रांची : निःशुल्क एम्बुलेंस सेवा दे रही संस्था ‘जिंदगी मिलेगी दोबारा’ को धमकी

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 01/15/2018 - 18:06

Ranchi: रिम्स में निःशुल्क एम्बुलेंस सेवा दे रही संस्था "जिंदगी मिलेगी दोबारा" के कर्मियों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. सोमवार को कुछ असामाजिक तत्वों ने कर्मचारियों के साथ गाली-गलौज किया और उन्हें धमकी दी. कुछ दिनों पूर्व संस्था की एम्बुलेंस को पार्किंग के लिए जगह देने में आनाकानी की जा रही थी. रिम्स प्रबंधन और डॉक्टर अपनी कार की पार्क करने के लिए संस्था के लोगों को वहां से गाड़ी हटाने को कह रहे थे. इसके बाद रिम्स परिसर में दूसरी जगह उन्हें गाड़ी लगाने के लिये जगह दिया गया. एम्बुलेंस सेवा की प्रचार के लिये लगाये गये बैनर को भी कुछ दिनों पूर्व असमाजिक तत्वों ने फाड़ दिया था.

इसे भी पढ़ेंः गुमला सड़क हादसे में मरने वालों की संख्या हुई 13, रिम्स में चल रहा घायलों का इलाज

बरियातु थाने में लिखित शिकायत

वहीं सोमवार को हुई घटना को लेकर संस्था के अध्यक्ष अश्विनी राजगढ़िया ने बरियातु थाने में लिखित शिकायत दर्ज करायी. उन्होंने कहा कि हमारी संस्था गरीबों की मदद करती है. इसी कारण निजी एम्बुलेंस चालक के आंखों में चुभन हो रही है. यदि ऐसी परिस्थिति रहेगी तो हमारी संस्था लोगों की सेवा कैसे कर पायेगी. उन्होंने कहा कि संस्था का और विस्तार करना था, लेकिन कुछ लोग ऐसा नहीं चाहते है.

इसे भी पढ़ेंः सरकार में कभी भी फेरबदल संभव, विमला प्रधान और दिनेश उरांव की बदल सकती है भूमिका !

प्राइवेट एम्बुलेंस वाले करते हैं परेशान

रिम्स परिसर में दर्जनों की संख्या में प्राइवेट एंबुलेंस हैं. एम्बुलेंस चालक मरीजों से मनमाना पैसा वसूलते हैं. वहीं अस्पताल परिसर में चालकों की दलाली भी चरम पर है. ऐसे में निःशुल्क सेवा करने वाली संस्था जिंदगी मिलेगी दोबारा लोगों को बिना शुल्क सेवा दे रही है, जिसके कारण प्राइवेट एम्बुलेंस चालकों के निशाने पर संस्था के लोग हर वक्त रहते है. गौरतलब है कि संस्था पिछले 5 नवंबर से अस्पताल में आने वाले गरीब-असहाय लोगों की सेवा कर रहा है.

इसे भी पढ़ेंःडाल्टनगंज : दो बालू घाटों की बंदोबस्ती रद्द, नियम के विपरीत खनन करने पर गिरी गाज

अब तक 350 लोगों को मदद पहुंचा चुकी है संस्था

जिंदगी मिलेगी दोबारा संस्था अब तक 350 लोगों की मदद पहुंचा चुकी है. संस्था 4 एम्बुलेंस के माध्यम से लगातार निस्वार्थ भाव से गरीबों की सेवा में जुटा है. गाड़ी में पानी, फ़ोन और चादर की व्यवस्था है. वैसे तो एम्बुलेंस सेवा 100 किलोमीटर की दूरी के लिये दी जाती है, लेकिन लोगों की जरूरत को देखते हुए संस्था अपनी सेवा का विस्तार कर ज्यादा दूरी पर भी लोगों की मदद करता है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
Top Story
loading...
Loading...

NEWSWING VIDEO PLAYLIST (YOUTUBE VIDEO CHANNEL)