समावेशी वृद्धि सूचकांक में चीन और पाकिस्तान से भी पीछे है भारत, दावोस सम्मलेन से पहले एक और हकीकत

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 01/22/2018 - 15:22

डब्ल्यूईएफ की समावेशी वृद्धि की सूची में भारत 62वें स्थान पर

Davos : समावेशी वृद्धि सूचकांक मामले में भारत, चीन और पाकिस्तान से भी पीछे है. उभरती अर्थव्यवस्थाओं में भारत का स्थान जहां 62वां है, वहीं चीन 26वां और पाकिस्तान 47वां स्थान पर है. आज अपनी सालाना शिखर बैठक शुरू होने से पहले (डब्ल्यूईएफ) ने यह सूची जारी की है. सूची के अनुसार नॉर्वे दुनिया की सबसे समावेशी आधुनिक विकसित अर्थव्यवस्था बना हुआ है. वहीं लिथुआनिया उभरती अर्थव्यवस्थाओं में शीर्ष पर है.

इसे भी पढ़ेंः गुजरात बम धमाका 2008 का मास्टरमाइंड दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में

डब्ल्यूईएफ की वार्षिक शिखर बैठक में नरेंद्र मोदी, डोनाल्ड ट्रंप सहित दुनिया के कई शीर्ष नेता भाग ले रहे

डब्ल्यूईएफ ने विश्व नेताओं से कहा कि वे तेजी से समावेशी वृद्धि और विकास के नए माडल की ओर बढ़ें. मंच ने कहा कि आर्थिक मोर्चे पर उपलब्धि हासिल करने के लिए सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) पर निर्भरता बढ़ने से असमानता की स्थिति पैदा हो रही है. भारत पिछले साल 79 विकासशील

Indo-China-Pak, India laging in Inclusive growth Index
Indo-China-Pak, India laging in Inclusive growth Index

अर्थव्यवस्थाओं में 60वें स्थान पर था, जबकि चीन 15वें और पाकिस्तान 52वें स्थान पर था. डब्ल्यूईएफ की वार्षिक शिखर बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सहित दुनिया के कई शीर्ष नेता भाग ले रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः मुजफ्फरनगर दंगा मामलाः भाजपा नेताओं के खिलाफ केस वापस लेने की तैयारी कर रही सरकार

पहले हिस्से में 29 विकसित अर्थव्यवस्थाओं तथा दूसरे में 74 उभरती अर्थव्यवस्थाओं को शामिल किया गया

डब्ल्यूईएफ के अनुसार इस सूचकांक में रहन सहन का स्तर, पर्यावरण की दृष्टि से टिकाऊपन और भविष्य की पीढ़ियों को और कर्ज के बोझ से संरक्षण

आदि पहलुओं को शामिल किया जाता है. वर्ष 2018 के इंडेक्स में 103 अर्थव्यवस्थाओं की प्रगति का आकलन तीन निजी स्तंभों....वृद्धि एवं विकास, समावेशन और अंतर पीढ़ी इक्विटी के आधार पर किया गया है. इसे दो हिस्सों में बांटा गया है. पहले हिस्से में 29 विकसित अर्थव्यवस्थाओं तथा दूसरे में 74 उभरती अर्थव्यवस्थाओं को शामिल किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः दिल्ली मेट्रो में महिला के पास मिली 0.32 बोर की 20 गोलियां, 26 जनवरी को लेकर पुलिस सतर्क

भारत का स्थान उन दस उभरती अर्थव्यवस्थाओं में हैं जो बढ़ रही हैं

ब्रिक्स देशों में रूस 19वें, चीन 26वें, ब्राजील 37वें, भारत 62वें और दक्षिण अफ्रीका 69वें स्थान पर है. भारत का कुल अंक निचले स्तर पर हैं, लेकिन इसके बावजूद वह उन दस उभरती अर्थव्यवस्थाओं में हैं जो बढ़ रही हैं. विकसित अर्थव्यवस्थाओं में नॉर्वे के बाद आयरलैंड, लग्जमबर्ग, स्विट्जरलैंड और डेनमार्क शीर्ष पांच में शामिल हैं. सूचकांक में शीर्ष पर छोटे यूरोपीय देश हैं. शीर्ष दस में नौवें स्थान पर आस्ट्रेलिया एकमात्र गैर यूरोपीय देश है्र. जी-7 अर्थव्यवस्थाओं में जर्मनी 12वें, कनाडा 17 वें, फ्रांस 18वें, ब्रिटेन 21वें, अमेरिका 23वें, जापान 24वें और इटली 27वें स्थान पर है. शीर्ष पांच समावेशी उभरती अर्थव्यवस्थाओं में लुथिआना, हंगरी, अजरबैजान, लातविया और पोलैंड है. इस इंडेक्स में पांच चाल के समावेशी विकास एवं वृद्धि के रुख पर विभिन्न देशों को पांच उप श्रेणियों में वगीकृत किया गया है. यह है घटना, धीरे-धीरे घटना, स्थिर, धीमी वृद्धि या वृद्धि.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.