पाकुड़ः उलझने लगा है चंदन के मौत का मामला, परिजनों ने पुलिस को दिया 72 घंटे काअल्टीमेटम

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 01/20/2018 - 21:53

Pakur: मालपहाड़ी ओपी क्षेत्र के पिपलजोडी खनन क्षेत्र में बुधवार की रात तथाकथित रूप से पश्चिम बंगाल का युवक चंदन बनर्जी के खदान में गिरकर घायल होने एवं मुरारोइ में मौत होने का मामला उलझता जा रहा है. मृतक चंदन बनर्जी के परिवार वालों का कहना है कि रवि खान नामक युवक सुबह में चंदन को बुलाकर ले गया था. देर रात तक जब वह वापस नही लौटा तो घर वालों ने चंदन के मोबाईल पर फोन किया. तब रवि खान ने फोन रिसीव किया और बताया कि चंदन दुर्घटना में घायल हो गया और वह मुरारोइ अस्पताल में भर्ती है. चंदन के घर वाले जब वहां पहुंचे तो देखा कि चंदन का लाश एम्बुलेंस में पड़ा था. इसका मतलब था कि चंदन की मौत अस्पताल पहुंचने से पहले हो चुकी थी.  इस लिए उसे इलाज के लिए भर्ती नही कराया जा सका और उसके दोस्तों ने चंदन के परिजनों से झूठ कहा. परिजनों के मुताबिक चंदन के मित्र रवि खान ने बताया था कि चंदन पीपलजोड़ी में खदान में गिरकर घायल हुआ था. तब उसे मालपहाड़ी पुलिस के सहयोग से पाकुड़ में इलाज क्यों नही कराया गया ? परिजनों ने पुलिस को 72 घंटे का अल्टीमेट भी दिया है. 

पुलिस ने जांच के लिए जिन युवकों को रोका था, उसमें चंदन नहीं था

मालपहाड़ी थाना प्रभारी एस एन दुबे का कहना है कि उस रात उन्होंने रवि खान सहित दो लड़कों को हिरासत में लिया था. उनमें कोई चंदन नामक युवक नही था. उन्होंने कहा कि तीनों लड़कों ने अपना परिचय राजग्राम व्यवसाई के रूप में दिया था. संतुष्ट होने के बाद ही तीनो को छोड़ दिया गया था.  तीनों लड़के अपने चार पहिया वाहन से वापस चले गए. सवाल उठता है कि क्या उक्त तीनों लड़के चार पहिया वाहन में अपने मित्र चंदन की कही और हत्त्या कर मालपहाड़ी थाना क्षेत्र में फेंकने आये थे ? और पुलिस को देख अन्य बहाना बनाकर वहां से पुनः लाश को लेकर चलते बने ! हो सकता है कि मित्रों में किसी बात को लेकर आपस मे लड़ाई हुई हो और अनजाने में चंदन की हत्त्या हो गई हो लाश ठिकाने न लगा पाने की स्थिति में उसके दुर्घटना और इलाज के बहाना कर उसके घर वालों को भरमाया गया हो. क्योंकि चंदन सहित चार मित्रों ने संध्या के साढ़े सात बजे के आस पास राजग्राम इलाके के ही किसी होटल में बैठकर पार्टी मनाई थी, जिसका फुटेज होटल के सीसीटीवी में रिकॉर्ड है. सवाल उठता है अगर दुर्घटना हुई तो चारों साथी एक ही फ़ॉर व्हीलर में थे, तो सिर्फ चंदन को ही गंभीर चोटें कैसे आई. कुल मिलाकर पूरा पूरा मामला इस तरह से उलझता जा रहा है. मुरारोइ पुलिस भी असमंजस में है.

बच्चों को अब भी चंदन के लौटने का इंतजार

मृतक चंदन के दो छोटे-छोटे बच्चे है. जो अभी भी अपने पिता के वापस लौटने के इन्तजार में है. पत्नी का रो रो कर बुरा हाल है और पूरा परिवार सदमे में है. हालांकि राजग्राम में चंदन के घर के आस पास जब मामले को लेकर इस संवादाता ने पूछताछ की तो प्रेम प्रसंग एवं अवैध संबंध के विषय मे भी दबी जुबान से लोगों ने चर्चा की. बताया जाता है चंदन की एक विवाहित महिला के साथ अवैध संबंध थे. यह भी बताया कि उक्त महिला चंदन की मित्र का रिश्तेदार है.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...

NEWSWING VIDEO PLAYLIST (YOUTUBE VIDEO CHANNEL)