सीएनटी एक्ट को लेकर कोई विवाद नहीं, झारखंड सरकार से मिल रहा है पूरा सहयोग : धर्मेंद्र प्रधान

Publisher NEWSWING DatePublished Sun, 02/25/2018 - 14:15

Bokaro/Gomia : ओएनजीसी को झारखंड में कोल बेड मिथेन के लिए कुआं खोदने में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हो रही है. यहां के अधिकारी कंपनी को काफी मदद कर रह रहे हैं. भू-राजस्व के सचिव केके सोन से लेकर विकास आयुक्त अमित खरे सभी काफी मदद करते हैं. सीएस राजबाला वर्मा अपने स्तर से मॉनेटरिंग करते रहती हैं. मैं ओएनजीसी का हेड होने के नाते यह कह सकता हूं कि झारखंड में कंपनी काफी अच्छा काम कर रही है. भारत सरकार के पेट्रोलियम मिनिसिटर धर्मेंद्र प्रधान ने यह बातें बोकारो जिला के गोमिया ब्लॉक में एक कोल बेड मिथेन परियजोना का उद्धाटन करते वक्त कही. उद्धाटन के वक्त उनके साथ ओएनजीसी के आला अधिकारियों के अलावा गिरिडीह के सांसद रविंद्र पांडे और बेरमो के विधायक योगेश्वर महतो बाटुल भी मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें- CNT एक्ट की वजह से मिथेन ब्लॉक के लिए कुआं खोदने में होती है परेशानी, डीसी कोर्ट की सुनवाई लगती है बोझिलः ONGC

13 जगहों में 30 कुआं खोदने हैं

जानकारी देते हुए पेंट्रोलियम मिनिस्टर धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि झारखंड के बोकारो जिला में इस साल 30 कुआं खोलने की बात है. सभी कुआं 13 जगहों पर खोदी जाएगी. गोमिया के खुदगड़ा में स्टॉक स्टेशन का निर्माण हो रहा है. सभी जगहों से गैस ला कर खुदगड़ा में जमा की जाएगी. वहां से पाइप लाइन से गैस बोकारो होते हुए अपने गंतव्य स्थान पर जाएगी. ओएनजीसी के इस परियोजना से जिले को तीन तरह से फायदा होगा. पहला फायदा इलाक आर्थिक रूप से सबल होगा. बोकारो में स्टील का बहुत स्कोप है. ऐसे में गैस ईंधन का इस्तेमाल कर अच्छे क्वालिटी का स्टील निर्माण होगा. जिले में अच्छे किस्म के स्टील का निर्माण होने से स्टील की परियोजनाएं जिले में आएगी. वहीं कंपनी के सीएमडी शशि शंकर ने बताया कि बोकारो जिले में कंपनी करीब 2800 करोड़ का निवेश करने जा रही है. बताया कि 2019 जून तक गैस निकालने का काम शुरू हो जाएगा.

इसे भी पढ़ें- 97 प्रतिशत लाभुक चाहते हैं डीबीटी सिस्‍टम वापस ले सरकार : सर्वे

जिले में डीसी और एसपी करें सीएनजी इस्तेमाल का उपाय

परियोजना के उद्घाटन के बाद मीडिया से बात करने के दौरान श्री प्रधान ने वहां मौजूद एसपी और डीसी को निर्देश दिया कि वो डीटीओ के साथ मिलकर एक प्लान बनाएं. श्री प्रधान ने कहा कि जिले के सभी ऑटो को सीएनजी गैस से चलाना सुनिश्चित करें. घर-घर में पाइप लाइन के माध्यम से गैस पहुंचे, इसके लिए अधिकारियों के साथ बैठक कर योजना तैयार की जाए.

इसे भी पढ़ें- मुखिया ने लिखा मुख्यमंत्री को पत्र, योजना बनाओ अभियान में चयनित योजनाएं पंचायत में लागू की जायें  

ओनएजीसी ने क्या जतायी थी आपत्ति

एक सप्ताह पहले ओएनजीसी ने राज्य स्तर पर हुए बैठक में अपनी कुछ समस्याओं के बारे में राज्य के आला अधिकारियों को अवगत कराया था.  सीएनटी एक्ट को लेकर ओएनजीसी (Oil and Natural Gas Corporation Limited) ने सरकार के सामने आपत्ति जतायी है. सरकार के सचिव केके सोन की अध्यक्षता में हो रही बैठक में पेट्रोलियम मंत्रालय की तरफ से मंत्रालय के अधिकारियों ने सरकार को राज्य में चल रहे प्रोजेक्ट को लेकर क्या-क्या परेशानी आ रही है, उससे अवगत कराया. ओएनजीसी ने सिर्फ सीएनटी एक्ट को लेकर आपत्ति नहीं जतायी है. बल्कि सरकारी जमीन पर अतिक्रमण को भी बड़ा मुद्दा बताया. कहा गया कि इन छोटी-छोटी चीजों की वजह से प्रोजेक्ट नहीं लग पा रहे हैं. जिससे राज्य ही नहीं बल्कि देश का नुकसान हो रहा है. ओएनजीसी धनबाद जिला के निरसा प्रखंड में कोल बेड मिथेन ब्लॉक्स पर काम कर रहा है. ओएनजीसी का कहना है कि इस साल के अंत तक धनबाद के करणपुरा प्रखंड में चार कुएं खोदने का लक्ष्य है. जिसके लिए लगातार माइंस और भू अर्जन सचिव से बात हो रही है. ओएनजीसी का कहना है कि राज्य में कई प्रोजेक्ट लगने हैं. लेकिन सीएनटी एक्ट की वजह से काफी परेशानी होती है. सीएनटी एक्ट के मामले की सुनवाई डीसी कोर्ट में होती है. डीसी कोर्ट की सुनवाई काफी बोझिल होती है. राइट टू सर्विस की बात की जाए तो सीएनटी एक्ट के मामले को डीसी कोर्ट में तीन महीने के अंदर सुलझाया जाना है. लेकिन तीन महीने में सुनवाई पूरी नहीं होती है. ऐसे में ओएनजीसी को प्रोजेक्ट लगाने में काफी परेशानी होती है. ओएनजीसी ने नए प्रोजेट्स लगाने में एक और परेशानी बतायी. कंपनी का कहना है कि ज्यादातर सरकारी जमीनों पर लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है. ऐसे में प्रोजोक्ट के लिए एप्रोच रोड (संपर्क मार्ग) बनाने में परेशानी होती है. जिन लोगों को सरकारी जमीन पर सालों से कब्जा है, वो ज्यादा परेशानी की वजह है.

ये थे शामिल

गिरिडीह सांसद रविंद्र कुमार पांडे, बेरमो विधायक योगेश्वर महतो बाटुल, जिला बीस सूत्री उपाध्यक्ष लक्ष्मण नायक, पूर्व विधायक छत्रुराम महतो, प्रह्लाद बर्णवाल, बोकारो भाजपा अध्यक्ष जगरनाथ राम, विनय सिंह, देवनारायण प्रजापति, सुरेश दुबे, प्रशासनिक अधिकारियों में डीसी बोकारो मृत्युंजय बर्णवाल, एसपी कार्तिक एस, एसडीएम प्रेम रंजन, अभियान एसपी संजय कुमार, बीडीओ सुधीर प्रकाश, सीओ जयवंत नायक नायक के अलावा बोकारो जिला के तमाम अधिकारी और भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे.

ongc

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

top story (position)
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

बिहार के माथे पर एक और कलंक, चपरासी ने 8,000 रुपये में कबाड़ी को बेची थी 10वीं परीक्षा की कॉपियां

स्वच्छता में रांची को मिले सम्मान पर भाजपा सांसद ने ही उठाये सवाल, कहा – अच्छी नहीं है कचरा डंपिंग की व्यवस्था

तो क्या ऐसे 100 सीटें बढ़ायेगा रिम्स, न हॉस्टल बनकर तैयार, न सुरक्षा का कोई इंतजाम, निधि खरे ने भी लगायी फटकार

पत्थलगड़ी समर्थकों ने किया दुष्कर्म, फादर सहित दो गिरफ्तार, जांच जारीः एडीजी

स्वच्छता सर्वेक्षण की सिटीजन फीडबैक कैटेगरी में रांची को फर्स्ट पोजीशन, केंद्रीय मंत्री ने किया पुरस्कृत

J&K: बीजेपी विधायक की पत्रकारों को धमकी, कहा- खींचे अपनी एक लाइन

दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन मेगा परीक्षा कराने जा रही है रेलवे, डेढ़ लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

“महिला सिपाही पिंकी का यौन शोषण करने वाले आरोपी को एसपी जया रॉय ने बचाया, बर्खास्त करें”

यूपीः भीषण सड़क हादसे में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

16 अधिकारियों का तबादला, अनिश गुप्ता बने रांची के एसएसपी, कुलदीप द्विवेदी गए चाईबासा