फिल्म “नाची से बांची” को 65वां राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में बेस्ट बायोग्राफिकल फिल्म अवार्ड

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 04/13/2018 - 18:20

Ranchi : मेघनाथ एवं बीजू टोप्पो की जोड़ी ने फिर से एक बार कमाल कर दिया है. इनके द्वारा निर्मित डॉ रामदयाल मुंडा की जीवनी पर बनाये गए फिल्म के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरूस्कार में बेस्ट बायोग्राफिकल हिस्टोरिकल रिकंस्ट्रक्शन अवार्ड से नवाजा गया है. इस फिल्म के प्रोडूसर फिल्म डिवीजन है. वहीं इसके सहायक डायरेक्टर गुंजल इकिर मुंडा और रूपेश साहू हैं. बता दें कि टीम के हाथों में पुरस्कार तीन मई को आयेगा. इससे पहले इस फिल्म को नेपाल में बेस्ट जूरी अवार्ड तथा मुंबई इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में स्पेशल जूरी मेंशन अवार्ड दिया गया था.

इसे भी पढ़ें - 65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों का एलान : मरणोपरांत श्रीदेवी को बेस्ट एक्ट्रेस और विनोद खन्ना को दादा साहब फाल्के पुरस्कार

डॉ रामदयाल मुंडा के जीवनी पर आधारित है  फिल्म 

फिल्म नाची से बांची डॉ रामदयाल मुंडा के जीवनी पर आधारित फिल्म है. इस फिल्म की शूटिंग अमेरिका तथा भारत में हुई है. फिल्म में डॉ रामदयाल मुंडा की अपने कल्चर से लगाव को दर्शाता है. फिल्म में यह भी है कि किस प्रकार अमेरिका के यूनिवर्सिटी में भी  वे झारखंडी परम्परा और झारखंडी नांच से दूर नहीं हुए, बल्कि अन्य लोगों को भी जोड़ लिया. साथ ही उनके द्वारा झारखंड के लिए किये गये कार्यों को भी बखूभी दिखाया गया है.

इसे भी पढ़ें - इंटरनेट पर छायी VJ बानी और दिशा, प्यूमा इंडिया के प्रमोशन में आयीं नजर

दो अन्य फिल्मों को भी मिल चूका है अवार्ड 

ये बीजू टोप्पो तथा मेघनाथ की तीसरी राष्ट्रीय फिल्म पुरूस्कार है. इससे पहले डायरेक्टर को फिल्म "लोहा गरम है" तथा "एक रोपा धान" के लिए 2010 में राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया है.

munda

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

loading...
Loading...