गार्ड की चाहत में जिप अध्यक्ष ने खुद पर करवायी फायरिंग, पकड़े गए अपराधियों ने किया खुलासा

गोड्डा मॉब लिंचिंग : सांसद निशिकांत ने कहा प्रशासन ने सही किया या गलत पता नहीं, लेकिन केस लड़ने के लिए आरोपियों की करेंगे मदद

समय पर बिजली बिल नहीं मिला तो लगेगा 420 वोल्ट का झटका, जेबीवीएनएल को नहीं कोई फिकर

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन पर मानवाधिकार परिषद लेगी फैसला : यूएन 

शुजात बुखारी को उनके पैतृक गांव में दफनाया गया, जनाजा में बड़ी संख्या में उमड़ी थी भीड़