सिल्ली-गोमिया उपचुनाव : वोटिंग से पहले लगाया सिर्फ ‘लक्ष्मी’ का ध्यान, अब जीत के लिए सभी देवी-देवताओं से आरजू-मिन्नत

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 05/30/2018 - 17:20

Akshay Kumar Jha

Gomia/Silli: सिल्ली और गोमिया में हुए उपचुनाव में कौन बनेगा विधायक, कुछ ही घंटों में साफ हो जाएगा. वोटिंग के दिन से लेकर गिनती से एक दिन पहले तक दोनों विधानसभा क्षेत्र के लोगों के बीच यही सवाल और जवाब दोहराया जा रहा है कि आखिर जीत किसकी होगी. दोनों जगहों पर हुए उपचुनावों में ऐसे समीकरण बनते दिख रहे हैं, जिससे किसी एक पार्टी के ऊपर दावा नहीं किया जा सकता कि फलां पार्टी ही जीतेगी. इन दोनों जगहों पर पूरे राज्य की जनता और ब्यूरोक्रेसी की नजर है. दोनों जगहों से अगर जेएमएम हार जाती है, तो झारखंड में विपक्ष की भूमिका पर सवाल उठेगा. दोनों जगहों से आजसू जीत जाती है तो सरकार कमजोर होगी और सुदेश महतो का कद बढ़ेगा. एक ही सीट पर किस्मत आजमा रही बीजेपी गोमिया से जीत जाती है तो सीएम रघुवर दास का कद बढ़ेगा. ये चुनाव इस लिहाज से भी बीजेपी के लिए जरूरी है, क्योंकि अगर गोमिया की सीट बीजेपी हार जाती है तो सूबे में रघुवर काल में यह तीसरा उपचुनाव बीजेपी हारेगी. जो 2019 के विधानसभा से जोड़ कर देखा जाएगा.

इसे भी पढ़ें - चार दिनों से जलापूर्ति ठप होने पर रांचीवासियों का फूटा गुस्साः एकरा मस्जिद के पास लगाया जाम, डिप्टी मेयर के लिखित आश्वासन पर शांत हुए लोग

सिल्ली में सुदेश या अमित ?

चुनावी कवरेज के दौरान वहां के लोगों से बात-चीत को अगर आधार बनाया जाए, तो दोनों उम्मीदवार अमित और सुदेश के बीच कांटे की टक्कर की बात होगी. चुनाव के दिन के समीकरण को गौर से देखा जाए, तो यह साफ नहीं हो पा रहा है कि जनता किसे अपने विधानसभा क्षेत्र का विधायक बनाना चाह रही है. गणित की बात करें तो सिल्ली में चार प्रखंड हैं. सोनाहातू, राहे, अनगढ़ा और सिल्ली. इन चारों प्रखंड में सबसे ज्यादा वोटिंग सिल्ली प्रखंड में हुआ है और सबसे कम अनगढ़ा में. सिल्ली- 62127, सोनाहातू- 41,000, राहे- 29250 और अनगढ़ा- 13623. ऐसा माना जाता है कि सिल्ली प्रखंड पर आजसू चीफ सुदेश महतो की पकड़ है. सोनाहातू प्रखंड में अमित महतो मजबूत हैं. राहे में सुदेश और अनगढ़ा में अमित महतो की पकड़ है. ऐसे में अंदाजा लगाना मुश्किल है कि जीत किसकी झोली में गिर रही है. वैसे दोनों पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जीत के बाद के जश्न की तैयारी पूरी कर ली है.

इसे भी पढ़ें - मोमेंटम झारखंड का हाथी हुआ पस्त, लचर बिजली व्यवस्था को लेकर JSIA ने पस्त हाथी को बैलून के सहारे हवा में उड़ाया

गोमिया बना त्रिशंकू

गोमिया विधानसभा क्षेत्र का विधायक इस बार कौन होगा, यह लाख टके का सवाल है. इससे पहले जिस तरह से जेएमएम उम्मीदवार योगेंद्र महतो ने जीत दर्ज की थी वो काबिले तारीफ थी. लेकिन इस बार गोमिया में ट्विट्स है और इस ट्विस्ट का नाम आजसू के उम्मीदवार लंबोदर महतो है. महतो ने बीते तीन साल गोमिया विधानसभा में खूब मेहनत की. खासकर पेटवार और कसमार प्रखंड में. वहीं शहरी क्षेत्रों में भी लंबोदर ने पूरी ताकत झोंक दी. तीसरे उम्मीदवार बीजेपी के माधव लाल सिंह को इस विधानसभा क्षेत्र से जीतने की आदत है. वो चार बार अपनी जीत दर्ज कर चुके हैं. ऐसे में तीनों में किसी को भी हल्के में नहीं लिया जा सकता. चुनावी गणित की बात करें तो तीनों प्रखंड में अच्छी खासी वोटिंग हुई है. सबसे ज्यादा गोमिया प्रखंड में पोल हुआ. दूसरे नंबर पर कसमार और तीसरे नंबर पर पेटरवार रहा. गोमिया- 96426, पेटरवार- 32150 और कसमार- 43533. चुनावी पंडितों की माने तो गोमिया से सबसे ज्यादा वोट बीजेपी को मिलना चाहिए. क्योंकि गोमिया में शहरी क्षेत्र ज्यादा है.

वहीं आजसू उम्मीदवार लंबोदर महतो को भी शहरी क्षेत्र में वोट मिलने की उम्मीद है. गोमिया के कुछ-एक ग्रामीण क्षेत्र से जेएमएम को भी वोट मिलने की पूरी उम्मीद है. वहीं कसमार में लंबोदर दोनों उम्मीदवार पर भारी पड़ रहे हैं. पेटरवार में तीनों उम्मीदवारों का मिला-जुला असर रहेगा. ऐसे में किसी पार्टी की दावेदारी पूरे विधानसभा क्षेत्र में रखना जल्दबाजी होगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबु और ट्विट पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

बिहार के माथे पर एक और कलंक, चपरासी ने 8,000 रुपये में कबाड़ी को बेची थी 10वीं परीक्षा की कॉपियां

स्वच्छता में रांची को मिले सम्मान पर भाजपा सांसद ने ही उठाये सवाल, कहा – अच्छी नहीं है कचरा डंपिंग की व्यवस्था

तो क्या ऐसे 100 सीटें बढ़ायेगा रिम्स, न हॉस्टल बनकर तैयार, न सुरक्षा का कोई इंतजाम, निधि खरे ने भी लगायी फटकार

पत्थलगड़ी समर्थकों ने किया दुष्कर्म, फादर सहित दो गिरफ्तार, जांच जारीः एडीजी

स्वच्छता सर्वेक्षण की सिटीजन फीडबैक कैटेगरी में रांची को फर्स्ट पोजीशन, केंद्रीय मंत्री ने किया पुरस्कृत

J&K: बीजेपी विधायक की पत्रकारों को धमकी, कहा- खींचे अपनी एक लाइन

दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन मेगा परीक्षा कराने जा रही है रेलवे, डेढ़ लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

“महिला सिपाही पिंकी का यौन शोषण करने वाले आरोपी को एसपी जया रॉय ने बचाया, बर्खास्त करें”

यूपीः भीषण सड़क हादसे में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

16 अधिकारियों का तबादला, अनिश गुप्ता बने रांची के एसएसपी, कुलदीप द्विवेदी गए चाईबासा