पलामू : बंधु शुक्ला के दो शातिर अपराधी गिरफ्तार, रंगदारी नहीं मिलने पर एक घंटे के भीतर दो इलाकों में की थी गोलीबारी

Publisher NEWSWING DatePublished Sun, 03/18/2018 - 18:57

Daltonganj : रंगदारी के लिए एक घंटे के अंतराल में दो थाना क्षेत्रों में गोलीबारी कर दहशत फैलाने वाले दो शातिर अपराधियों को पुलिस ने तकनीकी शाखा के सहयोग से गिरफ्तार किया है. हालांकि इस घटना का मास्टर माइंड बंधु शुक्ला को पुलिस अबतक गिरफ्तार नहीं कर पायी है. मुख्य सरगना की गिरफ्तारी के लिए पुलिस उसके संभावित ठिकानों पर छापामारी कर रही है.

बताते चलें कि गत 9 मार्च की सुबह पलामू जिले के चैनपुर और लेस्लीगंज थाना क्षेत्र में क्रमशः शाहपुर और बसौरा में एक ही दिन एक घंटे के भीतर रंगदारी के लिए गोलीबारी कर अग्रवाल कंस्ट्रक्शन सड़क निर्माण कंपनी के गार्ड और इंजीनियरिंग कॉलेज के सुपरवाइजर को गोली मार दी गयी थी. गार्ड अब भी जिंदगी और मौत से जूझ रहा है, जबकि सुपरवाइजर की स्थिति खतरे से बाहर रहने के कारण अब वह स्वस्थ्य हो गया है.

इसे भी पढ़ें - पलामू : कुख्यात अपराधी बंधु शुक्ला पर पुलिस ने कसा शिकंजा, जेसीबी से मकान को किया ध्वस्त

इसे भी पढ़ें - पहले गढ़वा, फिर पलामू में अग्रवाल कंस्ट्रक्शन पर हमला, गार्ड को गोली मारी, पत्र देकर कहा जब तक नहीं मिलेगा पांच करोड़, एेसे ही चलती रहेगी गोली

मोबाइल लोकेशन के आधार पर धराए अपराधी

डीएसपी सुरजीत कुमार ने बताया कि घटना के बाद से लगातार अपराधियों पर नजर रखी जा रही थी. तकनीकी सेल से मिली मदद के बाद दोनों अपराधियों के मोबाइल लोकेशन पर कार्रवाई की गयी और उन्हें धर दबोचा गया. सबसे पहले जिले के पाटन थाना क्षेत्र के पाल्हेकला गांव से कन्हैया दयाल शुक्ला को गिरफ्त में लिया गया. उसने पूछताछ के दौरान बताया कि जेल में रहने के दौरान उसकी मुलाकात बंधु शुक्ला से हुई थी. जेल से निकलने के बाद बंधु शुक्ला ने होटल मालिक और जुनियर इंजीनियर का मोबाइल नंबर उपलब्ध कराया था. मोबाइल पर पहले रंगदारी मांगी गयी थी. रंगदारी देने से मुकरने पर पुलिस और अग्रवाल कंपनी की रेकी कर गत नौ मार्च को शाहपुर में कंपनी के मिक्सचर प्लांट पर गोलीबारी की गयी थी. बाद में बसौरा में इंजीनियरिंग कॉलेज के सुपरवाइजर को गोली मारी गयी थी.

इसे भी पढ़ें - पत्थलगड़ी अभियान का मास्टर माइंड विजय कुजूर अपने सहयोगी के साथ दिल्ली से गिरफ्तार

इसे भी पढ़ें - एसडीओ ने अवैध रूप से चल रहे बिरसा ब्लड बैंक को सील किया, आठ गिरफ्तार

प्रदीप मेहता बंधु शुक्ला को हथियार मुहैया कराता था

इधर पंडवा के वनखेता से गिरफ्तार किए गए बंधु शुक्ला गिरोह के दूसरे अपराधी प्रदीप मेहता ने बताया कि बंधु शुक्ला से उसकी हमेशा बातचीत हुआ करती थी. अक्सर बंधु को अपराध करने के लिए हथियार भी मुहैया कराता था. प्रदीप पूर्व में पंडवा पुलिस की कार्रवाई में हत्या, हथियार तस्करी सहित अन्य आपराधिक मामले में कई बार जेल जा चुका है. वह शातिर अपराधी है. डीएसपी ने बताया कि गत नौ मार्च को गोलीकांड के लिए बंधु शुक्ला ने हथियार उपलब्ध कराए थे और घटना के लिए भेजा था. इनकी गिरफ्तारी के बाद बंधु शुक्ला पुलिस का अगला टारगेट है. उसे भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जायेगा. गिरफ्तारी में डीएसपी के अलावा चैनपुर थाना प्रभारी व्यास राम, शहर थाना प्रभारी तरूण कुमार और लेस्लीगंज थाना प्रभारी राणा जंगबहादुर दल-बल के साथ शामिल थे.

इसे भी पढ़ें - बीजेपी के कई विधायक मुझसे संपर्क कर रहे हैं, लेकिन मुझे उनकी जरूरत ही नहीं : धीरज साहू

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...