महिलाओं की बराबर भागीदारी सुनिश्चित करना हमारा कर्तव्य, न्यू इंडिया का सपना : मोदी

Publisher NEWSWING DatePublished Sun, 02/25/2018 - 13:23

New Delhi : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सामाजिक, आर्थिक जीवन के हर क्षेत्र में महिलाओं की बराबरी की भागीदारी सुनिश्चित करना हम सबका कर्तव्य, जिम्मेवारी और न्यू इंडिया का सपना है. उन्होंने सुझाव दिया कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर 100 वर्ष पूरा करने वाली महिलाओं के सम्मान में कार्यक्रम आयोजित किये जाएं. आकाशवाणी पर प्रसारित ‘मन की बात’ कार्यक्रम में अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि हर वर्ष 8 मार्च को ‘अन्तरराष्ट्रीय महिला-दिवस’ मनाया जाता है. देश और दुनिया में कई कार्यक्रम होते हैं. इस दिन देश में ‘नारी शक्ति पुरस्कार’ से ऐसी महिलाओं का सत्कार भी किया जाता है जिन्होंने बीते दिनों में भिन्न-भिन्न क्षेत्रों में अनुकरणीय कार्य किया हो.

इसे भी पढ़ें- 97 प्रतिशत लाभुक चाहते हैं डीबीटी सिस्‍टम वापस ले सरकार : सर्वे

महिलाओं की बराबरी की भागीदारी सुनिश्चित करना हम सबका कर्तव्य

उन्होंने कहा कि आज देश महिला विकास से आगे महिला नीत विकास की ओर बढ़ रहा है. आज हम महिला विकास से आगे महिला के नेतृत्व में विकास की बात कर रहे हैं. कहा कि आज सामाजिक, आर्थिक जीवन के हर क्षेत्र में महिलाओं की बराबरी की भागीदारी सुनिश्चित करना हम सबका कर्तव्य है, यह हम सबकी जिम्मेवारी है. उन्होंने कहा, ‘‘ हम उस परंपरा का हिस्सा हैं, जहां पुरुषों की पहचान नारियों से होती थी. यशोदा-नंदन, कौशल्या-नंदन, गांधारी-पुत्र, यही पहचान होती थी किसी बेटे की. आज हमारी नारी शक्ति ने अपने कार्यों से आत्मबल और आत्मविश्वास का परिचय दिया है. स्वयं को आत्मनिर्भर बनाया है.’’ 

इसे भी पढ़ें- अपने चाहने वालों को ‘सदमा’ दे कर चल बसीं ‘चांदनी’, दुबई में हार्ट अटैक से हुई मौत

नारी को सशक्त करना न्यू इंडिया का सपना

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ आख़िर हमारा ‘न्यू इंडिया’ का सपना यही तो है जहां नारी सशक्त हो, सबल हो, देश के समग्र विकास में बराबर की भागीदार हो.’’ उन्होंने कहा कि पिछले दिनों मुझे एक बहुत ही बढ़िया सुझाव मिला. यह सुझाव था कि 8 मार्च को ‘महिला दिवस’ मनाने के लिए भाँति- भाँति के कार्यक्रम होते हैं. क्या हर गांव-शहर में जिन्होंने 100 वर्ष पूर्ण किये हैं, ऐसी माताओं-बहनों के सम्मान का कार्यक्रम आयोजित हो सकता है क्या और उसमें एक लम्बे जीवन की बातें हों. ‘‘ मुझे विचार अच्छा लगा, आप तक पहुंचा रहा हूं.’’ 

इसे भी पढ़ें- जन वितरण प्रणाली में डीबीटी को तुरंत बंद करे सरकार : राशन बचाओ मंच

स्वामी विवेकानंद के विचारों को साझा किया

पीएम मोदी ने इस संबंध में महिला सशक्तिकरण पर स्वामी विवेकानंद के विचारों को साझा किया. उन्होंने झारखण्ड के एक समाचार का जिक्र किया जो नारी शक्ति से जुड़ा है. ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के अंतर्गत झारखण्ड में लगभग 15 लाख महिलाओं ने संगठित होकर एक माह का स्वच्छता अभियान चलाया. उन्होंने कहा कि झारखण्ड की इन महिलाओं ने दिखाया है कि नारी शक्ति, स्वच्छ भारत अभियान की एक ऐसी शक्ति है, जो सामान्य जीवन में स्वच्छता के अभियान को, स्वच्छता के संस्कार को प्रभावी ढंग से जन-सामान्य के स्वभाव में परिवर्तित करके रहेगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

एसपी जया राय ने रंजीत मंडल से कहा था – तुम्हें बच्चे की कसम, बदल दो बयान, कह दो महिला सिपाही पिंकी है चोर

बीजेपी पर बरसे यशवंतः कश्मीर मुद्दे से सांप्रदायिकता फैलायेगी भाजपा, वोटों का होगा धुव्रीकरण

अमरनाथ यात्रा पर फिदायीन हमले का खतरा, NSG कमांडो होंगे तैनात

डीबीटी की सोशल ऑडिट रिपोर्ट जारी, नगड़ी में 38 में से 36 ग्राम सभाओं ने डीबीटी को नकारा

इंजीनियर साहब! बताइये शिवलिंग तोड़ रहा कांके डैम साइड की पक्की सड़क या आपके ‘पाप’ से फट रही है धरती

देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद रामो बिरुवा की मौत

मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी वो मेरे रामः जशोदाबेन

दुनिया को 'रोग से निरोग' की राह दिखा रहा योग: मोदी

स्मार्ट मीटर खरीद के टेंडर को लेकर जेबीवीएनएल चेयरमैन से शिकायत, 40 फीसदी के बदले 700 फीसदी टेंडर वैल्यू तय किया

मोदी सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार ने निजी कारणों से दिया इस्तीफा

बीसीसीआई अधिकारियों को सीओए की दो टूकः अपने खर्चे पर देखें मैच