पीएम मोदी स्वीडन पहुंचे, स्वीडिश पीएम ने हिन्दी में ट्वीट कर किया स्वागत

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 04/17/2018 - 17:02

Stockholm : सोमवार शाम एयर इंडिया के विशेष विमान से पीएम मोदी स्वीडन,  ब्रिटेन और जर्मनी की पांच दिवसीय यात्रा पर रवाना हुए थे. इस क्रम में मोदी सोमवार देर रात स्वीडन पहुंच गये. यहां स्वीडिश प्रधानमंत्री स्टेफन लोफवेन ने प्रोटोकॉल तोड़कर मोदी को रिसीव किया. लोफवेन ने मोदी का जोरदार स्वागत किया. बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी का विदेश में जोरदार स्वागत किया जाना अब कोई नयी बात नहीं रह गयी है. खास बात यह रही कि स्वीडिश पीएम ने पीएम मोदी के स्वागत में अपने ऑफिशियल ट्वीटर हैंडल पर मेादी का स्वागत हिंदी लिख कर किया  है.

इसे भी पढ़ें: झारखंड और बिहार में मनरेगा की सबसे कम मजदूरी, काम नहीं करना चाहते मजदूर

कॉमनवेल्थ हेड्स ऑफ गवर्नमेंट मीटिंग में शामिल होंंगे  पीएम मोदी

ट्वीटर  पर उन्होंने लिखा कि मैं मेरे प्रिय मित्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वीडन में हार्दिक स्वागत करता हूं. इस क्रम में उन्होंने लिखा कि मुझे विश्वास है कि यह ऐतिहासिक यात्रा मेरे 2016 मुंबई दौरे के बाद हो रही है, यह यादगार रहेगी और हमारे रिश्ते और भी मजबूत होंगे. उन्होंने अपने ट्वीट में सुस्वागतम भी लिखा है. यहां से मोदी  लंदन जायेंगे. वहां कॉमनवेल्थ हेड्स ऑफ गवर्नमेंट मीटिंग (सीएचओजीएम) में शामिल होंगे. जान लें कि 52 देशों के प्रतिनिधियों में से मोदी एकमात्र राष्ट्र प्रमुख हैं,  जिन्हें द्विपक्षीय बातचीत का न्यौता दिया गया है. मोदी सम्मेलन में भाग लेने वाले एक मात्र नेता हैं, जिन्हें लिमोजिन से सफर की इजाजत है. बाकी नेता बस से यात्रा करेंगे.

इसे भी पढ़ें: बिहार में शराब बंदी की हवा निकाल रहे थे एसएसपी विवेक कुमार, सीएम के आदेश के बाद कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मोदी का ब्रिटेन में अभूतपूर्व स्वागत होगा

मोदी का ब्रिटेन में अभूतपूर्व स्वागत होगा. ब्रिटेन के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार ब्रिटेन मोदी का इंतजार कर रहा है. मोदी बुधवार को ब्रिटिश पीएम टेरिजा के साथ दो बैठक करेंगे.  इस क्र में मोदी गुरुवार से शुरू हो रहे कॉमनवेल्थ सम्मेलन में  भाग लेंगे.  अधिकारियों के अनुसार 10 डाउनिंग स्ट्रीट में मोदी और टेरिजा परस्पर हित, सीमा पार आतंकवाद, वीजा और प्रवासियों के मुद्दे पर विमर्श करेंगे. साथ ही दोनों नेता लंदन के साइंस म्यूजियम जायेंगे.  वहां विज्ञान और नवाचार के पांच हजार साल विषयक प्रदर्शनी देखेंगे. मोदी  भारतीय मूल सहित अन्य वैज्ञानिकों से बात भी करेंगे.  स्वीडन में भारतीय राजदूत मोनिका कपिल मोहता ने बताया कि यह प्रधानमंत्री मोदी की ऐतिहासिक यात्रा है, क्योंकि भारत के पीएम 30 साल बाद स्वीडन आ रहे हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

loading...
Loading...