भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए खुशखबरी, विश्व बैंक का अनुमान- 7.3% रहेगा GDP ग्रोथ

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 04/17/2018 - 11:40

आर्थिक वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष 2018-19 में 7.3 प्रतिशत रहने का अनुमान है. वहीं, अगले वित्त वर्ष में यह बढ़कर 7.6 प्रतिशत पर पहुंच जाएगी

NewDelhi:  विश्व बैंक ने अपनी रिपोर्ट में भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर जो अनुमान लगाया है. उसे देखकर लगता है कि देश जीएसटी और नोटबंदी से उबर रहा है. दरअसल विश्व बैंक ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 2018 में वृद्धि दर 2017 की 6.7 फीसदी से बढ़कर भारतीय अर्थव्यवस्था के 2018-19 में 7.3 फीसदी की दर से बढ़ने का अनुमान है.  और इस साल बेहतर रहने के बाद 2019-20 में भारतीय अर्थव्यवस्था 7.6 फीसदी की रफ्तार से बढ़ेगी.

इसे भी पढ़ें:खाद्य पदार्थ सस्ते होने से मार्च में घटी थोक मुद्रास्फीति, 5 महीने के निचले स्तर पर

8 महीने के निचले स्तर पर थोक महंगाई दर

रपसलपकर

भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए एक खुशखबरी ये भी है कि थोक महंगाई दर मार्च में अपने 8 महीने के निचले स्तर पर पहुंच गयी है. सरकार की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक मार्च के दौरान थोक महंगाई दर घटकर 2.47 प्रतिशत रह गई है. जो जुलाई 2017 के बाद सबसे कम मासिक महंगाई दर है. मार्च से पहले फरवरी में थोक महंगाई दर 2.48 प्रतिशत थी और पिछले साल मार्च के दौरान यह 5.11 प्रतिशत थी. हालांकि पेट्रोलियम उत्पादों के दाम बढ़ने की वजह से फ्यूल एंड पावर बास्केट की महंगाई दर फरवरी के 3.81 प्रतिशत से बढ़कर 4.70 प्रतिशत हो गई है.

इसे भी पढ़ेंरेलवे होटल टेंडर घोटाला मामले में बढ़ी लालू परिवार की मुश्किल, लालू, तेजस्वी और राबड़ी देवी के खिलाफ चार्जशीट दायर

खुदरा महंगाई भी घटी

सरकार द्वारा पिछले सप्ताह जारी डेटा में मार्च की खुदरा महंगाई दर गिरकर 4.28 प्रतिशत पर आ गई थी. जो पांच महीने का निचला स्तर है. खाद्य उत्पादों की कीमतों में कमी आना इसका कारण बताया जा रहा है. यह फरवरी में 3.81 प्रतिशत थी. मार्च में सब्जियां 2.70 प्रतिशत, दालें 20.58 प्रतिशत और गेहूं 1.19 प्रतिशत सस्ती हुईं.

हर साल 81 लाख नौकरी की जरुरत

्ि्वपु

हालांकि GDP बढ़ने की अच्छी खबर के साथ ही विश्व बैंक ने भारतीय सरकार को रोजगार के मोर्चे पर भी बेहतर कदम उठाने की हिदायत दी है. उसने कहा है कि हर महीने 13 लाख नए लोग वर्कफोर्स में शामिल होंगे. ऐसे में भारत को रोजगार की बेहतर स्थ‍िति बनाए रखने के लिए हर साल 81 लाख नई नौकरियां पैदा करनी होंगी. विश्व बैंक की तरफ से जारी साउथ एशिया इकोनॉमिक फोकस रिपोर्ट में यह बात कही गई है. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

loading...
Loading...