कर्नाटक : ठीक चुनाव से पहले बीजेपी में शामिल हुये उद्योगपति राजीव चंद्रशेखर, कांग्रेस शासन को बताया सबसे काला समय

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 03/13/2018 - 12:48

Bengaluru :  कर्नाटक से ऊपरी सदन के लिए द्विवार्षिक चुनाव के लिये पार्टी की तरफ से राज्यसभा प्रत्याशी बनाये जाने के एक दिन बाद निर्दलीय राज्यसभा सदस्य राजीव चंद्रशेखर सोमवार को बीजेपी में शामिल हो गये. वो ठीक चुनाव से पहले पार्टी में शामिल हुये हैं. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बी एस येदियुरप्पा, जगदीश शेट्टार और शोभा करंदलाजे सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में चंद्रशेखर पार्टी में शामिल हुये.

इसे भी पढ़ें- सीलिंग विरोध में दल्ली बंद : केजरीवाल ने बुलायी सर्वदलीय बैठक, कांग्रेस का मिला साथ, भाजपा ने किया बहिष्कार

इसे भी पढ़ें- दिल्ली मुख्य सचिव बदसुलूकी मामले में केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन ने दिया इस्तीफा

कांग्रेस सरकार के शासन को चंद्रशेखर ने बताया सबसे काला समय

बीजेपी में शामिल होने के बाद चंद्रशेखर ने कहा कि उनका पहला लक्ष्य यह है वह भाजपा को मजबूत करें. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि कर्नाटक में आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस सरकार को बदलकर बीजेपी की सरकार लाने का प्रयास करेंगे. गौरतलब है कि इस वक्त कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार है. इसी को लेकर चंद्रशेखर ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुये कहा कि मौजूदा शाशन कर्नाटक का सबसे काला समय है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर कांग्रेस सरकार को पांच साल और शाशन करने को मिल जायेगा तो कर्नाटक और बेंगलुरु ऐसे स्थिति में पहुंच जायेगा कि वह फिर वापस नहीं आ पायेगा. उल्लेखनीय है कि कर्नाटक विधानसभा में कुल 224 सीटें हैं. जिसमें बीजेपी के पास कुल 43 सीटें हैं.

बीजेपी में शामिल हुये उद्योगपति राजीव चंद्रशेखर
बीजेपी में शामिल हुये उद्योगपति राजीव चंद्रशेखर

इसे भी पढ़ें- रांची के गर्ल्स स्कूल की पूर्व छात्राओं को टार्गेट कर रहे हैं साइबर अपराधी, चैटिंग में अश्लील मैसेज कर करते हैं ब्लैकमेल

इसे भी पढ़ें- हथियार बनाने की तमाम योजनाओं के बाद भी दुनिया का सबसे ज्यादा हथियार खरीदने वाला देश बना हुआ है भारत

इसे भी पढ़ें- सभी मामलों से बरी हो गया 25 लाख का ईनामी नक्सली छोटा विकास उर्फ चश्मा, रिहाई के बाद डीसी ने किया स्वागत

कौन है राजीव चंद्रशेखर

राजीव चंद्रशेखर के बारे में बता दें कि वह कर्नाटक के उद्योगपरी व एंटरप्रेन्योर हैं. उन्होंने अपने करियर की शुरुआत एक आइटी फर्म से की थी. साल 1918 में इस आइटी फर्म को शुरू किया था. इसके बाद साल 1994 में उन्होंने बीपीएल मोबाइल की स्थापना की थी. लेकिन बाद में उन्होंने 1.1 बिलियन डॉलर में 64 प्रतिशत हिस्सेदारी एस्सार ग्रुप को बेच दी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

स्मार्ट मीटर खरीद के टेंडर को लेकर जेबीवीएनएल चेयरमैन से शिकायत, 40 फीसदी के बदले 700 फीसदी टेंडर वैल्यू तय किया

मोदी सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार ने निजी कारणों से दिया इस्तीफा

बीसीसीआई अधिकारियों को सीओए की दो टूकः अपने खर्चे पर देखें मैच

टीटीपीएस गाथा : शीर्ष अधिकारी टीटीपीएस को चढ़ा रहे हैं सूली पर, प्लांट की परवाह नहीं, सबको है बस रिटायरमेंट का इंतजार (2)

धोनी की पत्नी को आखिर किससे है खतरा, मांग डाला आर्म्स लाइसेंस

हजारीबाग डीसी तबादला मामला : देखें कैसे बीजेपी के जिला अध्यक्ष कर रहे हैं कन्फर्म  

न्यूज विंग की खबर का असर :  फर्जी  शिक्षक नियुक्ति मामले में तत्कालीन डीएसई दोषी करार 

बिजली बिल के डिजिटल पेमेंट से मिलता है कैशबैक, JBVNL नहीं शुरू कर पायी है डिजिटल पेमेंट की व्यवस्था

स्वीकार है भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की खुली बहस वाली चुनौती : योगेंद्र प्रताप

लाठी के बल पर जनता की भावनाओं से खेल रही सरकार, पांच को विपक्ष का झारखंड बंद : हेमंत सोरेन   

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट