ब्रह्मांड में नयी दुनिया का पता लगाना है तो इस्तेमाल कीजिये गूगल का आर्टिफिशयल इंटेलीजेंस

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 03/12/2018 - 14:35

Washington : नासा के ग्रह खोज अभियान के डेटा का विश्लेषण करने के लिये इस्तेमाल की जाने वाली गूगल की आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस प्रणाली अब सार्वजनिक कर दी गयी है. जिससे कि ब्रह्मांड में नई दुनिया का पता लगाने में शौकिया वैज्ञानिकों को मदद मिल सकेगी. प्रणाली ने हाल में नासा की केपलर अंतरिक्ष दूरबीन से प्राप्त होने वाले डेटा के विश्लेषण और सबसे भरोसेमंद ग्रह संकेतकों की सटीक पहचान के लिए न्यूरल नेटवर्क को प्रशिक्षण के जरिए सौरमंडल से बाहर दो ग्रहों की खोज की है. यह कार्य लगभग 700 तारों के शुरुआती विश्लेषण के जरिये किया गया.

इसे भी पढ़ें - तैयार हो रहा है नया स्पेस सूट, जो दुरूस्त करेगा अंतरिक्ष यात्रियों का मिजाज

गूगल ब्रेन टीम के वरिष्ठ सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्रिस शैल्यू ने अपने ब्लॉग पोस्ट में लिखा कि हम केपलर डेटा प्रक्रिया, अपने न्यूरल नेटवर्क मॉडल को प्रशिक्षण और नये अभ्यर्थी संकेतों के बारे में पूर्वानुमान व्यक्त करने के लिए अपनी नियमावली जारी कर रोमांचित हैं  गूगल की संबंधित आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस प्रणाली अब सार्वजनिक है, जिससे अनुसंधानकर्ताओं को अब और ग्रहों की खोज में मदद मिलेगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.