बोकारो में भारत सरकार के संयुक्त सचिव ने कहा- नक्सल प्रभावित क्षेत्र में सड़कों एवं आधुनिक संचार माध्यमों का विकास किया जाना आवश्यक

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 04/18/2018 - 21:50

Bokaro : भारत सरकार के संयुक्त सचिव सह बोकारो जिला प्रभारी पदाधिकारी संजय प्रसाद की अध्यक्षता में जिले के विकास एवं वामपंथ उग्रवाद (एलडब्लूई) प्रभावित क्षेत्र के विकास से संबंधित समीक्षा बैठक समाहरणालय सभाकक्ष में आयोजित की गई. संयुक्त सचिव श्री प्रसाद ने कहा कि जिले के विकास हेतु स्वास्थ्य, सड़क, स्वच्छता, कृषि एवं पेयजल का विकास करना भारत सरकार की प्राथमिकता सूची में है. साथ ही नक्सल प्रभावित क्षेत्र में आधारभूत सुविधाओं जैसे सड़क, बिजली, पानी और मोबाईल टावरों को लगाया जाना सरकार की प्राथमिकता है.

उन्होंने कहा कि बोकारो जिले में स्वास्थ्य को लेकर अभी काफी काम किया जाना बाकी है. उन्होंने सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि अपने सारे कर्मियों का उपयोग करते हुए जमीनी स्तर के सही आंकड़ों को प्रस्तुत करें. विशेषकर संस्थागत प्रसव, गर्भवती महिलाओं की सूची, गर्भवती महिलाओं को दिए जाने वाले पोषाहार, समय-समय पर चेकअप, बच्चों को दिए जाने वाले विभिन्न वैक्सिन की तथ्य परक रिपोर्ट समय-समय पर लेकर विभाग को प्रस्तुत करें. उन्होंने पीएचसी, सीएचसी को एचडब्लूसी में बदलने का निर्देश दिया. 

इसे भी देखें- एमबीबीएस और पीजी करने के दौरान पढ़ाई बीच में छोड़ी तो लगेगा 20-30 लाख जुर्माना, पीजी के बाद तीन साल प्रैक्टिस भी जरूरी

जिले के विकास के लिए आपसी तालमेल बनाकर कार्य करें पदाधिकारी

संयुक्त सचिव श्री प्रसाद ने सभी पदाधिकारियों को जिले के विकास हेतु आपसी तालमेल स्थापित कर कार्य करने का निर्देश दिया, ताकि विभाग के अतिरिक्त सभी प्रशासनिक पदाधिकारियों को यह ज्ञात रहे कि किस विभाग में क्या-क्या कार्य हो रहे हैं. विशेषकर उन्होंने सिविल सर्जन को स्ट्रेटजी बनाकर कार्य करने का निर्देश दिया. उन्होंने जिला शिक्षा अधीक्षक को निर्देश दिया कि बाकी बचे विद्यालयों में जल्द से जल्द उपायुक्त स्तर से समन्वय स्थापित कर पेयजल की समस्या को दूर करें. उन्होंने जिले में महिला साक्षरता को बढ़ाने के लिए जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि विभिन्न संस्थानों से संपर्क स्थापित कर महिला साक्षरता दर को बढ़ाएं. साथ ही उन्होंने कहा कि सौभाग्य योजना के तहत जून 2018 तक हर गांव में विद्युत पहुंचाना विद्युत विभाग सुनिश्चित कराएं. उन्होंने उप विकास आयुक्त को जल्द ही इसकी समीक्षा करने का निर्देश दिया.

इसे भी देखें- निधि खरे ने कहा- मातृ-शिशु मृत्यु दर को शून्य करेगी सरकार, रेफर होते ही बड़े अस्पतालों को मरीजों के बारे मिलेगी सूचना

नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में बेहतर संचार सेवा बहाल करने का निर्देश

संयुक्त सचिव श्री प्रसाद ने कहा कि नक्सल प्रभावित क्षेत्र के विकास हेतु सड़कों एवं आधुनिक संचार माध्यमों का विकास किया जाना आवश्यक है, विशेषकर गोमिया, नावाडीह  एवं कसमार के एलडब्लूई क्षेत्रों में काम करने की जरूरत है. उन्होंने पदाधिकारियों को जल्द बैठक कर दूर-संचार टावर लगाने का निर्देश दिया, ताकि अच्छी कनेक्टीविटी के साथ विकास का मार्ग प्रशस्त हो सके. संयुक्त सचिव श्री प्रसाद ने कृषि के विकास पर जोर देते हुए सभी फसलों का बीमा कराने का निर्देश संबंधित पदाधिकारियों को दिया. साथ ही अबतक हुए सारे बीमा की रिपोर्ट को जिला कृषि पदाधिकारी, जिला सहकारिता पदाधिकारी एवं एलडीएम को मिलकर आपसी मिलान करते हुए संलग्न रूप से रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश दिया.

बैठक में ये पदाधिकारी शामिल थे

बैठक के दौरान उपायुक्त मृत्युंजय कुमार बर्णवाल, पुलिस अधीक्षक  कार्तिक एस, जिला वन प्रमण्डल पदाधिकारी पीआर नायडू, उप विकास आयुक्त रवि रंजन मिश्रा, अनुमण्डल पदाधिकारी बेरमो प्रेम रंजन, जिला आपूर्ति पदाधिकारी नीरज कुमार सिंह, जिला योजना पदाधिकारी पीवीएन सिंह सहित सभी जिला एवं प्रखण्ड स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.