रांचीः अपनी मांगों पर अड़ीं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आंदोलन के 11 वें दिन मानव श्रृंखला बना किया प्रदर्शन

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 05/17/2018 - 15:46

Ranchi: अपने हक और अधिकार के लिए बीते 11 दिनों से संघर्षरत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को मानव श्रृंखला बना कर रघुवर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. झारखंड प्रदेश आंगनबाड़ी वर्कर्स यूनियन के नेतृत्व में निकाली गई यह मानव श्रृंखला राजभवन से जयपाल सिंह स्टेडियम होते हुए कचहरी चौक तक पहुंची. इस दौरान महिला आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने रघुवर सरकार होश में आओ, मानदेय बढ़ाने का समझौता लागू करो, ‘बकाया मानदेय पोषाहार देना होगा जैसे नारे लगाए.

इसे भी पढ़ेंःमाओवादियों की करतूत पर पुलिस ने ग्रामीणों पर फोड़ा ठीकरा, कर दी बेरहमी से पिटाई

मांगों को लेकर अधिकारी नहीं है सजग

झारखंड प्रदेश आंगनबाड़ी वर्कस यूनियन के प्रदेश संयोजक रामचन्द्र पासवान ने न्यूज विंग के संवाददाता को बताया कि 9 बिन्दुओं को लेकर महिला बाल विकास व सामाजिक सुरक्षा विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे एवं यूनियन द्वारा पहले ही लिखित समझौता किया गया था, लेकिन अभी तक सरकार के किसी प्रतिनिधि ने हमारी मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं की है.  

महिलाओं के अधिकार का हनन कर रही सरकार

यूनियन के नेता बालमुकुंद ने न्यूज विंग को बताया कि सरकार महिलाओं की सशक्तिकरण की बात करती हैं. दूसरी ओर उनके हक-अधिकारों का हनन करती है. विभाग के सचिव एवं आंगनबाड़ी यूनियन के बीच 9 सूत्री मांगों को लेकर गत 23 जनवरी को लिखित सहमति बनी थी. सचिव ने तीन माह के अंदर ही उनकी मांगों पर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया था, लेकिन सहमति के करीब चार माह बीतने के बाद भी आज तक उनकी मांग अधूरी है.

इसे भी पढ़ेंःबुनियादी सुविधाओं से वंचित है रांचीवासी, फिर भी रांची हैं सिटीजन फीडबैक में अव्वल

यूनियन के बैनर तले आंदोलन रहेगा जारी

उन्होंने कहा कि सरकार के वादा खिलाफी के विरोध में पिछले सात मई से सेविका-सहायिकाओं का अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी है. हड़ताल का गुरुवार को 11वां दिन है. यह हड़ताल मांग पूरी होने तक जारी रहेगी. मानव श्रृंखला में काफी संख्या में सेविका-सहायिकाएं शामिल थीं.

क्या हैं मांग

1 – सेविका-सहायिका का स्थायीकरण हो, इन्हें सरकारी कर्मचारी का दर्जा दिया जाए

2 - आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के मानदेय में बढ़ोतरी की जाये.

3 महिला बाल विकास व सामाजिक सुरक्षा विभाग के सचिव एवं यूनियन के बीच की गई 9 सूत्री मांगों पर जो लिखित सहमति बनी थी, उसे अविलम्ब लागू किया जाये.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na