वीडियो से होगा खुलासा : महिला प्रत्याशी के साथ हुआ जुल्म, या फिर मामला कुछ और है

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 04/16/2018 - 14:34

चुनाव जीतने के लिए महिला प्रत्याशी का पॉलिटिकल स्टंट 

Khunti : झारखंड नगर निकाय चुनाव की गहमा-गहमी के बीच आरोप-प्रत्यारोप की कुछ विचत्र तस्वीरें देश की दलगत राजनीति को उजागर करती दिखी. खूंटी नगर परिषद् के वार्ड नंबर दो की प्रत्याशी सुनीता गोप का अपने प्रतिद्वंदी पर लगाया गया आरोप संदेह के घेरे में है. घटना 15 अप्रैल रात आठ बजे की है. जब सुनीता गोप एक वीडियो में ये कहते हुए देखी गई कि 20-25 लड़के मुझे जान मार देंगे, ये मुझे घेरे हुए हैं, जल्दी से यहां पुलिस भेजा जाए. और तब सुनीता वीडियो में खुद से अपने कपड़े फाड़ कर मामले को संवेदनशील करने की कोशिश करती देखी गईं. हालांकि वीडियो में इस दौरान उनके आस-पास कोई भी लड़का नहीं दिखा. वायरल वीडियो में वार्ड नंबर 2 की प्रत्याशी सुनीता गोप पुलिस से फोन पर बात करती दिख रही हैं. वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

देखें वीडियो-

 इसे भी देखें- जिला प्रशासन ने ड्यूटी पर आये कर्मचारियों को नहीं दिया चुनाव खर्च, कहा – समझ लीजिए श्रमदान किया

प्रत्याशी ने खुद को बताया पीड़ित

इस संबंध में जब सुनीता गोप से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा, मैं खूंटी नगर परिषद् वार्ड 2 की प्रत्याशी हूं रात के 8:00 बजे जमुवादग के पहान टोली में जनसंपर्क के लिए गई थी. इतने में गांव के ही करीब 20 लड़के आ गए और हमें जनसमर्म्पक करने से रोका. साथ ही मेरे साथ मारमीट की.मैंने एसडीपीओ रणधीर सिंह को फोन किया तब पुलिस 20 मिनट के बाद मेरी मदद के लिए पहुंची. अगर समय से पुलिस नहीं पहुंचती तो हमें रात में मार दिया जाता. मैं पिछले 2 बार से वार्ड 2 से चुनाव जीत रही हूं. जब सुनीता गोप से वीडियो में खुद से अपने कपड़े फाड़ने के संबंध में पूछा गया तो कुछ देर चुप रहने के बाद कहती हैं कि पहले शिवचरण गोप और महेश गोप ने मेरे साथ बदसलूकी की और कपड़े फाड़े. मगर खुद से कपड़े फाड़ने के सवाल का उन्होंने संतोषजनक जवाब नहीं दिया.

 इसे भी देखें- वोट डालने पहुंचा किन्नर समाज, कहा – पब्लिक ही हमें देती है सुविधा सरकार को नहीं कोई फिक्र 

जांच के बाद होगी कार्रवाई : पुलिस अधिकारी

इस मामले पर खूंटी डीएसपी रणधीर सिंह कहते हैं अभी इलेक्शन चल रहा है घटना की जानकारी पुलिस को मिली है. इस पूरे मामले की जांच आज चुनाव संपन्न होने के बाद की जाएगी और दोषी जो भी होंगे उस पर कार्रवाई होगी. वीडियो भी पुलिस को प्राप्त हुआ है लेकिन इस वीडियो में मारपीट की घटना की पुष्टि नहीं हो रही है.

विरोधी प्रत्याशी को फंसाने की साजिश : स्थानीय लोगों का मंतव्य

स्थानीय लोगों का कहना है कि वार्ड पार्षद कुछ लोगों को फंसाने का काम कर रही हैं, जिसके तहत शिवचरण गोप , महेश गोप आदि पर छेड़छाड़ और मारपीट करने का उन्होंने आरोप लगाया है. यह पूरी तरह चुनाव जीतने के लिए एक रणनीति के तहत वार्ड पार्षद उमीदवार के द्वारा किया गया है. इसी मकसद से प्रत्याशी ने अपने कपड़े भी फाड़े हैं और पुलिस को कंप्लेन भी किया है. वायरल वीडियो भारतीय राजनीति के गिरते स्तर को भी दिखता है, जिसमें एक प्रत्याशी ने चुनाव जीतने के लिए जिन तरीकों का इस्तेमाल किया है, क्या उसे सही ठहराया जा सकता है, क्या यह व्यवहार शोभनीय है, ऐसे कई सवाल एक सभ्य जनमानस को बेचैन कर सकते हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Main Top Slide
City List of Jharkhand
loading...
Loading...