बीजेपी के कई विधायक मुझसे संपर्क कर रहे हैं, लेकिन मुझे उनकी जरूरत ही नहीं : धीरज साहू

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 03/17/2018 - 17:50

Akshay Kumar Jha

Ranchi : एक हफ्ते के बाद राज्यसभा चुनाव के लिए वोट डाला जाना है. बीजेपी बनाम क्रांगेस प्लस झामुमो का सीन झारखंड में बना हुआ है. बीजेपी की तरफ से दो-दो उम्मीदवार उतारे जाने से चुनाव रोमांच के अपने चरम पर है. कयास का दौर जारी है. कोई भी राजनीतिक पंडित यह नहीं कह पा रहा है कि निश्चित तौर पर जीत किसकी होगी. सिर्फ बीजेपी के उम्मीदवार समीर उरांव की जीत पक्की मानी जा रही है. कुछ विधायकों के पास दोनों तरफ की पार्टियां अपरोच कर रही हैं. जिन्हें सदन में या कहें सूबे में कहीं कद नहीं मिलता, वैसे विधायकों की चांदी है. उन्हें कांग्रेस, झामुमो और बीजेपी की तरफ से खूब प्यार मिल रहा है. इधर न्यूज विंग से बात करते हुए राज्यसभा के सबसे चर्चित उम्मीदवार प्रदीप सोंथालिया ने कहा है कि उन्हें जीत हार का नहीं पता, पार्टी जाने रणनीतियों के बारे में. वो तो बस पार्टी के कहने पर चुनाव में खड़े हो गए हैं. उसी कड़ी में कांग्रेस और झामुमो की तरफ से संयुक्त उम्मीदवार धीरज साहू ने न्यूज विंग से बात की और बड़ी बेबाकी से अपनी बातों को रखा.

इसे भी पढ़ें -  जीत हार सब पार्टी जाने , मुझे आदेश मिला तो मैं उम्मीदवार बन गया : सोंथालिया

हां हो रहा है हॉर्सट्रेडिंग, बीजेपी की फितरत से सभी वाकिफ

न्यूज विंग से विशेष बातचीत में कांग्रेसी उम्मीदवार धीरज साहू ने कहा कि कांग्रेसी खेमे में किसी तरह का कोई प्रॉब्लम नहीं है. पूछे जाने पर कि झामुमो के कुछ विधायक क्रॉस वोटिंग कर सकते हैं. श्री साहू ने कहा कि यह सवाल मेरे से नहीं पूछा जाना चाहिए. यह सवाल झामुमो से पूछे कि उनके कौन विधायक नाराज हैं. कहा मुझे जीत का पक्का भरोसा है. कांग्रेस के सभी सहयोगी पार्टी एक साथ है. सभी खूंटे की तरह एक साथ खड़े हैं. हॉर्स ट्रेडिंग के सवाल पर श्री साहू ने कहा कि हॉर्स ट्रेडिंग तो हो ही रहा है. करने वाला और कोई नहीं बल्कि बीजेपी है. इनकी फितरत ही हॉर्स ट्रेडिंग की है. जब बीजेपी किसी राज्य में दो विधायक जीतने के बाद सरकार बना सकती है तो इससे जाहिर है कि हॉर्स ट्रेडिंग में बीजेपी कितनी माहिर है. लेकिन बीजेपी मुगालते में ना रहे. जनता उनकी सच्चाई जान चुकी है. यूपी और बिहार के चुनाव ने बीजेपी को सच बताने का काम किया है. बीजेपी को इससे सबक लेनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें - गोरक्षा के नाम पर रामगढ़ में हुई अलीमुद्दीन हत्याकांड में आठ आरोपी दोषी करार

मुझे बीजेपी के विधायकों की कोई जरूरत नहीं है

न्यूज विंग से खास बातचीत के दौरान धीरज साहू ने कहा कि मैं बताना चाहूंगा कि बीजेपी के कुछ विधायकों ने मुझसे संपर्क किया है. वो मुझे वोट देना चाहते हैं, लेकिन मैंने साफ मना कर दिया. क्योंकि मुझे उनकी वोट की जरूरत ही नहीं है. मेरे पास पहले से ही जीत का आंकड़ा है. पूछे जाने पर कौन से विधायकों ने संपर्क किया तो श्री साहू ने नाम बताने से मना कर दिया. कहा कि क्रांगेस, झामुमो और जेवीएम के सभी विधायकों का वोट उन्हें मिल रहा है. इतना ही वोट मिल जाये तो जीत निश्चित है. इसलिए बीजेपी के विधायकों का वोट उन्हें चाहिए ही नहीं.

इसे भी पढ़ें -भ्रष्टाचार पर करारा प्रहार के नाम पर सिर्फ छोटे कर्मियों और अधिकारियों पर चला सरकारी डंडा, एसीबी की कार्रवाई पर झारखंड सरकार थपथपा रही अपनी पीठ

जेवीएम नाराज नहीं, बाबूलाल ने खुद बयान दिया है

पूछे जाने पर कि आखिर क्यों जेवीएम के तरफ से एक भी प्रस्तावक आपके लिए नहीं बने धीरज साहू ने कहा कि प्रस्तावक बनना अलग बात है. जरूरी नहीं कि वो ही आपके साथ रहे जो प्रस्तावक बना हो. जेवीएम के दोनों विधायकों का वोट मुझे मिलना तय है. इस बारे में बाबूलाल मरांडी ने मीडिया के सामने बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि उनकी पार्टी मेरे साथ है. एक सवाल के जवाब में श्री साहू ने कहा कि हेमंत सोरेन का एलिफैंट ट्रेडिंग कहना बिकुल सही है. कहा कि हेमंत एक सुलझे हुए राजनेता हैं. उनकी सोच और समझ में काफी परिपवक्ता है. अगर उन्होंने ऐसा कहा है तो बिलकुल सही कहा है.

इसे भी पढ़ें - चुनाव आयोग ने राज्य सरकार से फिर कहा, एडीजी अनुराग गुप्ता और मुख्य मंत्री के प्रेस सलाहकार अजय कुमार पर दर्ज करें प्राथमिकी

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Main Top Slide
City List of Jharkhand
loading...
Loading...