माओवादियों का साउथ एशिया प्रवक्ता अभय नायक दिल्ली हवाई अड्डे से गिरफ्तार

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 06/14/2018 - 18:02

New Delhi: प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के साउथ एशिया प्रवक्ता अभय नायक उर्फ लोड्डा को छत्तीसगढ़ की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. अभय नायक गत छह जून को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था. वह रोना विलसन और नागपुर के प्रोफेसर सोमा सेन का करीबी था. सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने छह जून को गिरफ्तार दोनों व्यक्तियों से पूछताछ में मिली जानकारी के आधार पर ही अभय नायक को गत एक जून को दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया है. 

जानकारी के मुताबिक अभय नायक पिछले कई सालों से पुलिस के लिए पहेली बना हुआ था. अभय के बारे में पुलिस को सबसे पहले पिछले साल बस्तर में गिरफ्तार नक्सलियों ने जानकारी दी थी.  वह भाकपा माओवादी संगठन का प्रोपेगेंडा फैलाता था. संगठन के पक्ष में लेख और ब्लॉग लिखता था. उसके नाम से ही संगठन का प्रेस बयान जारी किया जाता था. नक्सलियों ने पुलिस को बताया था कि अभय ही संगठन के लिए अॉनलाइन सामग्री, प्रेस बयान और लेख तैयार करता है.

इसे भी पढ़ें - फीस के नाम पर एक साल में 80 लाख की अवैध वसूली कर रहा सिल्ली पॉलिटेक्निक

पुलिस ने अभय के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया था

छत्तीसगढ़ में एंटी नक्सल ऑपरेशन के डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस डीएम अवस्थी ने मीडिया को जानकारी दी है कि वर्ष 2017 में पुलिस ने अभय के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया था. अभय पिछले कई वर्षों से विदेशों में यात्रा करता रहा है. उन देशों में यह धन और समर्थन जुटाने के लिए जाता रहा था. वह बेल्जियम, फ्रांस, यूके, मेक्सिको, इक्वेडोर, बोलिविया, कंबोडिया, सिंगापुर, इंडोनेशिया, रसिया और नेपाल आदि देशों की यात्रा पर भी गया था. इसके पास से लैपटॉप, पेन ड्राइव, हार्ड डिस्क एवं माओवादी साहित्य जब्त किया गया है. जब्त सामग्रियों से पता चलता है कि इसके भारत और दुनियाभर के माओवादी नेताओं और माओवाद से सहानुभूति रखने वाले लोगों से संम्बंध हैं. इसके पास से ऐसे कई साक्ष्य मिले हैं, जिसके आधार पर भविष्य में अनेक गिरफ्तारियां संभव हैं.

इसे भी पढ़ें - सरकारी शराब सिंडिकेटः कैबिनेट के फैसले को पलट कर सहायक उत्पाद आयुक्त को बनाया पपेट, जिला में आयुक्त सिर्फ ओके बटन दबाते हैं (3)

2008 में अभय ने इंडिया माइक्रो फाइनांस कंपनी के नाम से एक कंपनी भी शुरू किया था. और इसी कंपनी के नाम से ब्लॉग भी चलाता था. अभय की कंपनी में बहुत बड़ी मात्रा में पैसे का ट्रांजेक्शन हुआ है. पुलिस इस बात का जांच कर रही है कि किन किन लोगों द्वारा और किन किन देशों से इसको धन प्राप्त हुआ है. यह माओवादी को-ऑर्डिनेशन कमिटी (MCC) और संबंधित संगठनों का साउथ एशिया का काम देखता था. यह अर्बन माओइस्ट नेटवर्क का बहुत मजबूत लिंक था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

top story (position)
na
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

“महिला सिपाही पिंकी का यौन शोषण करने वाले आरोपी को एसपी जया रॉय ने बचाया, बर्खास्त करें”

यूपीः भीषण सड़क हादसे में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

16 अधिकारियों का तबादला, अनिश गुप्ता बने रांची के एसएसपी, कुलदीप द्विवेदी गए चाईबासा

नोटबंदी के दौरान अमित शाह के बैंक ने देश भर के तमाम जिला सहकारी बैंक के मुकाबले सबसे ज्यादा प्रतिबंधित नोट एकत्र किए: आरटीआई जवाब

एसपी जया राय ने रंजीत मंडल से कहा था – तुम्हें बच्चे की कसम, बदल दो बयान, कह दो महिला सिपाही पिंकी है चोर

बीजेपी पर बरसे यशवंतः कश्मीर मुद्दे से सांप्रदायिकता फैलायेगी भाजपा, वोटों का होगा धुव्रीकरण

अमरनाथ यात्रा पर फिदायीन हमले का खतरा, NSG कमांडो होंगे तैनात

डीबीटी की सोशल ऑडिट रिपोर्ट जारी, नगड़ी में 38 में से 36 ग्राम सभाओं ने डीबीटी को नकारा

इंजीनियर साहब! बताइये शिवलिंग तोड़ रहा कांके डैम साइड की पक्की सड़क या आपके ‘पाप’ से फट रही है धरती

देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद रामो बिरुवा की मौत