गोल्डन ग्लोब्स 2018 में यौन उत्पीड़न का विरोध, काले कपड़े पहन रेड कार्पेट पर उतरे सितारे

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 01/08/2018 - 16:45

Los Angeles: यौन शोषण के खिलाफ गोल्डन ग्लोब्स पुरस्कार 2018 में सितारों का गुस्सा स्पष्ट नजर आया और अपना विरोध दर्ज कराते हुए ये हॉलीवुड सितारे काले कपड़ों में नजर आये. गोल्डन ग्लोब्स पुरस्कार 2018 में ‘‘थ्री बिलबोर्ड्स आउटसाइड एब्बिंग मीजूरी’’ और ‘‘बिग लिट्ल लाइस’’ ने अपने नाम कई पुरस्कार किये. भारतीय मूल के अभिनेता अजीज अंसारी ने भी इस बार अपना खाता खोला.

यौन शोषण के खिलाफ अपने अभियान के कारण चर्चा में रहा समारोह

इस बार यह समारोह पुरस्कारों से ज्यादा यौन शोषण के खिलाफ अपने अभियान के कारण चर्चा में रहा. इस समारोह में टेलीविजन एवं सिनेमा में लोगों द्वारा दिये उनके योगदान को सम्मानित किया जाता है. इस 75वें गोल्डन ग्लोब्स पुरस्कार समारोह में यौन शोषण के तमाम मामलों के उजागर होने के बाद एक नए युग की शुरुआत का भी संदेश दिया गया. हाल ही में हार्वे वेनस्टेन और केविन स्पेसी जैसे बड़े हॉलीवुड दिग्गजों पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगे, जिसके बाद से लगातार यह मुद्दा चर्चा में बना हुआ था. ओपरा विनफ्रे, निकोल किडमैन और फ्रांसिस मैकडोरमैंड जैसे कई सितारों ने यहां पुरस्कार ग्रहण करते हुए अपने संबोधन में, समाज में बदलाव की आवश्यकता और लिंग एवं जातीय समानता की बात कही.

इसे भी पढ़ें : यूएस पहुंचा जाधव के परिवार के साथ बदसलूकी का मामला, अमेरिका में गूंजा “पाकिस्तान चप्पल चोर का नारा”

भारतीय मूल के अभिनेता अजीज अंसारी को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार

Golden globes
Golden globes

म्यूजिकल/कॉमेडी श्रेणी में टेलीविजन सीरिज द मास्टर ऑफ ननमें अपनी भूमिका के लिए भारतीय मूल के अभिनेता अजीज अंसारी को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के पुरस्कार से सम्मानित किया गया. पिछले साल इसी श्रेणी में वह पुरस्कार हासिल करने में असफल रहे थे.  ‘‘थ्री बिलबोर्ड्स आउटसाइड एब्बिंग मीजूरी’’ के लिए फ्रांसिस मैकडोरमैंड को मोशन पिक्चर /ड्रामा श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के पुरस्कार, अभिनेता सैम रॉकवेल को सर्वश्रेष्ठ सह-कलाकर और मार्टिन मैडोनाघ को सर्वश्रेष्ठ स्क्रीनप्ले के सम्मान से सम्मानित किया गया. इन पुरस्कारों को हासिल कर फिल्म ने इस साल ऑस्कर पुरस्कारों में अपनी स्थिति काफी मजबूत कर ली है. फ्रांसिस मैकडोरमैंड ने भी यौन उत्पीड़न के आरोपों में घिरे हॉलीवुड में पेश किए गए महिला एकीकरण के उदाहरण की सराहना की.

इसे भी पढ़ें : अटेंशनल ब्लाइंडनेस की वजह से अक्सर होती हैं सड़क दुर्घटनायें - शोध

ओपरा विनफ्रे को सेसिल बी डी मिलेपुरस्कार से सम्मानित किया गया

हॉलीवुड में बेहतरीन योगदान के लिए ओपरा विनफ्रे को 75वें गोल्डन ग्लोब्स पुरस्कार में सेसिल बी डी मिलेपुरस्कार से सम्मानित किया गया. यह सम्मान हासिल करने वाली वह पहली अफ्रीकी अमेरिकी महिला हैं. ओपरा ने पुरस्कार लेते हुए अपने भाषण में हॉलीवुड में जारी यौन उत्पीड़न की बहस को आगे बढ़ाया और कहा कि मामले में मीडिया ने एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.  ‘द डार्केस्ट ऑवरके लिए ड्रामा श्रेणी में गेरी ओल्डमन को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के पुरस्कार से सम्मानित किया गया. आई टोन्याके लिए एलीसन जैनी को सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के पुरस्कार से नवाजा गया. द डिजास्टर आर्टिस्टके लिए जेम्स फ्रेंको को कॉमेडी श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार मिला. कोकोको सर्वश्रेष्ठ एनिमेटिड फिल्म का पुरस्कार दिया गया. इन द फेडको सर्वश्रेष्ठ विदेशी फिल्म का सम्मान मिला. अभिनेत्री निकोल किडमैन को ‘‘बिग लिट्ल लाइस’’ में उनकी बेहतरीन अदाकारी के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के पुरस्कार से नवाजा गया.लेडी बर्डके लिए अभिनेत्री साइओर्स रोनन को म्यूजिकल/कॉमेडी श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार मिला. लेडी बर्डको बेस्ट मोशन पिक्चर्स पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया. निर्देशक गुइलेरमो डेल तोरो को गोल्डन ग्लोब्स के अपने पहले ही नामंकन में जीत हासिल हुई. उन्हें द शेप ऑफ वॉटरके लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के पुरस्कार से नवाजा गया. इस श्रेणी में यह उनका पहला नामंकन था.

इसे भी पढ़ें : प्रेस एसोसिएशन रिपोर्ट का खुलासा, ब्रिटिश संसद में रोजाना 160 बार की गयी अश्लील वेबसाइट खोलने की कोशिश

Golden globes
Golden globes

द हैंडमेड्स टेलको सर्वश्रेष्ठ ड्रामा का पुरस्कार

एलेग्जेंडर स्कार्सगार्ड और लौरा डर्न ने सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता और सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का पुरस्कार अपने नाम किया. शो को सर्वश्रेष्ठ लीमिटेड सीरीज/टीवी मूवी का पुरस्कार भी मिला. दूसरी ओर, एलिजाबेथ मोस ने अपनी जीत का सिलसिला यहां भी जारी रखते हुए द हैंडमेड्स टेलके लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री ड्रामा टीवी श्रेणी में पुरस्कार जीता. पिछले साल अभिनेत्री ने अपनी जबरदस्त अदाकारी के लिए एमी अवार्ड भी अपने नाम किया था. द हैंडमेड्स टेलको सर्वश्रेष्ठ ड्रामा का पुरस्कार भी मिला. स्टर्लिंग के. ब्राउन टीवी सीरिज ड्रामा श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार अपने नाम करने वाले पहले अफ्रीकी अमेरिकी बने. एनबीसी के दिस इज असमें निभाई रैनडन पिर्यसन की भूमिका के लिए उन्हें यह पुरस्कार दिया गया. गोल्डन ग्लोब्स पुरस्कार 2018 के मेजबान सेठ मेयर्स ने बहुत ही सहजता के साथ हॉलीवुड के कुछ शक्तिशाली और अब बदनाम हो चुकी हस्तियों पर कटाक्ष किया. वहीं हॉलीवुड के अधिकतर दिग्गज यहां रेड कार्पेट पर काले कपड़े पहने पहुंचे.

इसे भी पढ़ें : हाफिज सईद के संगठनों को फंडिंग करने पर होगी 10 साल की जेल

मारिजुआना स्वीकार्य है लेकिन यौन उत्पीड़न नहीं

गोल्डन ग्लोब्स पुरस्कार 2018’ के समारोह में काले कपड़े पहने सेठ मेयर्स ने सितारों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘यह 2018 है और आखिरकार मारिजुआना स्वीकार्य है लेकिन यौन उत्पीड़न नहीं.’’ मेयर्स ने कहा, ‘‘गुड ईवनिंग देवियों और शेष बचे सज्जनों....एक नया युग आ रहा है और मैं यह कह सकता हूं क्योंकि हॉलीवुड में श्वेत पुरुष को इतना घबराए कई वर्ष हो चुके हैं.’’ मेयर्स ने अमेरिकी राष्ट्ऱपति डोनाल्ड ट्रंप पर भी निशाना साधा और कहा कि ग्लोब्स के आयोजक हॉलीवुड फोरेन प्रेसतीन शब्दों का प्रतिनिधित्व करती है जो

Golden globes
Golden globes

पीओजीयूएस (ट्रंप की ट्विटर आईडी) को क्रोधित कर सकती है. उन्होंने कहा, ‘‘ हॉलीवुड . फोरेन. प्रेस . उन्हें क्रोधित करने वाला एकमात्र नाम है हिलेरी मेक्सिको सेलैड असोसिएशन.’’ गोल्डन ग्लोब्स पुरस्कार 2018 हॉलीवुड का पहला ऐसा पुरस्कार समारोह है जिसमें फैशन के स्थान पर यौन उत्पीड़न के मुद्दे को तव्वजो दी गई. इस दौरान समारोह में हॉलीवुड दिग्गज टाइम्स अपकी पहल और ‘#मी टू अभियान का समर्थन करने के लिए रेड कार्पेट पर काले कपड़े पहन पहुंचे.टाइम्स अपकी पहल हॉलीवुड की शोंडा रहिम्स, रीस विदरस्पून, एवा लॉन्गरिया, केरी वाशिंगटन जैसी शक्तिशाली महिलाओं ने यौन उत्पीड़न के खिलाफ शुरू की हैं टाराना बुर्क ने ‘#मी टूअभियान की शुरुआत वर्ष 2006 में समाज में यौन उत्पीड़न और यौन हमलों के संबंध में जागरूकता फैलाने के लिए की थी. वह भी समारोह में काले कपड़े पहन कर पहुंची.

इसे भी पढ़ें : पैडमैन और पद्मावत एकसाथ होगी रिलीज, अक्षय को आशा- दोनों फिल्में करेंगी अच्छी कमायी

न्यूयॉर्क टाइम्सने हार्वे वेन्सटेन से जुड़े यौन शोषण के मामले का पर्दाफाश किया था जिसके बाद ही सोशल मीडिया पर #मी टू और #टाइम्सअप पहल की शुरुआत हुई थी. ओपरा ने मीडिया की घेराबंदी की जाने की बात को मानते हुए कहा कि अब ऐसा माहौल है जहां महिलाओं को #मी टू बोलने का अधिकार है और पुरुष सुन रहे हैं.’’

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Main Top Slide
loading...
Loading...