कठुआ और उन्नाव गैंगरेप के बाद भाजपा के प्रति लोगों में आक्रोश, मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बीजेपी नेताओं के बैन का बैनर टंगा

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 04/17/2018 - 17:05

Varanashi : कठुआ और उन्नाव गैंगरेप के मामले के बाद जनता में भारी आक्रोश है. लोगों का आक्रोश अब बैनर-पोस्टर के माध्यम से बाहर निकल रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कुछ दिन पहले एक बैनर देखा गया जिसमें लिखा था कि इस मुहल्ले में बच्चियां और महिलाएं रहती है. यहां भाजपा नेता और कार्यकर्ताओं का आना मना है. बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं पर बैन से जुड़े बैनर की सूचना पर पुलिस हरकत में आयी और सभी जगहों से बैनर और पोस्टर को हटवाया गया. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

इसे भी पढ़ें - उन्नाव कांड में CBI को सेंगर ने बताया- घटना वाले दिन कानपुर में मना रहा था किसी का बर्थ डे पार्टी, पुलिस चाहे तो निकलवा ले मोबाइल का लोकेशन

इससे पहले इलाहाबाद के एक मुहल्ले में भी इसी तरह का बैनर टंगा मिला था

गौरतलब है कि काशी से पहले कुछ इसी तरह का बैनर-पोस्टर बाबा विश्वनाथ की नगरी से सटे इलाहाबाद के एक मुहल्ले में टंगा मिला था. सोमवार 16 अप्रैल को बनारस के नई सड़क इलाके इसी तरह का बैनर टंगा देखा गया. वह इलाका मुस्लिम बहुल इलाका है. बैनर में लिखा था, इस मुहल्ले में बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं का आना मना है, क्योंकि यहां महिलाएं और बच्चियां रहती हैं. बैनर में निवेदक के नाम के आगे समाजवादी पार्टी (सपा) नेता अहमद रजा उर्फ बाबू का नाम लिखा है, जबकि स्थानीय लोगों ने इस बैनर के बारे में कोई जानकारी न होने की बात कही.

इसे भी पढ़ें - उन्नाव गैंगरेप मामला : भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर सात दिनों की सीबीआई रिमांड पर,  रुआंसे विधायक को याद आये भगवान

मामले में एक वीडिियो क्लिप भी जारी हुई है

मामले में एक वीडियो क्लिप भी जारी हुई है. जिसमें दशाश्वमेध पुलिस चौराहे पर लगे भाजपा विरोधी बैनर को हटवाती नजर आ रही है. पुलिस ने बताया कि वॉट्सएप पर इस बैनर को लेकर शिकायत मिली थी. जिसे हटा लिया गया है.

 न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

Main Top Slide
loading...
Loading...