हिंसक हुआ पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव, 5 की मौत-41 घायल, बैलेट बॉक्स भी फूंका

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 05/14/2018 - 13:49

Kolkata: पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के लिए सोमवार को वोट डाले जा रहे है. लेकिन वोटिंग को लेकर किए गये सुरक्षा दावों की पोल खुलती दिख रही है. सूबे में कई इलाकों में हिंसक घटनाओं की खबर है. इसमें 5 लोगों के मौत की खबर है, जबकि 41 लोग घायल बताये जा रहे हैं. कई इलाकों से बम धमाके, मारपीट, मतदान पेटी जलाने, बैलेट पेपर फेंकने और फायरिंग जैसी हिंसक घटनाओं की खबरें आ रही हैं.

इसे भी पढ़ेंः पश्चिम बंगालः भारी सुरक्षा के बीच पंचायत चुनाव के लिए वोटिंग जारी, आसनसोल में बमबाजी

चुनाव के दौरान हिंसा में 5 की मौत

DFGRFH

बंगाल में पंचायत चुनाव के दौरान हुई हिंसा में अब तक कुल 5 लोगों की मौत हो गई है. दक्षिण 24 परगना जिले में 3, मुर्शिदाबाद में 1 और उत्तर 24 परगना जिले में 1 व्यक्ति की मौत हुई है. मरने वालों में 3 सीपीएम कार्यकर्ता, 1 टीएमसी और 1 बीजेपी कार्यकर्ता शामिल है. आरोप है कि हिंसा में अलग-अलग पार्टी के कार्यकर्ता एक दूसरे को निशाना बना रहे हैं. वही बड़ी संख्या में लोग घायल बताए जा रहे हैं. इसके अलावा मुर्शिदाबाद में टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं में झड़प के बाद बैलेट पेपर तालाब में बहा दिए गए. वही कुछ जगहों पर बैलेट बॉक्स में आग लगाने की भी खबर है. 24 परगना जिले के कुलताली इलाके में एक टीएमसी कार्यकर्ता की  गोली मारकर हत्या कर दी गई. जिसके बाद इलाके में हालात तनावपूर्ण हो गए हैं. वही 24 परगना जिले के साधनपुर में देसी बम फटने से 20 लोगों के घायल होने की खबर है.

मंत्री ने बीजेपी समर्थक को मारा चाटा
कूचबिहार जिले में उत्तर बंगाल विकास मंत्री रबींद्रनाथ घोष ने एक मतदान केंद्र के बाहर एक व्यक्ति को कथित तौर पर चांटा मारा. बताया जा रहा है कि जिस शख्स को मंत्री घोष ने चाटा मारा वो बीजेपी समर्थक था. आयोग ने कहा कि उसे इसकी शिकायत मिली है और अधिकारियों से कार्रवाई करने के लिए कहा गया है. टेलीविजन चैनलों ने दिखाया कि मंत्री ने व्यक्ति को कथित तौर पर थप्पड़ मारा. हालांकि घोष ने दावा किया कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया. बताया जा रहा है कि घोष बूथ पर वोट डालने नहीं गए थे क्योंकि वह उस इलाके के निवासी भी नहीं हैं. ऐसे में उनकी वहां मौजूदगी और एक व्यक्ति को मारने को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं. 


इसे भी पढ़ेंःआफत की आंधीः कई राज्यों में तूफान ने मचाई तबाही, 42 लोगों की मौत-आज भी अलर्ट जारी

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में 621 जिला परिषदों , 6157 पंचायत समितियों और 31827 ग्राम पंचायतों में चुनाव हो रहे हैं. चुनाव के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं और असम, ओडिशा, सिक्किम और आंध्र प्रदेश से लगभग 1,500 सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है. इस बार पंचायत चुनाव में राज्य निर्वाचन आयोग, राज्य सरकार, सत्तारूढ़ टीएमसी और विपक्षी बीजेपी, कांग्रेस तथा वाम मोर्चे के बीच एक अभूतपूर्व कानूनी लड़ाई देखने को मिली. यहां तक की मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंचा गया.
न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

16 अधिकारियों का तबादला, अनिश गुप्ता बने रांची के एसएसपी, कुलदीप द्विवेदी गए चाईबासा

नोटबंदी के दौरान अमित शाह के बैंक ने देश भर के तमाम जिला सहकारी बैंक के मुकाबले सबसे ज्यादा प्रतिबंधित नोट एकत्र किए: आरटीआई जवाब

एसपी जया राय ने रंजीत मंडल से कहा था – तुम्हें बच्चे की कसम, बदल दो बयान, कह दो महिला सिपाही पिंकी है चोर

बीजेपी पर बरसे यशवंतः कश्मीर मुद्दे से सांप्रदायिकता फैलायेगी भाजपा, वोटों का होगा धुव्रीकरण

अमरनाथ यात्रा पर फिदायीन हमले का खतरा, NSG कमांडो होंगे तैनात

डीबीटी की सोशल ऑडिट रिपोर्ट जारी, नगड़ी में 38 में से 36 ग्राम सभाओं ने डीबीटी को नकारा

इंजीनियर साहब! बताइये शिवलिंग तोड़ रहा कांके डैम साइड की पक्की सड़क या आपके ‘पाप’ से फट रही है धरती

देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद रामो बिरुवा की मौत

मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी वो मेरे रामः जशोदाबेन

दुनिया को 'रोग से निरोग' की राह दिखा रहा योग: मोदी