मोबाइल वॉलेट के इस्तेमाल में भारत UK, US से आगे, चीन भी छूटा पीछे

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 02/24/2018 - 10:43

New Delhi : भारत में डिजिटल पेमेंट के लिए मोबाइल वॉलेट का उपयोग तेजी से बढ़ता जा रहा है. नवंबर 2016 में नोटबंदी के फैसले के बाद मोबाइल वॉलेट के इस्तेमाल में खासी बढ़ोतरी हुयी है. आजकल हम भारतीय सुपरमार्केट, राशन की दुकान, चाय के स्टॉल, पेट्रोलपंप और यहां तक कि ऑटो और टैक्सी के किराए के भुगतान में भी मोबाइल वॉलेट का उपयोग कर रहे है. ग्लोबल डाटा के सर्वेक्षण के अनुसार मोबालइट वॉलेट के उपयोग के मामले में भारत ने अमेरिका, चीन, ब्रिटेन जैसे देशों को पीछे छोड़ दिया है.

इसे भी पढ़ें: 10 डिजिट का ही रहेगा मोबाइल नंबर, जानिए 13 डिजिट होने की खबर का सच

भारत में 55.4 प्रतिशत लोग मोबाइल के जरिये कर रहे है पेमेंट

आंकड़ों के अनुसार पिछले पांच वर्षों में मोबाइल वॉलेट का उपयोग कई गुना बढ़ गया है. 2013 में जहां मोबाइल वॉलेट के माध्यम से 24 अरब रुपये का लेनदेन हुआ, वहीं 2017 में यह बढ़ कर 955 अरब हो गया. 2018 की शुरुआत से इसमें काफी में भी काफी तेजी देखने को मिल रही है. ग्लोबल डाटा की रिपोर्ट के अनुसार भारत में कैश की जगह डिजिटल माध्यम से पैसों के लेनदेन में खासी वृद्धि दर्ज की गयी है. सर्वेक्षण के मुताबिक भारत में 55.4 प्रतिशत लोग किसी न किसी तरीके से मोबाइल के जरिये पेमेंट करते हैं, जो विश्व में सबसे ज्यादा है.

इसे भी पढ़ें: शराब से भी ज्यादा खतरनाक है फेसबुक व वाट्सएप की लत, कहीं आपके अपने भी तो बीमार नहीं

जनता का मिला समर्थन

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 2016 के अंत में नोटबंदी का फैसला लेने के बाद डिजिटल पेमेंट में बढ़ोतरी हुयी. हालांकि भारत में लोग बड़े लेनदेन के लिए डिजिटल बैंकिंग का उपयोग करते हैं, लेकिन दैनिक जीवन में छोटे-मोटे भुगतान के लिए मोबाइल वॉलेट का उपयोग किया जा रहा है, और यह हर दिन बढ़ता जा रहा है. 2013 में जहां सात प्रतिशत लोग मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल करते थे वहीं 2017 में यह आंकड़ा बढ़ कर 29 प्रतिशत हो गया था. 2018 में इसके बढ़ने की उम्मीद की जा रही है. नोटबंदी के फैसले के बाद से ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जोर पैसों के डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ाने पर रहा था. देशभर में उनकी इस मुहिम को जनता का समर्थन भी मिल रहा है.

इसे भी पढ़ें: फेसबुक पर तय की गयी शादियों का असफल होना निश्चित : कोर्ट

डिजिटल भुगतान प्रणाली में भारत  25 देशों में सबसे आगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए हर तरह की कोशिशें की हैं. उनके प्रयासों से हुयी सफलता का लोहा दुनिया भी मानने लगी है. एक सर्वे में पता चला है कि डिजिटल पेमेंट्स के मामले में भारत ने यूनाइटेड किंगडम, चीन और जापान जैसे देशों को भी काफी पीछे छोड़ दिया है. एक दैनिक अखवार में छपी खबर के अनुसार एफआईएस के सर्वे में डिजिटल भुगतान प्रणाली में भारत को 25 देशों में सबसे विकसित माना गया है. एफआईएस अमेरिका स्थित एक बैंकिंग टेक्नोलॉजी प्रोवाइडर है जिसने हर वक्त उपलब्धता, स्वीकार किए जाने लायक और तत्काल भुगतान के मापदंडों के आधार पर यह सर्वे किया है. इस सर्वे से यह भी साफ हो गया है कि यूनाइटेड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) ने भी लोकप्रियता के नये शिखर को छू लिया है. यानी लोग कैश की जगह प्वॉइंट ऑफ सेल मशीन और ई-वॉलेट का इस्तेमाल धड़ल्ले से कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: फेसबुक लाइव में सिंगर पापोन ने नाबालिग को किया 'जबरदस्ती' Kiss, शिकायत दर्ज

कैश का प्रचलन  हो रहा है कम

वहीं RBI के अनुसार 4 अगस्त 2017 तक लोगों के पास 14,75,400 करोड़ रुपये की करेंसी सर्कुलेशन में थे. जो वार्षिक आधार पर 1,89,200 करोड़ रुपये की कमी दिखाती है. जबकि वार्षिक आधार पर पिछले साल 2,37,850 करोड़ रुपये की वृद्धि दर्ज की गयी थी. इस प्रकार, बिना किसी प्रतिबंध के, नोटबंदी के बाद कैश का प्रचलन कम हो रहा है और डिजिटल पेमेंट का प्रचलन बढ़ रहा है.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

बिहार के माथे पर एक और कलंक, चपरासी ने 8,000 रुपये में कबाड़ी को बेची थी 10वीं परीक्षा की कॉपियां

स्वच्छता में रांची को मिले सम्मान पर भाजपा सांसद ने ही उठाये सवाल, कहा – अच्छी नहीं है कचरा डंपिंग की व्यवस्था

तो क्या ऐसे 100 सीटें बढ़ायेगा रिम्स, न हॉस्टल बनकर तैयार, न सुरक्षा का कोई इंतजाम, निधि खरे ने भी लगायी फटकार

पत्थलगड़ी समर्थकों ने किया दुष्कर्म, फादर सहित दो गिरफ्तार, जांच जारीः एडीजी

स्वच्छता सर्वेक्षण की सिटीजन फीडबैक कैटेगरी में रांची को फर्स्ट पोजीशन, केंद्रीय मंत्री ने किया पुरस्कृत

J&K: बीजेपी विधायक की पत्रकारों को धमकी, कहा- खींचे अपनी एक लाइन

दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन मेगा परीक्षा कराने जा रही है रेलवे, डेढ़ लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

“महिला सिपाही पिंकी का यौन शोषण करने वाले आरोपी को एसपी जया रॉय ने बचाया, बर्खास्त करें”

यूपीः भीषण सड़क हादसे में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

16 अधिकारियों का तबादला, अनिश गुप्ता बने रांची के एसएसपी, कुलदीप द्विवेदी गए चाईबासा