रांची : जगन्नाथ अस्पताल में मरीज की मौत पर हंगामा, परिजनों ने दर्ज करायी एफआईआर (देखें वीडियो)

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 01/20/2018 - 18:01

Ranchi : राजधानी के जगन्नाथपर अस्पताल में एक मरीज क मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया. परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर मरीज की हत्या का आरोप लगाया. परिजनों ने कोतवाली थाना में एफआईआर भी दर्ज कराया है. दरअसल 55 वर्षीय गिरीजा साहू पैर में चोट लगी थी और इलाज के लिए जगन्नाथ अस्पताल में भर्ती हुए थे. मृतक की पत्नी का कहना है कि शुक्रवार तक वो पूरी तरह ठीक थे. लेकिन लाज में लापरवाही की वजह से ही गिरीजा साहू की मौत हो गयी. इस मामले में उन्होंने अस्पताल प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

इसे भी पढ़ें - सीएस राजबाला के हंसने पर सदन में बरपा हंगामा, विपक्ष ने हाथ में जूते लेकर कहाः सदन का उड़ाया मजाक या रघुवर पर हंसीं राजबाला

नगर निगम में ट्रैक्टर चलाते थे गिरिजा साहू
मृतक गिरिजा साहू नगर निगम में अपना ट्रैक्टर चलाकर कचरा उठाने का काम करते थे. लेकिन शुक्रवार को मोटरसाकिल चलाने के क्रम में गिर गए और उनका पैर फ्रैक्चर कर गया था. उसी के लाज के लिए उन्हें यहां भर्ती कराया गया था. गिरिजा साहू का इलाज डॉ सुधीर कुमार की निगरानी में चल रहा था और शुक्रवार को ऑपरेशन भी किया गया. परिजनों ने बताया कि उन्होंने मरीज से अच्छे से बात भी किया और हमें उम्मीद ही नहीं थी कि ऐसा कुछ हो सकता है.

इसे भी पढ़ें - बजट सत्र का चौथा दिन भी रहा हंगामेदार, विपक्ष ने लहराया न्यूज विंग, सदन स्थगित

डॉक्यूमेंट
दो लाख रुपए जमा करने का लगातार बनाया जा रहा था दबाव

दो लाख रुप जमा करने का लगातार बनाया जा रहा था दबाव
गिरिजा साहू के परेन के लिए डॉक्टरों ने दो लाख जमा करने को कहा था. इसके लिए गिरिजा साहू की पत्नी ने एडवांस के रुप में कुछ रकम जमा किए थे़. लेकिन ऑपरेशन से पहले ही मरीज के परिजनों पर अस्पताल प्रशासन ने लगातार  पूरे पैसे जमा करने का दबाव बनाया और पैसे लाकर देने की बात कहने पर ही डॉक्टर ऑपरेशन के लिए राजी हुए. साथ ही परिजन का कहना है कि डॉक्टरों ने गलत दवा चलाया और इसी वजह से इनकी मौत हो गई.

इसे भी पढ़ें - मनरेगा योजना में सामने आया बड़ा घोटाला, 32 सप्‍लायर को 32 करोड़ 43 लाख जमा करने का नोटिस

कोतवाली थाना में किया गया है एफआईआर
परिजनों ने अस्पताल प्रशासन की लापरवाही और गलत दवा देकर हत्या कर देने के आरोप लगाया है. इसे लेकर कोतवाली थाना में एफआईआर भी दर्ज किया गया है. मौके पर पुलिस ने पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. वहीं आरोप लगाया गया है कि पैसे जल्दी नहीं देने के वजह से जैसे-तैसे दवा देकर मरीज की हत्या कर दी गयी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं