पलामू : सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में पत्रकार की संदिग्ध मौत, फंदे पर झूलती लाश मिली, पुलिस जांच में जुटी 

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 05/16/2018 - 21:49

Daltonganj : पलामू जिले के विश्रामपुर में एक दैनिक अखबार के संवाददाता रामेश्वर केसरी की बुधवार को संदिग्ध अवस्था में मौत हो गयी. अपराहन में उनका शव विश्रामपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रशिक्षण केन्द्र में फंदे से झूलता हुआ बरामद किया गया. घटना के बाद जिले के पत्रकार आक्रोशित हो गये हैं और मजिस्ट्रेट नियुक्त कर मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग कर रहे हैं. रामेश्वर केसरी विश्रामपुर के निवासी थे और पत्रकारिता के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग में सहिया को ट्रेनिंग देने का काम भी करते थे.  वे अक्सर विश्रामपुर स्वास्थ्य केन्द्र में बतौर बीटीटी सहिया सहित अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षण देते थे.  जहां सहिया का ट्रेनिंग कार्यक्रम चलता था, उसी कमरे शव पाया गया है. 

इसे भी पढ़ें - सबकी नजर सिर्फ आम्रपाली-मगध पर, अशोका, पिपरवार, पुरनाडीह व रोहिणी कोलियरी में भी होती है हर माह करीब 12 करोड़ की वसूली

घटना की पारदर्शी तरीके से जांच होगी : पुलिस अधीक्षक

जिले के पुलिस अधीक्षक इन्द्रजीत माहथा ने कहा कि घटना की बिल्कुल पारदर्शी तरीके से जांच होगी.  मैजिस्ट्रेट की उपस्थिति में मौत की समीक्षा रिपोर्ट बनेगी.  कहा कि पोस्ट मार्टम मेडिकल बोर्ड की टीम के द्वारा किया जायेगा. पुलिस अधीक्षक ने कहा कि घटनास्थल की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी अच्छे तरीके से होगी. जानकारी दी कि वहां डॉग स्क्वायड को भी भेजा गया है.

हत्या का लग रहा है मामला

रामेश्वर केसरी का शव जिस हालत में फंदे से लटका हुआ मिला हैउससे हत्या का मामला प्रतीत होता है.  लाश फंदे पर घुटने के बल टिकी हुई थी.  गले में दुपट्टे का फंदा लगा हुआ थाजिसका दूसरा सिरा पंखे से लगा हुआ था. कमरे में शव के आसपास चूड़ी के टुकड़ेलेडीज अंगूठीकान की बाली और उसमें लगने वाले मोती बिखरे पड़े थे. दो सेव भी वहां पड़े मिले है.  इसके अलावा रामेश्वर केसरी का मोबाइल उसी टेबल पर रखा हुआ था.  प्रथम दृष्टया यह मामला गला दबाकर हत्या कर उसे आत्महत्या करार देने की कोशिश लगता है.  हालांकि पुलिस ने अभी इसकी पुष्टि नहीं की है.  

इसे भी पढ़ें- लालू प्रसाद के बेल बांड से संबंधित कानूनी प्रक्रिया पूरी, पासपोर्ट सरेंडर कर पटना रवाना हुए

एसपी को घटनास्थल पर बुलाने की मांग पर अड़े पत्रकार

पत्रकार की मौत पर जिले के पत्रकारों ने गहरी संवेदना व्यक्त की है.  झारखंड पत्रकार संगठन से जुड़े रहने के कारण इस संगठन के अध्यक्ष अवधेश शुक्ला ने रामेश्वर केसरी की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए पुलिस अधीक्षक से निष्पक्ष जांच की मांग की है.  सूचना है कि विश्रामपुर में पत्रकार शव को फंदे से उतरने नहीं दे रहे हैं. उनका कहना था कि एसपी  मौके पर आयें और उचित आश्वासन दें.  उसके बाद ही शव का पोस्टमार्टम कराया जायेगा.

 सीएचसी के सीसीटीवी फुटेज से सुलझ सकती है हत्या की गुत्थी

विश्रामपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है.  कैमरे के फुटेज खंगालने से मामले की गुत्थी सुलझ सकती है.  स्थानीय लोगों की मानें तो रामेश्वर केसरी मृदुभाषी व मिलनसार थे.  उनकी मौत से इलाके में शोक की लहर है. वे अपनी पीछे पत्नी के अलावा दो बेटे एवं एक बेटी छोड़ गये हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलोभी कर सकते हैं.

na