गोवा पहुंची कर्नाटक की जंग, बड़ी पार्टी होने के नाते हमें मिले मौका-कांग्रेस

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 05/17/2018 - 17:00

NewDelhi: कर्नाटक में चुनावी नतीजे आने के बाद से जारी सियासी ड्रामा खत्म होने का नाम नहीं ले रहा. वही अब कर्नाटक की लड़ाई गोवा पहुंच गयी है. येदियुरप्पा सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कांग्रेस के गोवा के प्रदेश अध्यक्ष गिरीश चोडणकर ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मिलने का समय मांगा है. खबर है कि कांग्रेस राज्यपाल से मुलाकात कर गोवा में भी कर्नाटक फॉर्मूला अपनाने की अपील कर सकती है. जैसे कर्नाटक के राज्यपाल ने बड़ी पार्टी होने के नाते बीजेपी को सरकार बनाने का न्यौता दिया, उसी आधार पर गोवा कांग्रेस का कहना है कि, तो गोवा में भी ऐसा ही होना चाहिए. इतना ही नहीं बिहार में भी राजद के तेजस्वी यादव राज्यपाल से मिलेंगे और सबसे बड़ी पार्टी होने का तर्क रखेंगे.

इसे भी पढ़ेंःजेठमलानी पहुंचे सुप्रीम कोर्ट, कर्नाटक के राज्यपाल के फैसले को 'संवैधानिक शक्ति का घोर दुरुपयोग' बताया

गोवा कांग्रेस हुई एक्टिव

.,,,

कर्नाटक में बीजेपी सरकार के खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रही कांग्रेस के नेता और गोवा के प्रदेश अध्यक्ष ने गुरुवार दोपहर को ट्वीट किया, '' जिस प्रकार कर्नाटक के गवर्नर ने सबसे बड़ी टीम को सरकार बनाने का न्योता भेजा है, क्यों ना यहां भी इसी प्रकार का अवसर कांग्रेस को दिया जाए.'' एक ही देश के दो राज्यों में अलग-अलग नियम क्यों. मिली जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार सुबह गोवा में कांग्रेस नेताओं का प्रतिनिधिमंडल गवर्नर से मुलाकात कर सकता है. इसके अलावा कांग्रेस अपने सभी विधायकों की गवर्नर के सामने परेड भी करवा सकती है. दरअसल गोवा विधानसभा के नतीजे भी बिल्कुल कर्नाटक जैसे थे. 40 सीटों वाले विधानसभा में कांग्रेस 16 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी, लेकिन बहुमत से दूर रही थी. बीजेपी ने 14 सीटों पर कब्जा जमाया था और अन्य दलों के साथ मिलकर सरकार बना ली थी.

तेजस्वी भी सक्रिय

सरकार बनाने की खींचतान, गोवा की तरह बिहार में भी राजद एक्टिव हो गई है. पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने राज्यपाल से मिलने का समय मांगा है. कर्नाटक में भाजपा सरकार बनने के बाद लालू प्रसाद के बेटे और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने सवाल करते हुये कहा कि भाजपा हर मामले में अपना सिक्का चलाना चाहती है. चित भी उनकी, पट भी उनका. तेजस्वी ने कहा कि कर्नाटक में अगर राज्यपाल भाजपा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित कर सकते हैं तो राष्ट्रपति से हमारी मांग है कि बिहार में बनी गठबंधन की सरकार को बर्खास्त कर राजद को सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए. क्योंकि बिहार में सबसे बड़ी पार्टी राजद है,  इसलिए यहां राजद को सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए.

इसे भी पढ़ेंः कर्नाटक में सरकार बनाने पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुख्य बिंदु

गौरतलब है कि कर्नाटक में येदियुरप्पा की सरकार बनने के बाद से कांग्रेस लगातार हमलावर है. कर्नाटक विस के पास कांग्रेस-जेडीएस विधायक धरने पर बैठे, वही मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच चुका है. शुक्रवार सुबह येदियुरप्पा के सरकार बनाने के मामले को लेकर फिर से सुनवाई होगी. इनसबके देखनेवाली बात होगी कि बीजेपी बहुमत किस तरह से जुटाती है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na