इंपैक्ट कॉलेज में कैंपस प्लेसमेंट में कई छात्र सफल, कॉलेज में उत्साह का माहौल

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 03/07/2018 - 10:45

Patna: कठिन परिश्रम, संकल्प, शिक्षकों के समर्पण व सहयोग और प्रबंधन की कुशल दूरदर्शिता से इम्पैक्ट कॉलेज के अंतिम सत्र के छात्र गोविन्द नाथ सिंह, सिम्मी साहा, सौरव रंजन, अंकित, आदर्श, अरुणिमा, अमित राज, रिशा राज, निरंजन दर्शन, संदीप कुमार, और स्नेहा सहित कई अन्य छात्रों का प्लेसमेंट आकर्षक पैकेज के साथ दिल्ली की कंपनी, पीस सॉफ्ट टेक में हुई. विद्यार्थियों का साक्षात्कार विगत शनिवार को दो चरणों में हुआ, जिसमें बीबीए, बीसीए और बी सीपी के अंतिम वर्ष के छात्रों ने भाग लिया.

इसे भी पढ़ें: पावर डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन में इंजीनियर और मैनेजर बनने का मौका, अंतिम तिथि 19 मार्च

चयनित छात्रों को शीघ्र दिया जाएगा ऑफर लेटर

पीस सॉफ्ट टेक के प्रतिनिधि हरी ओम ने इम्पैक्ट के छात्रों के जवाब और आत्मविश्वास पर काफी प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि शीघ्र ही चयनित छात्रों को ऑफर लेटर दिया जायेगा. विदित हो कि इंपैक्ट कॉलेज, पटना में इन दिनों कैंपस प्लेसमेंट की धूम है. पिछले दिनों भी कई प्लेसमेंट साक्षात्कार आयोजित हुए हैं. सन फार्मास्यूटिकल्स ने इसी सप्ताह कॉलेज में प्लेसमेंट के उद्देश्य से साक्षात्कार आयोजित कर कई विद्यार्थियों को अगले चरण के लिए चयनित किया है.

इसे भी पढ़ें: रांची यूनिवर्सिटी की रिसर्च फेलो ने दुबई में दिखाई प्रतिभा. शोध पत्र प्रस्तुत किया

सन फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने भी किया प्लेसमेंट का आयोजन

सन फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज लिमिटेड के इस साक्षात्कार में प्रबंधन संकाय के चंदन कुमार यादव, सिद्धांत शेखर कंप्यूटर संकाय के गोविन्द नाथ सिंह, रवि झा, विश्वजीत आनंद, बी. कॉम प्रोफेशनल संकाय के आकाश चंद्र सहित कई विद्यार्थियों ने भाग लिया. सभी विद्यार्थियों को प्लेसमेंट साक्षात्कार के पूर्व प्रोजेक्ट भी दिये गये थें, जिसे विद्यार्थियों ने व्याख्याता डॉ नवनीत कुमार, अनूप कुमार, दिवाकर कुमार, अर्जुन प्रसाद, अपर्णा गौड़, राजीव कुमार और एसपी चंद्रवंशी के मार्गदर्शन में पूरा किया.

इसे भी पढ़ें: UPSC के जरिये नौकरी का सुनहरा मौका, अंतिम तिथि 15 मार्च

छात्रों का पलायन रोकना मुख्य उद्देश्य : मनीष कुमार 

कॉलेज के निदेशक मनीष कुमार ने बताया कि उच्च गुणवत्ता के कर्मचारियों का चयन कम्पनी की प्राथमिकता है और संस्थान का उद्देश्य उस मांग को पूरी करना है.  उन्होंने बताया कि बिहार से छात्रों का पलायन रोकना और उन्हें गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना इम्पैक्ट कॉलेज के प्रमुख्य उदेश्यों में अग्रणी है. निदेशक ने बताया कि इम्पैक्ट कॉलेज में बिहार के साथ-साथ झारखंड और देश के अन्य राज्यों से विद्यार्थी व्यावसायिक शिक्षा के लिए आते हैं. श्री कुमार ने प्रबंधन, वाणिज्य और कंप्यूटर संकाय से अंतिम सत्र के विद्यार्थियों की सफलता पर उन्हें बधाई दी और उनके उज्ज्वल भविष्य के लिये शुभकामनायें भी दी.

इसे भी पढ़ें: ग्रेजुएट्स के लिए सरकारी नौकरी का मौका,अंतिम तिथि 27 मार्च

कई कंपनियों ने कॉलेज से संपर्क किया है :  सचिन भास्कर

प्राचार्य सचिन भास्कर ने बताया कि इम्पैक्ट कॉलेज प्रबंधन, कंप्यूटर, बी.कॉम प्रोफेशनल और मीडिया संकाय के अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों के प्लेसमेंट के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने बताया कि पिछले महीने टीसीएस जैसी बड़ी कम्पनी ने कॉलेज के विद्यार्थियों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए संपर्क किया. ऑनलाइन आयोजित हुए इस परीक्षा में कॉलेज के कई विद्यार्थियों का चयन अगले चरण के लिए किया गया और ‘सर्टिफिकेट ऑफ कम्पलीशन’ के रूप में प्रमाण पत्र भी दिया गया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप

बॉडी गार्ड की चाहत में जिप अध्यक्ष ने खुद पर करवायी फायरिंग, पकड़े गए अपराधियों ने किया खुलासा

गोड्डा मॉब लिंचिंग : सांसद निशिकांत ने कहा प्रशासन ने सही किया या गलत पता नहीं, लेकिन केस लड़ने के लिए आरोपियों की करेंगे मदद

समय पर बिजली बिल नहीं मिला तो लगेगा 420 वोल्ट का झटका, जेबीवीएनएल को नहीं कोई फिकर

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन पर मानवाधिकार परिषद लेगी फैसला : यूएन 

शुजात बुखारी को उनके पैतृक गांव में दफनाया गया, जनाजा में बड़ी संख्या में उमड़ी थी भीड़