समय पर ओडीएफ नहीं होने पर संबंधित क्षेत्र के पदाधिकारियों पर होगी कार्रवाई

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 03/13/2018 - 19:58

SIMDEGA : स्वच्छ भारत मिशन के तहत गांव-गांव तक शौचालय निर्माण का एक बड़ा लक्ष्य रखा गया है, लेकिन इसको लेकर अधिकारी कितना संजीदा रहे हैं, ये एक पड़ा प्रश्न है. इसी बीच  सिमडेगा समाहरणालय सभाकक्ष में उपायुक्त जटाशंकर चौधरी की अध्यक्षता में स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत बन रहे शौचालय निर्माण कार्य की समीक्षा की गयी. बैठक में उपस्थित सभी पंचायत प्रभारी, बीडीओ, प्रखंड समन्वयकों से  उपायुक्त ने कहा कि लक्ष्य के अनुरूप सभी को अपने अपने पंचायतों को ओडीएफ करना है. अधुरे कार्यो को ससमय पूर्ण करें.  जो पंचायत, प्रखंड ससमय ओडीएफ नहीं होगा वहां के बीडीओ, पंचायत प्रभारी तथा संबंधित कर्मी के उपर सख्त कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी देखें- पत्थलगड़ी के नाम पर लोगों को भड़काने वालों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई : झारखंड सरकार

मार्च 2018 सिमडेगा जिला को ओडीएफ करने का लक्ष्य

मार्च 2018 सिमडेगा जिला को ओडीएफ करने का लक्ष्य रखा गया है. कार्यपालक अभियंता पीएचईडी को अविलंब राशि हस्तांतरण करने का निर्देश दिया. उपायुक्त ने कहा कि  जिला ओडीएफ करने के अंतिम पायदान पर खड़े है.  शत प्रतिशत इच्छाशक्ति के साथ कार्य करें. किसी भी तरह की परेशानी होने पर संबंधित पदाधिकारी को अविलंब सुचित करें. 18 मार्च को सभी पंचायत प्रभारी को अपने अपने पंचायत में स्वच्छता संवाद कार्यक्रम आयोजित करने का निर्देश दिया गया.  20 मार्च से रानी मिस्त्री लगाओ शौचालय बनाओं अभियान की शुरूआत ठेठईटांगर प्रखंड से शुरू की जायेगी. बैठक में डीडीसी, कार्यपालक अभियंता पीएचईडी, सभी पंचायत प्रभारी, बीडीओ, यूनिसेफ टीम, प्रखंड समन्वयक के अलावा अन्य कर्मी भी उपस्थित थे. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप  हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.