नोएडा में ‘फर्जी’ एनकाउंटर, प्रमोशन के लिए 2 लोगों को मारी गोली!

Publisher NEWSWING DatePublished Sun, 02/04/2018 - 12:57

Noida : उत्तर प्रदेश को क्राइम फ्री स्टेट बनाने के लिए यूपी पुलिस लगातार इनकाउंटर कर रही है. लेकिन, यूपी के नोएडा में एक एएसआई पर फर्जी एनकाउंटर का आरोप लगा है. एएसआई ने शनिवार देर रात एक गाड़ी पर फायरिंग की थी. इसमें दो लोगों को गोली लगी. एक युवक जीतेंद्र यादव की गर्दन और दूसरे युवक सुनील के पैर में गोली लगी. घायल जितेंद्र को फोर्टिस अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत बेहद गंभीर बनी हुई है. इसके बाद पीडि़त के परिजनों ने इस नकाउंटर को फर्जी करार दिया है. परिजनों का दावा है कि एएसआई ने प्रमोशन के लिए फर्जी एनकाउंटर किया. 

इसे भी पढ़ें- जो शहीद हो गए, उनके आश्रित को नौकरी कब मिलेगी यह पता नहीं, पर नक्सली को सरेंडर के समय ही नौकरी देने का प्रस्ताव

मामूली विवाद पर युवकों को मारी गोली

पीडि़त के परिजनों को आरोप है कि उसने मामूली विवाद पर स्कॉर्पियो सवार दो युवकों को गोली मारी. जितेंद्र के परिजनों का कहना है कि एएसआई का इरादा नकाउंटर करने का था. उन्होंने बताया कि शनिवार रात 10.30 बजे बहरामपुर से चार युवक स्कॉर्पियो में सवार होकर लौट रहे थे, तभी नोएडा के सेक्टर-122 में ठीक चौराहे पर पुलिस ने उनकी गाड़ी रोक ली. इसके बाद दारोगा ने स्कॉर्पियो सवार जीतेंद्र यादव की गर्दन और सुनील के पैर में गोली मार दी. 

इसे भी पढ़ें- भ्रष्टाचार का आरोप लगा कर सदन को घेरने वाला जेएमएम का एक विधायक निकला कोयला चोर, दूसरे पर हत्या का आरोप

दोस्तों को गवाही देने से मना कर रही पुलिस

पैर में गोली लगने के बाद जीतेंद्र का साथी सुनील और स्कॉर्पियो में सवार बाकी लडक़े घटनास्थल से भाग निकले. जीतेंद्र के परिजनों का यह भी आरोप है कि पुलिस स्कॉर्पियो सवार जीतेंद्र के दोस्तों को गवाही देने से मना कर रही है. साथ ही एनकाउंटर करने की धमकी दे रही है. यह मामला सामने आने के बाद एसएसपी लव कुमार ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है. अगर एएसआई दोषी पाया गया, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

top story (position)