जम्मू : पाकिस्तानी गोलीबारी में BSF के चार जवान शहीद, तीन घायल

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 06/13/2018 - 11:23

Jammu : जम्मू कश्मीर के सांबा जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तानी रेंजर्स की ओर से की गयी गोलीबारी में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक सहायक कमांडेंट रैंक के अधिकारी समेत चार कर्मी शहीद हो गए और तीन अन्य घायल हो गए. बीएसएफ (जम्मू फ्रंटियर) के आईजी राम अवतार ने कहा कि पाकिस्तानी रेंजर्स ने सोमवार रात रामगढ़ सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर गोलीबारी की. हमने एक सहायक कमांडेंट रैंक के अधिकारी समेत चार सुरक्षाकर्मियों को खो दिया है जबकि हमारे तीन अन्य जवान घायल हो गए हैं. उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी रेंजर्स और बीएसएफ हाल ही में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर संघर्ष विराम के लिए सहमत हुए थे लेकिन पाकिस्तानी बल ने सीमा पार से गोलीबारी कर इसका उल्लंघन किया.

इसे भी पढ़ें- सरकारी शराब सिंडिकेट : पहले शॉप सुपरवाइजर को हटाया, फिर जिला उत्पाद ऑफिस को किया साइडलाइन अब प्राइवेट कंपनी सीधा करती है जेएसबीसीएल को रिपोर्ट (2)

घायल जवानों को अस्पताल में कराया गया भर्ती

जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एस पी वैद ने ट्वीट कर घटना पर दुख जताया. हालांकि उन्होंने अपने ट्वीट में घायलों की संख्या पांच बताई. उन्होंने कहा कि जम्मू के रामगढ़ सेक्टर में सीमा पार से गोलीबारी में एक सहायक कमांडेंट समेत बीएसएफ के चार जवान शहीद हो गए और पांच घायल हो गये. हमारी संवेदनाएं मृतकों के परिजनों के प्रति है. वहीं एक बयान में बीएसएफ ने बताया कि रात करीब नौ बजकर 40 मिनट पर पाकिस्तानी रेंजर्स ने पोस्ट अशरफ से बीओपी चामलियाल पर बिना उकसावे के गोलीबारी शुरू कर दी. बयान में बताया गया है कि बिना उकसावे की इस गोलीबारी का जवाब देते हुए सहायक कमांडेंट जितेन्द्र सिंह , एसआई रजनीश , एएसआई रामनिवास और कांस्टेबल हंसराज शहीद हो गये. तीन अन्य जवान घायल हो गये. बीएसएफ के घायल जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

लगभग छह घंटे चली गोलीबारी

एक पुलिस अधिकारी ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर बताया कि रामगढ़ सेक्टर के चमलियाल पोस्ट इलाके में सीमापार से गोलीबारी मंगलवार रात करीब साढ़े दस बजे शुरू हुई और तड़के साढ़े चार बजे तक जारी रही. अधिकारी ने बताया कि बीएसएफ जवानों ने भी गोलीबारी का जवाब दिया. अंतरराष्ट्रीय सीमा पर इस महीने यह संघर्ष विराम उल्लंघन की दूसरी बड़ी घटना है और 29 मई को दोनों देशों के डीजीएमओ के बीच 2003 के संघर्षविराम समझौते को अक्षरश : लागू करने पर राजी होने के बावजूद यह घटना हुई है.

इसे भी पढ़ें- किसी भी ऑपरेटर ने नहीं भरा टेंडर, अब सड़ने के कगार पर हैं निगम की सिटी बसें

इस साल सीमा पर मृतकों की संख्या 50 पहुंची

गत तीन जून को प्रागवाल , कानाचक और खौर सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तानी रेंजर्स की भारी गोलाबारी हुई थी और गोलीबारी में एक सहायक उप निरीक्षक समेत दो बीएसएफ जवान शहीद हो गए थे और दस लोग घायल हो गए थे. पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम उल्लंघन की इस ताजा घटना के साथ ही इस साल सीमा पर मृतकों की संख्या 50 पर पहुंच गई है जिनमें 24 जवान शामिल हैं. पिछले महीने 15 मई और 23 मई के बीच पाकिस्तान की ओर से भारी गोलीबारी के कारण जम्मू , कठुआ और सांबा जिलों में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर रह रहे हजारों लोगों को अपने घरों को छोड़कर जाना पड़ा था. इस दौरान गोलीबारी में दो बीएसएफ जवान और एक शिशु समेत 12 लोग मारे गए थे और कई अन्य घायल हो गए थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

16 अधिकारियों का तबादला, अनिश गुप्ता बने रांची के एसएसपी, कुलदीप द्विवेदी गए चाईबासा

नोटबंदी के दौरान अमित शाह के बैंक ने देश भर के तमाम जिला सहकारी बैंक के मुकाबले सबसे ज्यादा प्रतिबंधित नोट एकत्र किए: आरटीआई जवाब

एसपी जया राय ने रंजीत मंडल से कहा था – तुम्हें बच्चे की कसम, बदल दो बयान, कह दो महिला सिपाही पिंकी है चोर

बीजेपी पर बरसे यशवंतः कश्मीर मुद्दे से सांप्रदायिकता फैलायेगी भाजपा, वोटों का होगा धुव्रीकरण

अमरनाथ यात्रा पर फिदायीन हमले का खतरा, NSG कमांडो होंगे तैनात

डीबीटी की सोशल ऑडिट रिपोर्ट जारी, नगड़ी में 38 में से 36 ग्राम सभाओं ने डीबीटी को नकारा

इंजीनियर साहब! बताइये शिवलिंग तोड़ रहा कांके डैम साइड की पक्की सड़क या आपके ‘पाप’ से फट रही है धरती

देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद रामो बिरुवा की मौत

मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी वो मेरे रामः जशोदाबेन

दुनिया को 'रोग से निरोग' की राह दिखा रहा योग: मोदी