रघुवर सरकार ने माओवादी व टीपीसी को धन मुहैया कराने वाले रघुराम रेड्डी के खिलाफ नहीं की कार्रवाई

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 02/10/2018 - 12:33

Ranchi: जीरो टॉलरेंस और नक्सलियों-उग्रवादियों को समाप्त करने की बात करने वाली रघुवर दास की सरकार ने माओवादियों और टीपीसी को फंडिंग करने वालों खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की. नक्सली-उग्रवादी संगठनों को धन मुहैया कराने के मामले में 27 जनवरी 2016 को चतरा के तत्कालीन एसपी सुरेंद्र कुमार झा ने पुलिस मुख्यालय को एक रिपोर्ट भेजी थी. रिपोर्ट में एसपी ने पूरे मामले की मुख्यालय स्तर से जांच कराने की अनुशंसा की थी. रिपोर्ट के साथ एसपी ने अपने मंतव्य में कहा था कि पुलिस के प्रयास से भाकपा माअोवादी समाप्ति पर है. लेकिन बीजीआर कंपनी के रघुराम रेड्डी जैसे बड़ी कंपनी के मालिक द्वारा चतरा जिला में समाप्त हो रहे माअोवादी संगठन और दूसरी सक्रिय उग्रवादी संगठन टीपीसी को अपार धन मुहैया करा कर पोषित और मजबूत किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें - 3000 करोड़ के मुआवजा घोटाले में सबसे ज्यादा गड़बड़ी करने वाले सीओ ने एसआईटी को बताया था, वरीय अधिकारियों का दबाव था

रेड्डी की कार्यशैली स्थानीय पीड़ितों के खिलाफ

एसपी ने की थी कार्रवाई की अनुशंसा, चुप रहे पुलिस मुख्यालय के अफसर
एसपी ने की थी कार्रवाई की अनुशंसा, चुप रहे पुलिस मुख्यालय के अफसर

एसपी ने अपनी रिपोर्ट में लिखा था कि रघुराम रेड्डी की कार्यशैली स्थानीय पीड़ितों के खिलाफ है, जिससे पुलिस व सरकार की छवि प्रभावित हो रही है.  एसपी ने यह भी अनुशंसा की थी कि रेड्डी और उसकी कंपनी को चतरा के साथ-साथ राज्य के किसी भी कंपनी में भी कार्य न मिल सके. इस  दिशा में पुलिस मुख्यालय व झारखंड सरकार के स्तर से प्रभावकारी कार्रवाई किये जाने की आवश्यकता है. ताकि स्थानीय स्तर पर औद्योगिक इकाई के प्रभाव में निरंतर विकास के साथ-साथ भविष्य में उग्रवादी संगठन एमसीसी आई व टीपीसी को आर्थिक रुप में कमजोर कर उसे समाप्त किया जा सके. 

इसे भी पढ़ें -इलेक्ट्रो स्टील में आईटी विभाग का सर्वे फाइनेंस डिपार्टमेंट के जनरल मैनेजर से हुई पूछताछ

चतरा के तत्कालीन एसपी की रिपोर्ट का अंश
रिपोर्ट में कहा गया था कि रघुराम रेड्डी का टीपीसी सुप्रीमो ब्रजेश गंझू से सीधा संबंध है.

टीपीसी के सुप्रीमो ब्रजेश गंझू से रेड्डी का सीधा संबंध

एसपी ने अपनी रिपोर्ट में लिखा था कि प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन टीपीसी सुप्रीमो ब्रजेश गंझू के साथ रघुराम रेड्डी का सीधा संपर्क है. दोनों के बीच बात होती है और गोपनीय तरीके से टीपीसी सुप्रीमो के निर्देश में कार्य करते हुए  टीपीसी को आर्थिक  लाभ के साथ-साथ अन्य व्यवस्था करते हैं. ताकि उग्रवादी संगठनों का सहयोग व प्रभाव से ये (रघुराम रेड्डी) अपनी मनमानी करते रहे. 

इसे भी पढ़ें -मनोबल तोड़ने वाला है आईएएस अधिकारियों का तबादला, सीनियर को भेजा गिरिडीह और जूनियर को बुलाया रांची, दो युवा आईएएस को डाल दिया वेटिंग फॉर पोस्ट में

अब उरीमारी व चट्टी बरियातू में कर रहा काम

चतरा एसपी की रिपोर्ट के मुताबिक रघुराम रेड्डी की बीजीआर कंपनी ने टंडवा में काम बंद कर दिया. टंडवा में काम करने के बाद रघुराम रेड्डी ने एनटीपीसी के लिए ट्रांसपोर्टिंग का काम शुरु कर दिया है. उसकी कंपनी के द्वारा उरीमारी और बड़कागांव के चट्टी-बरियातू रेलवे साइडिंग से कोयला का ट्रांसपोर्टिंग का काम कराया जा रहा है. 

इसे भी पढ़ें -कहीं आपका भी लोकेशन तो नहीं हो रहा ट्रेस

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.