शौक से लिया जाने वाला ई-सिगरेट किशोरों को बना सकता है धूम्रपान का आदी

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 01/16/2018 - 14:02

Los Angeles : अगर आप शौक के लिए या उत्सुकतावश ई-सिगरेट या हुक्का पीते हैं तो इस बात की आशंका अधिक है कि आप एक साल के भीतर ही सामान्य सिगरेट पीना शुरू कर सकते हैं. अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को में यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया (यूसीएसएफ) के शोधकर्ताओं ने 12 से 17 साल की उम्र की बीच के 10,000 से अधिक किशोरों के नमूनों का विश्लेषण कर यह पाया. इसमें कहा गया है कि जो किशोर ई-सिगरेट या हुक्का पीते हैं तो वे एक साल के भीतर ही सामान्य सिगरेट पीना शुरू कर देते हैं. किशोरों में वैकल्पिक तंबाकू के इस्तेमाल और इसके बाद पारंपरिक सिगरेट पीना शुरू होने के बीच के प्रभाव का आकलन करने के लिए यह अब तक का सबसे बड़ा अध्ययन है.

इसे भी पढ़ें- “रूठे-रूठे उरांव” सरकार की सिरदर्दी “मनाऊं कैसे...”

किसी भी रूप में तंबाकू का इस्तेमाल करना भविष्य में धूम्रपान करने का खतरा होता है

यूसीएसएफ के सहायक प्रोफेसर बेंजामिन डब्ल्यू शाफी ने कहा कि हमने पाया कि जिन किशोरों ने किसी भी रूप में तंबाकू का इस्तेमाल किया, उनके भविष्य में धूम्रपान करने का खतरा होता है. उन्होंने कहा कि हमारे अध्ययन से इस बात की पुष्टि हो गई कि ई-सिगरेट, सिगार, तंबाकू वाटर पाइप्स और धुआं मुक्त तंबाकू समेत हर तरह के तंबाकू उत्पादों का इस्तेमाल भविष्य में सिगरेट पीने के खतरे से जुड़ा है.

इसे भी पढ़ें- हर माह 30 करोड़ का डस्ट (चारकोल), कोयला के साथ मिलाकर कंपनियों को भेज रहा कोल ट्रांसपोर्टर

क्या है ई-सिगरेट

इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट पारम्परिक सिगरेट की तरह ही एक सिगरेट होती है, जो एक छोटी बेटरी से चलती है और यह बैटरी इसके अंदर ही लगी होती है . इसमें से कश लेने से भाप निकलती है जिसमे निकोटीन मिला होता है. इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट वेप कलम, ई-हुक्का, हुक्का पेन या वेप पाइप के रूप में भी जाना जाता है. इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट या ई-सिगरेट में एक टंकी होती है जिसको भरा भी जा सकता है. इसमें धुएं के बजाय भाप निकलती है. बहुत से लोग अब सिगरेट छोड़ ई-सिगरेट का इस्तेमाल करने लगे हैं. इसमें आप निकोटीन की मात्रा खुद निर्धारित कर सकते हैं. दुनिया भर में ई-सिगरेट का चलन तेजी से बढ़ रहा है. खास तौर पर युवा वर्ग तेजी से इसकी तरफ खिंच रहा है. ई सिगरेट में खुशबूदार द्रव का इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें कई बार निकोटीन भी होता है. इससे पैदा होने वाली भाप लगभग पारंपरिक सिगरेट की तरह ही मजा देती है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.