नेशनल मेडिकल कमीशन परिचर्चा में बोले अध्यक्ष, नये कानून से चिकित्सा व्यवस्था हो जायेगी बर्बाद

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 03/08/2018 - 20:12

Ranchi : राजेन्द्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (रिम्स) के सभागार में नेशनल मेडिकल कमीशन परिचर्चा का आयोजन किया गया. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ रवि वांखेडकर ने परिचर्चा में हिस्सा लिया. इस अवसर पर  उन्होंने कहा कि आईएमए भारत के मॉडर्न मेडिसिन डॉक्टरों का सबसे बड़ी संगठन है. संगठन में तीन लाख से ज्यादा सदस्य और दो हजार शाखाएं हैं. उन्होंने कहा कि जनता की चिकित्सा व्यवस्था और आरोग्य की  संपूर्ण जिम्मेवारी आईएमए पर है, लेकिन केंद्र सरकार ऐसा कानून लाना चाहती है जिससे चिकित्सा व्यवस्था बर्बाद हो जायेगी. डॉ रवि ने यह भी कहा कि अन्य चिकित्सा पद्धति के डॉक्टरों को, छह माह का ब्रिज कोर्स करने के बाद एमबीबीएस के समतुल्य दर्जा मिलना भी सही नहीं है. नेशनल मेडिकल कमीशन बिल चिकित्सकों की नस्ल खराब करेगा. साथ ही चिकित्सा व्यवस्था को भी खराब कर देगा.

 25 फरवरी से जारी है जनसंपर्क यात्रा

 इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा भारत यात्रा जनसंपर्क आंदोलन की शुरुआत  25 फरवरी से कन्याकुमारी से की गयी है. जनसंपर्क यात्रा देश के सभी राज्यों में पहुंचेगी. यात्रा के क्रम में संगठन के लोग दौरा कर रहे हैं. यात्रा का उद्देश्य समाज से जुड़ना और संगठन को मजबूत करना है.

इसे भी पढ़ें - टीटीपीएस एमडी का मामला उठा रहा है सरकार की मंशा पर सवाल, इंटरव्यू के 103 दिन बीते पर संस्पेस अब-तक कायम

इसे भी पढ़ें - 12 हजार की नौकरी के लिए गये थे मलेशिया - अब भूखे मरने की नौबत, तीन महीने से एम्बेसी में फंसे, सुध लेने वाला कोई नहीं

दिल्ली में होगी महापंचायत

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन आगामी 25 मार्च को दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में महापंचायत का आयोजन करने जा रहा है. जहां सभी मुद्दों पर चर्चा की जायेगी. महापंचायत में सरकार के फैसले के खिलाफ रणनीति बनाकर आंदोलन तेज किया जायेगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप

बॉडी गार्ड की चाहत में जिप अध्यक्ष ने खुद पर करवायी फायरिंग, पकड़े गए अपराधियों ने किया खुलासा

गोड्डा मॉब लिंचिंग : सांसद निशिकांत ने कहा प्रशासन ने सही किया या गलत पता नहीं, लेकिन केस लड़ने के लिए आरोपियों की करेंगे मदद

समय पर बिजली बिल नहीं मिला तो लगेगा 420 वोल्ट का झटका, जेबीवीएनएल को नहीं कोई फिकर

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन पर मानवाधिकार परिषद लेगी फैसला : यूएन 

शुजात बुखारी को उनके पैतृक गांव में दफनाया गया, जनाजा में बड़ी संख्या में उमड़ी थी भीड़