जिन्ना विवाद में हिंदू महासभा ने सीएम योगी आदित्यनाथ से कहा- मंत्री स्वामी को हटाएं या खुद हट जाएं

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 05/03/2018 - 16:55

Aligarh : अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर विवाद में अब अखिल भारत हिन्दू महासभा भी शामिल हो गई है. हिन्दू महासभा के अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि महाराज ने यूनिवर्सिटी में लगी जिन्ना की उस तस्वीर को हटवाने की मांग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है. साथ ही स्वामी चक्रपाणि ने योगी मंत्रिमंडल में सहयोगी स्वामी प्रसाद मौर्य को भी बर्खास्त करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि अगर सीएम योगी आदित्यनाथ ये दो काम नहीं कर सकते हैं तो खुद इस्तीफा दे दें.

गौरतलब है कि जिन्ना विवाद पर योगी सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने जिन्ना को महापुरुष बताया था और कहा था कि बंटवारे से पहले देश के लिए जिन्ना ने भी अपना योगदान दिया था.

इसे भी पढ़ें- जिन्ना प्रकरण पर एबीवीपी व एएमयू छात्र संघ की भिड़ंत,  लाठी चार्ज, कई छात्र घायल

राजनाथ सिंह से मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य पर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा चलाने की मांंग 

स्वामी चक्रपाणि ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर उन्हें एक ज्ञापन सौंपा है. अपने ज्ञापन में चक्रपाणि ने जिन्ना को महापुरुष कहे जाने पर आपत्ति जताई है और लिखा है कि यूपी सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य पर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा चलाया जाये. चक्रपाणि ने कहा है कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने मोहम्मद अली जिन्ना को महापुरुष बताकर खुद को देशद्रोही साबित कर दिया है. उन्होंने कहा कि इस वाक्ये के बाद उन्हें अपने पद पर बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है. उन्होंने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य का यह बयान देश के उन शहीदों का अपमान है, जिन्होंने आजादी के लिए अपनी जान दे दी.

इसे भी पढ़ें- अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की दलित साधु को महामंडलेश्वर बनाने की घोषणा

चक्रपाणी ने कहा कि जिन्ना देश के ही नहीं बल्कि मानवता के भी गुनहगार हैं

चक्रपाणी ने कहा कि जिन्ना देश के ही नहीं बल्कि मानवता के भी गुनहगार हैं, जिसने अपने फायदे के लिए लाखों हिंदूओं और मुस्लिमों का नरसंहार करवा दिया. चक्रपाणि ने कहा कि जिन्ना न केवल देश का गुनहगार है बल्कि मानवता का भी गुनहगार है जिसने अपने फायदे के लिए लाखों हिन्दुओं और मुस्लिमों का नरसंहार देश विभाजन कर करवाया.

बीजेपी नेताओं ने भी स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान की निंदा की

स्वामी प्रसाद मौर्य के इस बयान की बीजेपी नेताओं ने भी निंदा की है. राज्यसभा के नव निर्वाचित सांसद हरनाथ सिंह यादव ने पार्टी अध्यक्ष से इस मामले में स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी. उन्होंने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य के इस बयान से उत्तर प्रदेश सरकार और बीजेपी की छवि को धुमिल हुई.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.